UPTET/CTET हिंदी भाषा प्रैक्टिस सेट 44 : परीक्षा में पूछे गए विगत वर्षों के इन 30 महत्वपूर्ण प्रश्नों पर डालें एक नज़र

UPTET/CTET Hindi Language Practice Set 44 : CTET की परीक्षा प्रारंभ हो चुकी है जो कि 13 जनवरी तक चलने वाली है। जिसके लिए अभ्यार्थी कई महीनों से अपनी तैयारियों में लगे हुए हैं और इसकी परीक्षा ऑनलाईन माध्यम द्वारा कराई जा रही है। UPTET की परीक्षा 23 जनवरी 2022 को आयोजित कराई जाएगी। फ़िलहाल तैयारी का अंतिम समय चल रहा है। सभी अभ्यर्थी अपनी तैयारी बहुत ही तेजी से कर रहे हैं।

ऐसे में इस लेख के जरिये हम आपको UPTET/CTET के परीक्षा में पूछे गए विगत वर्षों के हिंदी भाषा के 30 महत्वपूर्ण प्रश्नों से अवगत कराएंगे, जिसका अध्ययन कर के आप अपनी तैयारी को और भी मजबूती प्रदान कर सकतें हैं।

UPTET/CTET Hindi Language Practice Set 44
UPTET/CTET Hindi Language Practice Set 44

UPTET/CTET Hindi Language Practice Set 44

प्रश्न : राधिका सातवीं कक्षा में पढ़ाती है। वह बच्चों को नाम संबंधी कुछ उदाहरण देती है फिर ‘संज्ञा’ के बारे में समझाती है। राधिका द्वारा प्रयुक्त विधि है

  • आगमन विधि
  • भाषा-संसर्ग विधि
  • सूत्र विधि
  • निगमन विधि

उत्तर : 1

प्रश्न : आठवीं कक्षा में पढ़ाने वाले अली अकसर बच्चों के गलत शब्दों के नीचे शब्द का ठीक रूप लिखकर दोनों में अंतर करने के लिए कहते हैं। इसका मुख्य उद्देश्य है

  • शब्दों को सही वर्तनी की जानकारी देना।
  • अवलोकन द्वारा सही वर्तनी की ओर ध्यान आकृष्ट करना।
  • आकलन को और सुविधापूर्ण बताना।
  • बच्चों को उनकी गलती का अनुभव कराना।

उत्तर : 2

प्रश्न : उच्च प्राथमिक स्तर पर बच्चों की लिखित अभिव्यक्ति का विकास करने में सबसे कम सहायक है

  • अपने बचपन की कोई घटना लिखों जब शरारत करने पर डांट पड़ी हो।
  • अगर तुम्हारे घर के किसी कोने में चिड़िया अपना घोंसला बना ले तो तुम क्या करोगे?
  • ‘नादान दोस्त’ कहानी का अंत परिवर्तित करते हुए कहानी को अपने शब्दों में लिखो।
  • कविता की अधूरी पंक्तियों को देखकर पूरा करें।

उत्तर : 4

प्रश्न : उच्च प्राथमिक स्तर पर बच्चों के भाषा-आकलन में सर्वाधिक प्रभावी प्रश्न है

  • बादलों के घिर आने पर कवि किसान को उठने के लिए क्यों कहता है?
  • जब हरा खेत लहराएगा तो क्या होगा?
  • तुम भी अपने ढंग से ‘तनिक’ शब्द का इस्तेमाल करते हुए पाँच वाक्य बनाओ।
  • रूप बदलकर बादल किसान के कौन-से सपनों को साकार करेगा ?

