यूपीएससी का फुल फॉर्म : जानें UPSC Full Form हिंदी में

विज्ञापन

UPSC Full Form : UPSC Ka Full Form Union Public Service Commission हैं, यह भारत की एक केंद्रीय एजेंसी है जो काफी सारी परीक्षाओं को आयोजित करवाती है। हर साल UPSC की परीक्षा में काफी सारे उम्मीदवार शामिल होते हैं।

महत्वपूर्ण बिंदु show

UPSC Full Form

UPSC की सिविल परीक्षा में सफल होकर ही उम्मीदवार IAS और IPS जैसे बड़े पदों पर जाते हैं।

ऐसे में इस लेख के माध्यम से हम आपको UPSC Full Form के साथ-साथ यूपीएससी से संबंधित सारी जानकारियां प्रदान करने की कोशिश कर रहे हैं।

विज्ञापन
Upsc full form
UPSC FULL FORM

यूपीएससी द्वारा आयोजित कराई जाने वाली परीक्षाएँ

  • सिविल सेवा परीक्षा (Civil Service Examination)
  • भारतीय वन सेवा परीक्षा (Indian Forest Service Examination)
  • इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा (Engineering Services Examination)
  • संयुक्त रक्षा सेवा परीक्षा (Combined Defence Services Examination)
  • राष्ट्रीय रक्षा अकादमी परीक्षा (National Defense Academy Examination)
  • नौसेना अकादमी परीक्षा (Naval Academy Examination)
  • संयुक्त चिकित्सा सेवा परीक्षा (Combined Medical Services Examination)
  • विशेष कक्षा प्रशिक्षण शिक्षु (Special Class Railway Apprentice)
  • भारतीय आर्थिक सेवा / भारतीय सांख्यिकी सेवा परीक्षा(Indian Economic Service/Indian Statistical Service Examination)
  • संयुक्त भू-विज्ञानी और भूवैज्ञानिक परीक्षा (Combined Geoscientist and Geologist Examination)
  • केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सहायक कमांडेंट) परीक्षा (Central Armed Police Forces(Assistant Commandant) Examination)

सिविल सेवा परीक्षा (CSE)

UPSC की इस परीक्षा के तहत भारतीय सिविल सेवा जैसे IAS, IPS, IFS, IRS, IDES, IIS, आदि के लिए अधिकारियों की भर्ती की जाती है, तथा इसके लिए युवाओं में अलग ही जोश होता है।

योग्यता: CSE के लिए, उम्मीदवार को परीक्षा देने के लिए कम से कम स्नातक (बैचलर) डिग्री होनी चाहिए।

इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा (ESE)

इस परीक्षा के तहत अधिकारियों को भारतीय इंजीनियरिंग सेवा (IES) में भर्ती किया जाता है।

एक IES अधिकारी सड़कों, रेलवे, निर्माण, बिजली आदि के तकनीकी पहलुओं में काम करता है।

योग्यता: इस परीक्षा में भी शामिल होने के लिए अभ्यर्थी को इंजीनियरिंग स्नातक होना चाहिए।

विज्ञापन

संयुक्त रक्षा सेवा परीक्षा (CDS)

यह परीक्षा युवाओं को भारतीय सैन्य अकादमी, भारतीय नौसेना अकादमी, भारतीय वायु सेना अकादमी और अधिकारियों के प्रशिक्षण अकादमी में भर्ती करने के लिए आयोजित की जाती है। यह परीक्षा वर्ष में दो बार आयोजित किया जाती है।

योग्यता: इसके लिए अभ्यर्थी का अविवाहित होना जरूरी है, और उसके पास स्नातक की डिग्री होनी चाहिए।

राष्ट्रीय रक्षा अकादमी परीक्षा (NDA)

यह परीक्षा UPSC द्वारा उन उम्मीदवारों के लिए वर्ष में दो बार आयोजित की जाती है जो राष्ट्रीय रक्षा अकादमी में प्रवेश लेना चाहते हैं।

योग्यता: इसके लिए भी उम्मीदवार को इंटरमीडिएट परीक्षा उत्तीर्ण होना और अविवाहित होना बेहद ही जरूरी है।

