UPTET Exam CDP 2022 : बहुआयामी बौद्धिकता पर आधारित 15 महत्वपूर्ण प्रश्न

UPTET Exam 2021/22 : multidimensional intelligence 15 Questions : उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UPTET) 23 जनवरी को राज्य के विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर आयोजित की जाएगी, इसके लिए एडमिट कार्ड भी 12 जनवरी को जारी कर दिए जाएंगे।

ऐसे में इस लेख में आज हम बहुआयामी बौद्धिकता पर आधारित कुछ संभावित प्रश्न आपके सामने ला रहे हैं जो UPTET परीक्षा में पूछे जा सकते हैं। ऐसे में यदि आप UPTET परीक्षा में शामिल होने वाले हैं तो नीचे दिए गए इन प्रश्नों को जरूर पढ़ लें।

UPTET Exam 2021/22 : multidimensional intelligence 15 Questions
UPTET Exam 2021/22 : multidimensional intelligence 15 Questions

UPTET Exam 2021/22 : multidimensional intelligence 15 Questions

प्रश्न : निम्नलिखित में से कौन-सा निरीक्षण हॉवर्ड
गार्डनर के बहुविध-बुद्धि सिद्धान्त का समर्थन करता है ?

  • मस्तिष्क के एक भाग में हुई क्षति केवल किसी एक विशिष्ट योग्यता को प्रभावित करती है न कि सम्पूर्ण को
  • बुद्धि विश्लेषणात्मक सृजनात्मक एवं व्यवहारात्मक बुद्धियों की अंतःक्रिया है
  • विभिन्न बुद्धियाँ अपने स्वरूप में पदानुक्रमात्मक हैं
  • अनुदेशन के प्रारूप का निर्माण करते समय अध्यापकों को किसी एक विशिष्ट शैक्षिक नवाचार के सिद्धान्त का अनुपालन करना चाहिए

उत्तर : 1

प्रश्न : ‘बहु-बुद्धि सिद्धान्त’ को वैध नहीं माना जा सकता, क्योंकि

  • विशिष्ट परीक्षणों के अभाव में भिन्न बुद्धियों का मापन सम्भव नहीं है
  • यह सभी सात बुद्धियों को समान महत्व नहीं देता है
  • यह केवल अब्राहम मैस्लों के जीवन-भर के सुदृढ अनुभवात्मक अध्ययन पर आधारित है
  • यह सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण सामान्य बुद्धि ‘g’ के अनुकूल (सुसंगत) नहीं है

उत्तर : 1

प्रश्न : …… के अतिरिक्त बुद्धि के निम्नलिखित पक्षों को स्टेनबर्ग के त्रितंत्र सिद्धान्त से संबोधित किया गया है।

  • अवयवभूत
  • आनुभाविक
  • संदर्भगत
  • सामाजिक

उत्तर : 4

प्रश्न : हावर्ड गार्डनर का बुद्धि का सिद्धान्त ……. पर बल देता है

  • शिक्षार्थियों में अनुबंधित कौशलों
  • सामान्य बुद्धि
  • विद्यालय में आवश्यक समान योग्यताओं
  • प्रत्येक व्यक्ति की विलक्षण योग्यताओं

उत्तर : 4

प्रश्न : निम्नलिखित में से कौन-सा आलोचनात्मक दृष्टिकोण ‘बहु-बुद्धि सिद्धान्त’ से सम्बद्ध नहीं है?

  • यह शोधाधारित नहीं है।
  • विभिन्न बुद्धियाँ भिन्न-भिन्न विद्यार्थियों के लिए विभिन्न पद्धतियों की मांग करती है।
  • प्रतिभाशाली विद्यार्थी प्रायः एक क्षेत्र में ही अपनी विशिष्टता प्रदर्शित करते हैं।
  • इसका कोई अनुभवात्मक आधार नहीं है।

उत्तर : 3

प्रश्न : संवेगात्मक बुद्धि, बहुबुद्धि सिद्धान्त के किस क्षेत्र के साथ सम्बन्धित हो सकती है?

