CTET/UPTET Hindi भाषा प्रैक्टिस सेट 13 : परीक्षा से पहले हिंदी के इन 30 प्रश्नों का अध्ययन जरूर करें

UPTET/CTET Hindi Language Practice Set : उत्तर प्रदेश में UPTET की परीक्षा 28 नवंबर 2021 को आयोजित की जाने वाली थी, लेकिन पेपर लीक हो जाने के कारण पूरी परीक्षा प्रक्रिया को बीच में ही रद्द करना पड़ी, तथा CTET की परीक्षा 16 दिसंबर, 2021 से 13 जनवरी 2022 तक आयोजित होने वाली है। UPTET की परीक्षा भी दिसंबर के अंतिम सप्ताह में होने की संभावना है। ऐसे में जो भी प्रतियोगी छात्र UPTET/CTET की परीक्षा की तैयारी में जुटे है वो अपनी तैयारी को और भी तेज कर दें।

इस लेख के जरिये हिंदी भाषा के विगत वर्षों के UPTET / CTET की परीक्षाओं में पूछे गए 30 महत्वपूर्ण प्रश्नों का संग्रह लेकर आये हैं। इसलिए आप इन प्रश्नों का अभ्यास अच्छी तरह से करें और अपनी तैयारी को और भी मजबूती प्रदान करें।

uptet ctet hindi language practice set
UPTET/CTET Hindi Language Practice set

CTET/UPTET Hindi भाषा प्रैक्टिस सेट 13

प्रश्न : ‘बोरौ सबै रघुवंश कुठार की धार में बारन बजि सरत्यहिं । बान की वायु उड़ाव के लच्छन लच्छ करौं अरिहा समरत्यहिं ।
इन काव्य पंक्तियों में कौन-सा रस है?

  • रौद्र रस
  • भयानक रस
  • बीभत्स रस
  • वीर रस

उत्तर : 1

प्रश्न : रसों को उदित और उद्दीप्त करने वाली सामग्री क्या कहलाती है?

  • विभाव
  • अनुभाव
  • स्थायीभाव
  • संचारीभाव

उत्तर : 1

प्रश्न : ‘उत्साह किस रस का स्थायी भाव है?

  • करूण
  • वीर
  • हास्य
  • शृंगार

उत्तर : 2

प्रश्न : शृंगार रस का स्थायी भाव है

  • हास
  • रति
  • क्रोध
  • उत्साह

उत्तर : 2

प्रश्न : किस रस को ‘रसराज’ कहा जाता है?

  • शृंगार रस
  • वीर रस
  • हास्य रस
  • इनमें से कोई नहीं

उत्तर : 1

प्रश्न : ‘शोक’ किस रस का स्थायी भाव है?

  • शान्त
  • करुण
  • हास्य
  • वीर

उत्तर : 2

प्रश्न : ‘जहाँ सुमति तहँ संपति नाना, जहाँ कुमति तहँ विपति निदाना’ पद में कौन-सा रस है?

  • करुण
  • भयानक
  • शृंगार
  • शान्त

उत्तर : 4

प्रश्न : ‘अधरों में राग अमन्द पिए, अलकों में मलयज बन्द किए, तू अब तक सोई है आली। आँखों में भरे विहाग री।’ पंक्ति में कौन-सा रस है ?

  • करूण
  • शान्त
  • शृंगार
  • वात्सल्य

उत्तर : 3

प्रश्न : “विभावानुभावव्यभिचारि संयोगाद्वसनिष्पतिः सूत्र किसका है?

  • भरतमुनि
  • कुन्तक
  • वामन
  • क्षेमेन्द्र

उत्तर : 1

प्रश्न : इस काव्यांश में प्रमुख भाव है

  • वैराग्य
  • संतुलन
  • श्रृंगार
  • वीरता

उत्तर : 2

प्रश्न : ‘चौपाई’ छन्द के प्रत्येक चरण में कितनी मात्राएँ होती हैं?

  • चौबीस
  • सोलह
  • ग्यारह
  • तेरह

उत्तर : 2

प्रश्न : प्रत्येक चरण में 16 मात्रा वाला चार चरणों का सममात्रिक छन्द है

  • दोहा
  • रोला
  • सोरठा
  • चौपाई

उत्तर : 4

प्रश्न : ‘तेरी बरछी ने बर छीने हैं, खलन के पंक्ति में कौन-सा अलंकार है?