विज्ञापन

संयुक्त चिकित्सा सेवा परीक्षा (CMSE)

यह परीक्षा भारत सरकार के अंतर्गत भारतीय आयुध कारखानों और भारतीय रेलवे जैसी विभिन्न सेवाओं में चिकित्सा अधिकारियों की भर्ती के लिए आयोजित की जाती है।

योग्यता: इसके लिए उम्मीदवार एक योग्य चिकित्सक होना चाहिए।

भारतीय आर्थिक सेवा और भारतीय सांख्यिकीय सेवा परीक्षा (IES & ISS)

इस परीक्षा के तहत भारतीय आर्थिक और सांख्यिकीय सेवाओं में ग्रेड IV अधिकारियों की भर्ती किया जाता है।

योग्यता: इसके लिए भी उम्मीदवार को स्नातक होना चाहिए।

विज्ञापन

भारतीय वन सेवा परीक्षा (IFSE)

यह परीक्षा भारतीय वन सेवा अधिकारियों के रूप में भर्ती के लिए है।

योग्यता: इस परीक्षा के लिए भी उम्मीदवार को स्नातक होना चाहिए।

स्पेशल क्लास रेलवे अपरेंटिस परीक्षा (SCRA)

यह परीक्षा मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक पाठ्यक्रम के लिए भारतीय रेलवे मैकेनिकल और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, जमालपुर में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है।

योग्यता: इसके लिए भी उम्मीदवार को संबधित ट्रेड में स्नातक होना चाहिए।

विज्ञापन

केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल परीक्षा (CAPF)

यह परीक्षा केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों में सहायक कमांडेंट की भर्ती के लिए आयोजित की जाती है।

योग्यता: इसके लिए भी उम्मीदवार के पास स्नातक की डिग्री होनी चाहिए।

UPSC के तहत सबसे ज्यादा युवाओं को आकर्षित करने वाली पोस्ट IAS और IPS है, ऐसे में आज हम आपको IAS Full Form और IPS Full Form के साथ-साथ इन दोनों पदों के सारे विवरण आपको देने जा रहे हैं।

UPSC IAS Full Form और इसके बारे में महत्वपूर्ण जानकारी

IAS Full Form और अन्य विवरण – IAS Full Form Indian Civil Services होता है। इसे पहले में इंपीरियल सिविल सर्विस (ICS) के रूप में जाना जाता था। आईएएस भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) एक सिविल सेवा है।

विज्ञापन

यह सबसे प्रतिष्ठित प्रशासनिक सिविल सेवा है और भारत में सबसे कठिन प्रतियोगी परीक्षाओं में से एक है।

IAS परीक्षा का आयोजन UPSC (संघ लोक सेवा आयोग) द्वारा अखिल भारतीय प्रशासनिक सिविल सेवा के लिए अधिकारियों की भर्ती के लिए किया जाता है।

योग्य अधिकारियों को केंद्र सरकार और सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों में महत्वपूर्ण और पद दिए जाते हैं।

UPSC IPS Full Form और इसके बारे में महत्वपूर्ण जानकारी

IPS Full Form और अन्य विवरण – IPS Ka Full Form Indian Police Service (इंडियन पुलिस सर्विस) है। यह सर्विस बिना किसी संदेह के भारत में सबसे प्रतिष्ठित और सम्मानित सिविल सर्विसेज में से एक है।

यह भारत सरकार की 3 अखिल भारतीय सेवाओं में से एक है। अन्य दो सेवाओं में IAS और IFS शामिल हैं। आईपीएस गृह मंत्रालय के तहत कार्य करता है।

एक सच्चा IPS अधिकारी जनता की सुरक्षा और अपराध का पता लगाने और उसे रोकने के द्वारा अपनी जिम्मेदारियों का वहन करता है, साथ ही एक IPS अधिकारी कानून व्यवस्था को अधिक महत्व देता है।