उत्तर : 3

प्रश्न : ‘अपनी मातृभाषा में ‘किसान’ पर लिखी गई कविता को अपने मित्रों व शिक्षक को सुनाओ।’ हिन्दी भाषा की पाठ्य पुस्तक में यह प्रश्न

  • कक्षा में बच्चों को गीत गाने का अवसर देता है।
  • कक्षा के बहुभाषिक संदर्भ को पोषित करता है।
  • कक्षा में समय के सदुपयोग का उत्कृष्ट उदाहरण है।
  • कक्षा में मनोरंजन का साधन है।

उत्तर : 2

प्रश्न : उच्च प्राथमिक स्तर पर बच्चों के भाषा प्रयोग का आकलन करने में सबसे कम प्रभावी है

  • अवलोकन
  • बातचीत
  • जाँच सूची
  • पोर्टफोलियो

उत्तर : 3

प्रश्न : बच्चों में पढ़ने-लिखने की कुशलता के विकास में सर्वाधिक सहायक है

  • श्रुतलेख का कार्य
  • कहानी पढ़कर सवाल बनाना।
  • ‘प्रदूषण’ पर निबंध लिखना।
  • सुलेख का कार्य

उत्तर : 2

प्रश्न : कक्षा का बहुभाषिक संदर्भ यह माँग करता है कि

  • बच्चों की मातृभाषा को ही पढ़ाया जाए।
  • बच्चों को चार-चार भाषाएँ पढ़ाई जाएँ
  • बच्चों का भाषा आकलन बिल्कुल न हो।
  • बच्चों की मातृभाषा को कक्षा में स्थान दिया जाए।

उत्तर : 4

प्रश्न : उच्च प्राथमिक स्तर पर हिंदी भाषा शिक्षण का एक महत्त्वपूर्ण उद्देश्य है

  • हिंदी के व्याकरणिक बिंदुओं को कंठस्थ करना।
  • हिंदी भाषा में विविध स्वरूपों की जानकारी देना।
  • हिंदी भाषा में अनूदित सामग्री को पढ़ना।
  • बोलने की क्षमता के अनुरूप लिखने की क्षमता का विकास।

उत्तर : 2

प्रश्न : उच्च प्राथमिक स्तर पर हिंदी भाषा – शिक्षण का उद्देश्य नहीं है

  • निजी अनुभवों के आधार पर भाषा का सृजनशील इस्तेमाल करना ।
  • भाषा की बारीकी और सौंदर्यबोध के लिए हिंदी भाषा का व्याकरण कंठस्थ करना ।
  • विभिन्न साहित्यिक विधाओं और ज्ञान से संबंधित अन्य विषयों की समझ का विकास करना ।
  • सरसरी तौर पर किसी पाठ को देखकर उसकी विषय वस्तु का पता करना।

उत्तर : 2

प्रश्न : उच्च प्राथमिक स्तर पर हिंदी भाषा सीखने में सबसे कम सहायक है

  • पाठ्य-पुस्तकों का प्रयोग
  • संचार माध्यमों का प्रयोग
  • अन्य विषयों की कक्षाओं में भाषा पर ध्यान देना
  • समृद्ध भाषा-परिवेश की उपलब्धता

उत्तर : 1

प्रश्न : उच्च प्राथमिक स्तर पर बच्चों के लिए साहित्य का चयन करते समय आप किस बात का सर्वाधिक ध्यान
रखेंगे?

  • रचनाओं की लंबाई
  • बच्चों का स्तर और रुचि
  • सरल भाषा
  • रचनाकार की प्रसिद्धि

उत्तर : 2

प्रश्न : उच्च प्राथमिक स्तर पर मुहावरे और लोकोक्तियों के शिक्षण के संदर्भ में सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण है

  • उनके अर्थ जानना।
  • उनका क्रम याद रखना।
  • संदर्भानुसार उनका प्रयोग करना।
  • उनकी परिभाषा याद करना।

उत्तर : 3

प्रश्न : ‘कक्षा के बहुभाषिक और बहुसांस्कृतिक संदर्भों के प्रति संवेदनशीलता का विकास करना –

