UPTET/CTET हिंदी भाषा प्रैक्टिस सेट 39 : परीक्षा में जानें से पहले विगत वर्षों के इन 30 महत्वपूर्ण प्रश्नों पर डालें एक नज़र

UPTET/CTET Hindi Language Practice Set 39 : CTET की परीक्षा शुरू हो गई है जो कि 13 जनवरी 2022 तक चलेगी। UPTET की परीक्षा रद्द होने के बाद अब नई परीक्षा तिथि को लेकर बोर्ड की तरफ से अधिकारीक नोटिस जारी कर दिया गया है। UPTET की परीक्षा अब 23 जनवरी 2022 को आयोजित होगी। इसलिए जो भी प्रतियोगी छात्र इस परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं वह अपनी तैयारी को और भी तेज कर दें।

ऐसे में इस लेख के जरिए हिन्दी भाषा के विगत वर्षों में कराए गए परीक्षाओं में से 30 महत्वपूर्ण प्रश्नों के संग्रह को लेकर आए है। इसलिए आप इन प्रश्नों का अभ्यास अच्छी तरह से कर लें और अपनी तैयारी को और भी मजबूती प्रदान करें।

UPTET/CTET Hindi Language Practice Set 39
UPTET/CTET Hindi Language Practice Set 39

UPTET/CTET Hindi Language Practice Set 39

प्रश्न : कहानी के संदर्भ में कौन-सा कथन उपयुक्त लगता है?

  • कहानी में संवाद होना आवश्यक है।
  • कहानी में शुरुआत होना आवश्यक है।
  • कहानी में शुद्ध भाषा होना आवश्यक है।
  • कहानी में कथानक का होना आवश्यक है।

उत्तर : 4

प्रश्न : एक भाषा के अध्यापक को बच्चों में

  • भाषा सिद्धान्तों की समझ विकसित करने पर बल देना चाहिए
  • आलंकारिक भाषा प्रयोग की समझ विकसित करने पर बल देना चाहिए
  • विविध संदर्भों में भाषा प्रयोगों की क्षमता विकसित करने पर बल देना चाहिए
  • शुद्ध भाषा प्रयोग की क्षमता विकसित करने पर बत देना चाहिए।

उत्तर : 3

प्रश्न : “कोई भाषा किसी भी लिपि में लिखी जा सकती
है”- इस कथन पर आपकी राय है कि

  • यह बिल्कुल संभव नहीं
  • यह बहुत हद तक संभव है
  • हर भाषा की अपनी लिपि होती है।
  • भाषा और लिपि के बीच एक सीधा संबंध है

उत्तर : 2

प्रश्न : पढ़ना सीखने के लिए आवश्यक है कि

  • केवल लक्ष्य भाषा सुनने का माहौल हो
  • घर की भाषा सुनने-बोलने को मिले
  • लक्ष्य भाषा की अर्थपूर्ण और रोचक सामग्री सुनने-पढ़न को मिले
  • चार्ट अधिक से अधिक कक्षा में लगाए जाएँ

उत्तर : 3

प्रश्न : भाषा केवल अभिव्यक्ति का माध्यम ही नहीं बल्कि स्वयं से ….. का माध्यम है।

  • लिखने
  • बातचीत
  • पढ़ने
  • सुनने

उत्तर : 3

प्रश्न : “लड़के होकर रोते हो” यह कथन

  • भाषा को बच्चों की दृष्टि से पढ़ने को बाध्य करता है
  • भाषा को अध्यापकों की दृष्टि से पढ़ने को बाध्य करता है
  • भाषा को जेंडर की दृष्टि से पढ़ने को बाध्य करता है
  • भाषा को व्याकरण की दृष्टि से पढ़ने को बाध्य करता है।

उत्तर : 3

प्रश्न : आपकी दृष्टि में अभ्यास

  • पाठ को समझने में मदद करते हैं
  • बच्चों को तार्किक बनाते हैं
  • बच्चों को भाषा के बारे में बताते हैं
  • बच्चों को उत्तर देना सिखाते हैं।