  • रूपक
  • श्लेष
  • अनुप्रास
  • यमक

उत्तर : 4

प्रश्न : “श्री गुरु चरन सरोज रज,निज मन मुकुर सुधार।
बरनौ रघुवर विमल जस, चार।।” में छन्द है जो दायक फल चार । । में छन्द है

  • दोहा
  • रोला
  • सोरठा
  • बरवै

उत्तर : 1

प्रश्न : मूक होई वाचाल, पंगु चदै गिरिवर गहन ।
जासु कृपा सु दयाल, द्रवहु सकल कलिमल दहन।।
उपरोक्त में छन्द है

  • दोहा
  • चौपाई
  • सोरठा
  • रोला

उत्तर : 3

प्रश्न : मूक होइ बाचाल पंगु चढ्इ गिरिवन गहन ।
जासु कृपाँ सो दयाल द्रवउ सकल कलि मल दहन।।
प्रस्तुत पंक्तियों में कौन-सा छन्द है

  • सोरठा
  • चौपाई
  • दोहा
  • बरवै

उत्तर : 1

प्रश्न : ‘दोहा’ में कितनी मात्राएँ होती हैं?

  • चौबीस
  • छब्बीस
  • तीस
  • अट्ठाइस

उत्तर : 1

प्रश्न : ‘उल्का सी रानी दिशा दीप्त करती थी’ पंक्ति कौन-सा अलंकार है?

  • यमक
  • उत्प्रेक्षा
  • रूपक
  • उपमा

उत्तर : 4

प्रश्न : बिनु पग चलै सुनै बिनु काना, कर बिनु कर्म करै विधि नाना ।
इस पंक्ति में प्रयुक्त अलंकार है

  • विभावना
  • विशेषोक्ति
  • असंगति
  • दृष्टांत

उत्तर : 1

प्रश्न : निम्नलिखित पंक्तियों में कौन-सा अलंकार बालधी बिसाल बिकराल ज्वाल जाल मानौ, लंकलीलिबै को काल रसना पसारी है।

  • उपमा और रूपक
  • यमक और श्लेष
  • उत्प्रेक्षा और अनुप्रास
  • अनुप्रास और यमक

उत्तर : 3

प्रश्न : ‘चरण-कमल बन्दौ हरिराई।” उपरोक्त पंक्ति में अलंकार है

  • उत्प्रेक्षा
  • रूपक
  • यमक
  • उपमा

उत्तर : 2

प्रश्न : ‘तरनि-तनूजा तट तमाल तरुवर बहु छाए’ में कौन-सा अलंकार है?

  • अनुप्रास
  • यमक
  • उत्प्रेक्षा
  • उपमा

उत्तर : 1

प्रश्न : निम्नलिखित पंक्तियों में कौन-सा अलंकार है?
‘फूले कास सकल महि छाई।
जनु बरसा रितु प्रकट बुढाई ।।”

  • उपमा
  • रूपक
  • उत्प्रेक्षा
  • श्लेष

उत्तर : 3

प्रश्न : सोहत ओढ़े पीत पट, श्याम सलोने गात।
मनो नीलमणि शैल पर, आतप परयो प्रभात।।
प्रस्तुत पंक्तियों में कौन-सा अलंकार है?

  • अनुप्रास
  • रूपक
  • उपमा
  • उत्प्रेक्षा

उत्तर : 4

प्रश्न : ‘नवल सुन्दर श्याम-शरीर की, सजल नीरद कल-कान्ति थी।’ में कौन-सा अलंकार है?

  • उपमा
  • श्लेष
  • रूपक
  • उत्प्रेक्षा

उत्तर : 1

प्रश्न : ‘हरि-पद कोमल कमल से’ इस पद में अलंकार है

  • उपमा
  • प्रतीप
  • रूपक
  • उत्प्रेक्षा

उत्तर : 1

प्रश्न : अष्टछाप के कवि नहीं है

  • नाभादास
  • कृष्णदास
  • नन्ददास
  • परमानन्ददास

उत्तर : 1

प्रश्न : ‘आचरण की सभ्यता’ किसका निबन्ध है ?

  • महावीरप्रसाद द्विवेदी
  • सरदार पूर्ण सिंह
  • रामचन्द्र शुक्ल
  • पद्मसिंह

उत्तर : 2

प्रश्न : ‘भूषण’ किस काल के कवि हैं?

  • वीरगाथाकाल
  • रीतिकाल
  • भक्तिकाल
  • आदिकाल

उत्तर : 2

कवितावली’ के रचनाकार हैं

  • सूरदास
  • जायसी
  • तुलसीदास
  • घनानन्द

उत्तर : ??

इस प्रश्न का सही उत्तर क्या होगा? हमें अपना जवाब कमेंट सेक्शन में जरूर दें।

आशा है आपको यह प्रैक्टिस सेट पसंद आया होगा, सरकारी परीक्षाओं से जुड़ी हर जानकरियों हेतु सरकारी अलर्ट को बुकमार्क जरूर करें।

Leave a Comment