यूपीएससी की स्थापना

UPSC की स्थापना 1 अक्टूबर, 1926 को हुई थी। यह धौलपुर हाउस, शाहजहाँ रोड, नई दिल्ली में स्थित है। UPSC विभिन्न परीक्षाओं को आयोजित करने के अलावा भर्ती के नियमों, पदोन्नति, नियुक्तियों और एक सेवा से दूसरी सेवा में स्थानांतरित करने के लिए भी जिम्मेदार है।

UPSC का इतिहास

UPSC Full Form जानने के साथ ही आपको इसके इतिहास के बारे में भी जानना चाहिए। दरअसल भारत में योग्यता आधारित आधुनिक सिविल सेवा परीक्षा (UPSC) की अवधारणा 1854 में ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा पेश की गई थी।

शुरुआत में भारतीय सिविल सेवा की परीक्षाएं केवल लंदन में आयोजित की जाती थीं, और पाठ्यक्रम को इस तरह से डिजाइन किया गया था कि केवल ब्रिटिश उम्मीदवार ही इसमें सफल हो सके।

इसके बावजूद भी साल 1864 में, पहले भारतीय, श्री रवींद्रनाथ टैगोर के भाई श्री सत्येंद्रनाथ टैगोर UPSC की परीक्षा में सफल हुए, और यह UPSC की परीक्षा में सफल होने वाले पहले भारतीय भी बने।

इसके बाद प्रथम विश्व युद्ध और मोंटेग्यू चेम्सफोर्ड सुधारों के बाद ही सिविल सेवा परीक्षा (UPSC) भारत में ही आयोजित की जाने लगी। 1 अक्टूबर, 1926 को पहली बार भारत में लोक सेवा आयोग की स्थापना की गई थी।

उस समय सर रॉस बार्कर, होम सिविल सर्विस, यूनाइटेड किंगडम के सदस्य आयोग के पहले अध्यक्ष थे। 26 जनवरी, 1950 को भारत के संविधान की शुरुआत के साथ, संघीय लोक सेवा आयोग को संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) के रूप में मान्यता दी गई।

UPSC की परीक्षा से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां

(UPSC Full Form) – यूपीएससी फुल फॉर्म जानने के बाद अगर आपको UPSC की परीक्षा के लिए तैयारी करनी है तो यह करने से पहले उम्मीदवारों को निम्नलिखित बातों का जरूर ज्ञान होना चाहिए।

आयु – UPSC की परीक्षा में शामिल होने के लिए उम्मीदवार की न्यूनतम आयु 22 वर्ष होनी चाहिए। जबकि सामान्य वर्ग के लिए अधिकतम आयु 32 वर्ष, ओबीसी के लिए 35 वर्ष है। एससी / एसटी के लिए 37 वर्ष निर्धारित है।

राष्ट्रीयता – भारत के नागरिक, नेपाल, भूटान, तिब्बती शरणार्थी जो 1962 से पहले भारत में बस गए हैं, वे इस परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।

शिक्षा – उम्मीदवार के पास मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय, पत्राचार शिक्षा, मुक्त विश्वविद्यालय या भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त किसी भी समकक्ष यूनिवर्सिटी से डिग्री होनी चाहिए।

प्रयासों की सीमा – यदि आप सामान्य श्रेणी (GEN) से हैं तो आपको 6 बार परीक्षा में बैठने का मौका मिलेगा। यदि ओबीसी के तहत, आपको 9 प्रयास और SC/ ST के उम्मीदवार 37 वर्ष की आयु तक असीमित प्रयास कर सकते हैं।

महत्वपूर्ण लिंक्स

UPSC आधिकारिक वेबसाइटक्लिक करें
UPSC एग्जाम कैलेंडर 2020क्लिक करें

UPSC Full Form से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न

UPSC का फूल फॉर्म क्या है?

UPSC का फुल फॉर्म Union Public Service Commission है।

UPSC CSE का फुल फॉर्म क्या है?

UPSC CSE का फुल फॉर्म Civil Services Examination होता है।

UPSC के वर्तमान चेयरमैन कौन हैं?

UPSC के वर्तमान चेयरमैन प्रदीप कुमार जोशी है।

UPSC का मुख्यालय कहाँ है?

UPSC का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है।