  • अंतरा-वैयक्तिक और अंतः वैयक्तिक बुद्धि
  • प्राकृतिक बुद्धि
  • चाक्षुष-स्थानिक बुद्धि
  • अस्तित्वपरक बुद्धि

उत्तर : 1

प्रश्न : सिद्धान्त चित्र के द्वारा नवीन अवधारणाओं की समझ बढ़ाते हो।

  • विशिष्ट विवरण पर एकाग्रता केन्द्रित करने
  • अध्ययन के लिए शैक्षणिक विषय-वस्तु की प्राथमिकता तय करने
  • तर्कपूर्ण ढंग से सूचनाओं को व्यवस्थित करने की योग्यता को बढ़ाने
  • विषय-क्षेत्रों के बीच ज्ञान के स्थानांतरण

उत्तर : 3

प्रश्न : गार्डनर के बहु-बुद्धि के सिद्धान्त के अनुसार, वह कारक जो व्यक्ति के ‘आत्म-बोध’ हेतु सर्वाधिक योगदान देगा, वह हो सकता है

  • संगीतमय
  • आध्यात्मिक
  • भाषा-विषयक
  • अन्तः वैयक्तिक

उत्तर : 4

प्रश्न : ‘बहुबुद्धि के सिद्धान्त’ के संदर्भ में एयरफोर्स पायलट बनने के लिए निम्नलिखित में से कौन-सी बुद्धि की आवश्यकता है?

  • अंतःवैयक्तिक
  • गतिक
  • भाषिक
  • अंतरा-वैयक्तिक

उत्तर : 2

प्रश्न : बुद्धि की स्पीयरमैन परिभाषा में कारक ‘g’ है

  • आनुवंशिक बुद्धि
  • उत्पादक बुद्धि
  • सामान्य बुद्धि
  • वैश्विक बुद्धि

उत्तर 3

प्रश्न : इनमें से कौन-सा त्रितंत्रीय सिद्धान्त व्यावहारिक बुद्धि का अभिप्राय नहीं है?

  • पर्यावरण का पुनर्निर्माण करना
  • केवल अपने विषय में व्यावहारिक रूप से विचार करना
  • इस प्रकार के पर्यावरण का चयन करना जिसमें आप सफल हो सकते हैं।
  • पर्यावरण के साथ अनुकूलन करना

उत्तर : 2

प्रश्न : बुद्धि का तरल मोजेक मॉडल किसने दिया था?

  • कैटेल
  • थर्स्टन
  • गिल्फर्ड
  • स्पीयरमैन

उत्तर : 1

प्रश्न : संज्ञान किस बुद्धि के सिद्धान्त का हिस्सा है ?

  • प्रतिदर्श सिद्धान्त
  • समूहकारक सिद्धान्त
  • गिलफोर्ड का सिद्धान्त
  • फ्लूइड तथा क्रिस्टलाइज्ड का सिद्धान्त

उत्तर : 3

प्रश्न : स्पीयरमैन (1904) के अनुसार तर्क करने की क्षमता और समस्या समाधान करने की क्षमता कहलाती है

  • एस कारक
  • विशिष्ट बुद्धि
  • जी कारक
  • सांस्कृतिक बुद्धि

उत्तर : 3

प्रश्न : संप्रत्यय निर्माण का प्रथम सोपान है

  • सामान्यीकरण
  • प्रत्यक्षीकरण
  • विभेदीकरण
  • पृथक्करण

उत्तर : ?

इस प्रश्न का सही उत्तर क्या होगा? हमें अपना जवाब कमेंट सेक्शन में जरूर दें।

आशा है आपको यह प्रैक्टिस सेट पसंद आया होगा, सरकारी परीक्षाओं से जुड़ी हर जानकरियों हेतु सरकारी अलर्ट को बुकमार्क जरूर करें।

Leave a Comment