उत्तर : 1

प्रश्न : उच्च प्राथमिक स्तर की पाठ्य सामग्री में अनुवाद सामग्री रखने का उद्देश्य है

  • बहुत-सी सामग्री से परिचय कराना
  • प्रचुर हिंदी साहित्य का न होना
  • अन्य भाषाओं के साहित्य को हिन्दी में पढ़ने के अवसर देना
  • पूरे देश को पढ़ने का अवसर देना

उत्तर : 3

प्रश्न : यदि आपकी कक्षा में दृष्टिबाधित बच्चे हैं, तो आप

  • उन्हें विशेष सहानुभूति से पढ़ाएँगे
  • उन्हें पढ़ने के उपयुक्त साधन देंगे
  • उन्हें सभी बच्चों से अलग गतिविधि देंगे
  • उनसे कम गतिविधियाँ कराएँगे

उत्तर : 2

प्रश्न : भाषा सभी विषयों के ………. में है।

  • पढ़ने
  • केन्द्र
  • अध्यायों
  • प्रारम्भ

उत्तर : 2

प्रश्न : “कविता का एक निश्चित अर्थ होता है, जिसे सभी विद्यार्थियों को पढ़ना चाहिए” – इस कथन के बारे में आप मानते हैं कि

  • किसी कविता को एक निश्चित अर्थ के साथ पढ़ना चाहिए
  • सभी विद्यार्थी अपने अनुभव और परिवेश में ही कविता समझते हैं
  • कवि ने कविता एक अर्थ में लिखी जिसे हर विद्यार्थी को
  • समझना चाहिए
  • अलग-अलग अर्थ समझने से पढ़ने की प्रक्रिया बाधित होती है

उत्तर : 3

प्रश्न : आप मानते हैं कि अलग-अलग तरह की सामग्री पढ़ने के अवसर मिलने से

  • भाषा को विविध संदर्भों में प्रयोग करने की समझ बनती है
  • व्याकरण-सम्मत भाषा सीखने को मिलती है
  • किताबों के बारे में जानकारी मिलती है।
  • लेखकों के बारे में जानकारी मिलती है।

उत्तर : 1

प्रश्न : हिन्दी में विज्ञान संबंधी पाठों को पढ़ाने का उद्देश्य है

  • विज्ञान की भाषा को समझना
  • विज्ञान विषय को गहराई से जानना
  • विज्ञान के प्रति जिज्ञासा बढ़ाना
  • विज्ञान के संदर्भ में हिन्दी भाषा प्रयोग को समझना

उत्तर : 2

प्रश्न : लेखन-क्षमता के आकलन के लिए

  • अभिव्यक्त विचारों को जाँचना होगा
  • व्याकरण-सम्मत भाषा को देखना होगा
  • अर्थपूर्ण वाक्यों और संदर्भों को देखना होगा
  • लिखावट की सफाई और सुन्दरता को जाँचना होगा।

उत्तर : 3

प्रश्न : हिन्दी के पाठों में अन्य भाषाओं के शब्दों के होने का अर्थ है

  • पाठ का लेखक हिंदी नहीं जानता।
  • पाठ समाज के बहुभाषी स्वरूप की सहज प्रस्तुति है
  • पाठ कठिन और अस्पष्ट है
  • विद्यार्थियों को शुद्ध भाषा नहीं सिखाई जा रही

उत्तर : 2

निर्देश: नीचे दिए गए अनुच्छेद को पढ़कर पूछे गए निम्नलिखित आठ प्रश्नों के सही/सबसे उपयुक्त उत्तर वाले विकल्प को चुनिए ।