  • हिंदी भाषा-शिक्षण के प्रति अरुचि का कारण है।
  • हिंदी भाषा शिक्षण में एक जटिल समस्या है।
  • हिंदी भाषा शिक्षण का एक मुख्य उद्देश्य है।
  • भाषा-नीति की जटिल समस्या है।

उत्तर : 3

प्रश्न : उच्च प्राथमिक स्तर पर पाठ्य-पुस्तक में दिए विभिन्न साहित्यिक विधाओं के पाठ बच्चों को

  • हिंदी भाषा के प्रसिद्ध रचनाओं से परिचित कराते हैं।
  • हिंदी भाषा में साहित्य-सृजन के लिए प्रेरित करते हैं।
  • दर्शाए सभी विकल्प
  • हिंदी भाषा की विभिन्न रंगतों से परिचित कराते हैं।

उत्तर : 3

निर्देश : निम्नलिखित गद्यांश को पढ़कर पूछे गए निम्नलिखित नौ प्रश्नों के सबसे उपयुक्त उत्तर वाले विकल्प चुनिए

      हम श्वास द्वारा ऑक्सीजन ग्रहण करते और कार्बन डाई ऑक्साइड छोड़ते हैं। ऐसा ही अधिकतर जानवरों, चिड़ियों, रेंगनेवाल अतुओं, कीड़े-मकोड़ों के द्वारा भी किया जाता है। दूसरी ओर सभी प्रकार की वनस्पतियाँ कार्बन डाई ऑक्साइड ग्रहण करती और ऑक्सीजन छोड़ती हैं। यदि हवा में लंबे समय तक ऑक्सीजन और कार्बन डाई ऑक्साइड का अनुपात एक जैसा रहे तब उसका अर्थ होगा कि पौधों और प्राणियों का जीवन एक दूसरे के अस्तित्व क मामले में समान स्तर पर आ जायेगा। लेकिन यदि हम कार्बन डाई ऑक्साइड का अनुपात वातावरण में बढ़ा दें तब प्रकृति के द्वारा लाखों सालों बनाकर रखा गया संतुलन बदल जायेगा । 
      वातावरण और वनस्पतियाँ कार्बन डाई ऑक्साइड का लगातार विनिमय करती रहती हैं। वातावरण से वह वनस्पतियों में जाती है। जब वनस्पतियाँ सड़ने लगती हैं तब उनमें से कार्बन डाई ऑक्साइड निकलकर पुनः वातावरण में समा जाती है। वनस्पतियाँ इस प्रकार कार्बन डाई ऑक्साइड बसंत और ग्रीष्म ऋतु में ग्रहण करती हैं और जब वे सर्दियों में नष्ट होने लगती हैं तब उसे छोड़ती हैं। इस प्रकार वातावरण में मौजूद कार्बन डाई ऑक्साइड की मात्रा में मौसम दर मौसम फर्क होता है।

प्रश्न : ऑक्सीजन ग्रहण करने में अधिकांश जीवधारियों का स्वभाव

  • विचित्र प्रकार का है।
  • मानव के विपरीत है।
  • मानव से भिन्न है।
  • मानव की तरह है।

उत्तर : 4

प्रश्न : वनस्पतियाँ जब सड़ने लगती हैं तो वातावरण को ……… मिलती है

  • जैविक खाद
  • नाइट्रोजन
  • ऑक्सीजन
  • कार्बन डाई-ऑक्साइड

उत्तर : 4

प्रश्न : ‘विनिमय’ का अर्थ है

  • आना-जाना
  • देना-खरीदना
  • लेना-पहुँचाना
  • लेना-देना

उत्तर : 4

प्रश्न : हम सॉस के साथ

  • कार्बन डाई ऑक्साइड लेते और ऑक्सीजन छोड़ते हैं।
  • ऑक्सीजन छोड़ते ग्रहण करते हैं।
  • ऑक्सीजन लेते और कार्बन डाई ऑक्साइड छोड़ते हैं।
  • कार्बन डाई ऑक्साइड लेते और छोड़ते हैं।

उत्तर : 3

प्रश्न : पौधों और प्राणियों का जीवन एक-दूसरे के अस्तित्व के समान आ जाएगा, जब हवा में लम्बे समय तक …….