    मेरा थोड़ा बहुत संबंध साहित्य की दुनिया से भी है ।यही हालात मैं यहाँ भी देखता हूँ। यूरोपीय साहित्य का फैशन हमारे उपन्सासकारों, कहानी-लेखकों और कवियों पर झट हावी हो जाता है। मैं अपने प्रांत पंजाब बात करता हूँ। मेरे पंजाब में युवा कवियों की नयी पौध सामाजिक व्यवस्था के खिलाफ इंकलाबी जज्बे से ओत-प्रोत है। इसमें भ्रष्टाचार, अन्याय, शोषण को हटाने और एक नयी व्यवस्था बनाने की बात की गई है। हाँ, हमें सामाजिक बदलाव की जरूरत है और इन कविताओं में बातें तो बहुत अच्छे ढंग से कही गयी हैं पर इनका स्वरूप देसी नहीं है। इस पर पश्चिम प्रभाव है। परिणाम यह है कि यह सारा इंकलाब एक छोटे-से कागज पर सीमित रह जाता है। बस, साहित्यिक समझ रखने वाले एक छोटे से समूह में इनकी बात में होती है। किसान, मजदूर जो शोषण को झेल रहे हैं, जिन्हें वे इंकलाब की प्रेरणा देना चाहते हैं, वे इसे समझ ही नहीं पाते हैं। इस साल मेरी मातृभूमि पंजाब में मुझे गुरुनानक विश्वविद्यालय के सीनेट का सदस्य बनाने के लिए नामित किया गया जब मुझे उसकी पहली मीटिंग में शामिल होने के लिये बुलाया गया, तो मैं पंजाब में ही प्रीतनगर के पास था। एक दिन शाम को अपने ग्रामीण दोस्तों से गपशप करते हुए मैंने अमृतसर में होने वाली सीनेट की मीटिंग में जाने का जिक्र किया तो किसी ने कहा, "हमारे साथ तो आप तहमद (लुंगी) और कुतें में हमारे जैसे ही बने फिरते हो, वहाँ सूट-बूट पहन कर साहब बहादुर बन जाओगे।" मैंने हँसते हुए कहा- “क्यों आप अगर चाहते हैं तो मैं ऐसे चला जाऊंगा।" तभी कोई दूसरा बोला, "आप ऐसा कर ही नहीं सकते।"

प्रश्न : “कविताओं का स्वरूप देसी नहीं है।” वाक्य से अभिप्राय है

  • कविताओं में शब्द पश्चिम से प्रभावित हैं।
  • कविताओं में शब्द पश्चिम से प्रभावित नहीं हैं।
  • कविताओं की अभिव्यक्ति पश्चिम से प्रभावित है।
  • कविताओं का प्रकाशन पश्चिम से प्रभावित है।

उत्तर : 3

प्रश्न : अनुच्छेद के आधार पर बताइए कि किनका शोषण हो रहा है।

  • किसानों और कवियों का
  • कवियों और मजदूरों का
  • कवियों और लेखकों का
  • किसानों और मजदूरों का

उत्तर : 4

प्रश्न : ‘युवा कवियों की नयी पौध’ से क्या तात्पर्य है?

  • वे कवि जो नए विषयों पर लिख रहे हैं
  • वे कवि जो अभी नए युवा हैं
  • वे युवा कवि जिन्होंने लेखन शुरू किया है
  • वे युवा कवि जो नए विषयों पर लिख रहे हैं

उत्तर : 4

प्रश्न : पंजाब के युवा कवियों के लेखन का विषय है

  • सुव्यवस्था
  • भ्रष्टाचार
  • न्याय
  • भावनाएं

उत्तर : 2

प्रश्न : अनुच्छेद के आधार पर बताइए कि पंजाब प्रांत के आदमी सामान्यतः क्या पहनते हैं।

  • कुर्ता-पजामा
  • कुर्ता-लुंगी
  • कुर्ता और पैंट
  • सूट-बूट

उत्तर : 2

प्रश्न : कागज पर सीमित हो जाने से तात्पर्य है

  • जमीनी स्तर पर बदलाव न आना
  • जमीनी स्तर पर बदलाव आना
  • जमीनी स्तर पर ऊंचा उठाना
  • जमीनी स्तर पर ऊंचा न उठना

उत्तर : 1

प्रश्न : “इस पर पश्चिम का प्रभाव है।” वाक्य है

  • संबंधवाचक
  • विधानवाचक
  • प्रश्नवाचक
  • संदेहवाचक

उत्तर : 2

प्रश्न : ‘ग्रामीण, सामाजिक, युवा’ आदि शब्द हैं

  • संज्ञा
  • विशेषण
  • सर्वनाम
  • क्रिया

उत्तर : 2

निर्देशः नीचे दिए गए अनुच्छेद को पढ़कर पूछे गए निम्नलिखित सात प्रश्नों के सही/सबसे उपयुक्त उत्तर वाले विकल्प को चुनिए

     माइकलएंजेली इटली के बहुत प्रसिद्ध शिल्पकार थे। वे बड़ी सुन्दर मूर्तियाँ बनाते थे लोगों ने पूछा कि आप इतनी सुन्दर मूर्ति कैसे गढ़ लेते हैं। उन्होंने कहा कि मैं मूर्ति कहाँ गढ़ता हूँ। वह मूर्ति तो पहले से ही पत्थर में थी, मैंने तो सिर्फ पत्थर का फालतू हिस्सा हटा दिया तो मूर्ति प्रकट हो गयी तो विद्यार्थी को अपना परिचय पाने में, स्व-भान होने में मदद करना शिक्षक का काम है। अब यह स्व भान कैसे हो? कहते हैं, सेल्फ इज लाइक अ रे जो साइंस में माना जाता है कि प्रकाश की किरण अदृश्य होती है, वह आपको दिखाई देती है, वैसा हमारा जो 'स्व' है वह शून्य में, अभाव में समझ में नहीं आता। वह तब प्रकट होता है, जब मैं स्व-धर्म कर्तव्य-कर्म करता हूँ। कर्म करते-करते मुश्किल का जब मैं सामना करता हूँ तब मेरा रूप, मेरी शक्ति, मेरे स्व का मुझे पता चलता है। स्व-धर्म रूप कर्म करते हुए जो स्व मेरे सामने व्यक्त होता है वही मेरी शिक्षा है। इसलिए शिक्षा दी नहीं जा सकती, बल्कि अंदर से अंकुरित होती है। और उस प्रक्रिया में शिक्षक केवल बाहर से मदद करता है जैसे पौधे के अंकुरित होने में, इसके प्रफुल्लित होने में सीधा हम कुछ नहीं कर सकते। परन्तु बाहर से खाद-पानी देना, निराई करना, प्रकाश की व्यवस्था आदि कर सकते हैं।

प्रश्न : ‘स्व’

  • दृश्यमान होता है
  • किरण होता है
  • प्रकाश होता है
  • अदृश्य होता है

उत्तर : 4

प्रश्न : “वे बड़ी सुंदर मूर्तियाँ बनाते थे।” वाक्य में प्रविशेषण है

  • वे
  • सुंदर
  • बड़ी
  • मूर्तियाँ

उत्तर : 3

प्रश्न : ‘अंकुरित’ में प्रत्यय है

  • इत
  • रित
  • अं

उत्तर : 1

प्रश्न : अनुच्छेद के आधार पर कहा जा सकता है कि

  • शिक्षा देना संभव है
  • शिक्षा देना संभव नहीं है
  • शिक्षा विद्यालय में मिलती है
  • शिक्षा परिवार में मिलती है

उत्तर : 1

प्रश्न : शिक्षक का काम है

  • विद्यार्थी को स्वयं से परिचित कराना
  • विद्यार्थी को दूसरों से परिचित कराना
  • विद्यार्थी को विषयों से परिचित कराना
  • विद्यार्थी को शिल्प-कला से परिचित कराना

उत्तर : 1

प्रश्न : ‘स्व’ का प्रकाट्य ……… में होता है।

  • रोशनी
  • शक्ति
  • कर्म
  • शून्य

उत्तर : 2

प्रश्न : अनुच्छेद में खाद-पानी देने, निराई करने का उदाहरण बताता है कि शिक्षक का कार्य बच्चों को

  • भोजन पानी देने का है
  • नियंत्रित करना है
  • उचित माहौल देना है
  • बागवानी सिखाना है

उत्तर : ??

इस प्रश्न का सही उत्तर क्या होगा? हमें अपना जवाब कमेंट सेक्शन में जरूर दें।

आशा है आपको यह प्रैक्टिस सेट पसंद आया होगा, सरकारी परीक्षाओं से जुड़ी हर जानकरियों हेतु सरकारी अलर्ट को बुकमार्क जरूर करें।

Leave a Comment