  • वनस्पतियाँ कार्बन डाई-ऑक्साइड का विनिमय करती रहें।
  • सूर्य का प्रकाश मिलता रहे।
  • कार्बन डाई-ऑक्साइड मिलना बंद हो जाए।
  • कार्बन डाई-ऑक्साइड और ऑक्सीजन का अनुपात समान रहे।

उत्तर : 4

प्रश्न : ‘वातावरण’ का विग्रह और समास होगा

  • वातावरण रूपी वात- कर्मधारय
  • वात और आवरण – द्वन्द्व
  • वात का आवरण – तत्पुरुष
  • वात का बना ऐसा आवरण – बहुव्रीहि

उत्तर : 3

प्रश्न : गद्यांश का मुख्य विषय है

  • वसंत और ग्रीष्म ऋतु में वनस्पतियाँ
  • ऑक्सीजन और कार्बन डाई ऑक्साइड का संतुलन
  • श्वास द्वारा ऑक्सीजन ग्रहण
  • पौधों और प्राणियों का जीवन

उत्तर : 2

प्रश्न : ‘श्वास’ और ‘ऑक्सीजन’ शब्द हैं

  • तत्सम, आगत
  • तद्भव, देशज
  • तत्सम, तद्भव
  • देशज, आगत

उत्तर : 1

प्रश्न : ‘लंबे समय तक’ पद व्याकरण की दृष्टि से है

  • क्रिया-विशेषण
  • संज्ञा
  • विशेषण
  • सर्वनाम

उत्तर : 1

निर्देश : निम्नलिखित काव्यांश को पढ़कर पूछे गए निम्नलिखित छः प्रश्नों के सबसे उपयुक्त उत्तर वाले विकल्प को चुनिए

    वह आता
    दो टूक कलेजे के करता पछताता पथ पर आता
    पेट-पीठ दोनों मिलकर हैं एक,
    चल रहा लकुटिया टेक,
    मुट्ठी - भर दाने को- भूख मिटाने को 
    मुँह फटी पुरानी झोली को फैलाता
    टूक कलेजे के करता पछताता पथ पर आता।

प्रश्न : ‘पेट-पीठ दोनों मिलकर हैं एक’ इसका कारण हो
सकता है

  • भीख माँगने का नाटक करना
  • सिकुड़कर बैठना
  • झुककर चलना
  • कुछ भी भोजन न करना

उत्तर : 4

प्रश्न : ‘कलेजे के दो टूक करना’ का आशय है

  • कठिनाई पैदा करना।
  • टुकड़े-टुकड़े करना।
  • मन को कष्ट पहुंचाना
  • दिल की चीर-फाड़ करना।

उत्तर : 3

प्रश्न : काव्यांश से हमारे मन में उठने वाला मुख्य भाव है

  • वीरता
  • शृंगार
  • हास्य
  • करुणा

उत्तर : 4

प्रश्न : ‘वह आता’ में ‘वह’ सर्वनाम किसका द्योतक हो सकता है?

  • विकलांग
  • गांधीजी
  • भिक्षुक
  • अतिथि

उत्तर : 3

प्रश्न : ‘मुँह’ शब्द में प्रयुक्त चंद्रबिंदु है

  • अनुनासिक
  • नासिक्य
  • शिरोरेखा
  • अनुस्वार

उत्तर : 1

प्रश्न : भिखारी अपनी झोली क्यों फैलाता है?

  • अपनी गरीबी के बारे में बताना चाहता है।
  • भूख मिटाने के लिए कुछ अन्न चाहता है।
  • झोली में कुछ छिपाना चाहता है।
  • मुट्ठी भर अनाज दिखाना चाहता है।

उत्तर : ??

कमेन्ट करें