UPTET / CTET बाल विकास प्रैक्टिस सेट 10 : परीक्षा में जानें से पहले इन 30 प्रश्नों का जरूर करें अध्ययन

विज्ञापन

CTET / UPTET Child Development Practice Set : UPTET की परीक्षा 28 नवम्बर को एवं CTET की परीक्षाएं जनवरी में आयोजित होने वाली हैं जिसके लिए परीक्षार्थी कई महीनों से अपनी तैयारियों में जुटे हुए हैं। फ़िलहाल तैयारी का आखिरी पड़ाव चल रहा है, ऐसे में परीक्षार्थियों को नीचे दिए गए UPTET / CTET Child Development Practice Set 10 को अवश्य हल करना चाहिए, जिससे वे अपनी तैयारी को और भी सुनिश्चित कर सकते हैं.

विज्ञापन

बाल विकास के इस प्रैक्टिस सेट में 30 महत्वपूर्ण प्रश्नों का चयन किया गया है, जो इस साल होने वाली CTET / UPTET परीक्षा में भी आ सकते हैं। इसलिए आप इन प्रश्नों का अभ्यास अच्छी तरह से करें और अपनी तैयारी को और भी मजबूती प्रदान करें.

uptet ctet child development practice set
UPTET / CTET Child Development Practice Set 10

UPTET / CTET बाल विकास प्रैक्टिस सेट 10

प्रश्न. इदम्, अहम् व पराअहम् किस संरचना के भाग हैं?

  • मन
  • चेतना
  • व्यक्तित्व
  • रक्षात्मक मनोरचना

उत्तर: 3

विज्ञापन

प्रश्न. मनोसामाजिक सिद्धान्त निम्नलिखित में से किस पर बल देता है?

  • उद्दीपन व प्रतिक्रिया
  • लिंगीय व प्रसुप्ति स्तर
  • उद्यम के मुकाबले में हीनता स्तर
  • क्रियाप्रसूत (सक्रिय) अनुबन्धन

उत्तर: 3

प्रश्न.”सामूहिक अचेतन” का सम्प्रत्यय ………… द्वारा दिया गया था।

  • पावलोव
  • स्किनर
  • फ्रायड
  • युंग

उत्तर: 4

प्रश्न. प्रासंगिक अन्तर्बोध परीक्षण (TAT) व्यक्तित्व को मापने की एक….

  • आत्मनिष्ठ तकनीक है
  • वस्तुनिष्ठ तकनीक है
  • प्रक्षेपीय तकनीक है
  • प्रयोगात्मक तकनीक है

उत्तर:3

प्रश्न. अहम् …………. के नियम पर कार्य करता है.

  • सुख
  • नैतिकता
  • वास्तविकता
  • कल्पना

उत्तर: 3

विज्ञापन

प्रश्न. प्रारम्भिक अधिगमकर्ताओं (6 से 12 वर्ष की आयु समूह) के लिए एरिक्सन की विकास अवस्था है

  • परिश्रम बनाम हीनता
  • पहला शक्ति बनाम दोषिता
  • स्वतन्त्रता बनाम लज्जशीलता व सन्देह
  • विश्वास बनाम अविश्वास

उत्तर: 1

प्रश्न. बच्चों में सीखी गई निस्सहायता का कारण है

  • इस व्यवहार को अर्जित कर लेना कि वे सफल नहीं हो सकते
  • कक्षा गतिविधियों के प्रति कठोर निर्णय
  • अपने अभिभावकों की अपेक्षाओं के साथ तालमेल न बना पाना
  • अध्ययन को गम्भीरतापूर्वक न लेने हेतु नैतिक निर्णय

उत्तर: 1

प्रश्न. व्यक्तित्व के मूल्यांकन हेतु प्रयुक्त शब्द साहचर्य परीक्षण विधि का प्रयोग जुंग द्वारा किस वर्ष में किया गया?

  • 1912 में
  • 1922 में
  • 1848 में
  • 1910 में

उत्तर: 4

प्रश्न. रोर्शा स्याही धब्बा परीक्षण जो व्यक्तित्व का मूल्यांकन करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. का विकास किया?

  • आइसैंक ने
  • एलपोर्ट ने
  • हरमन रोर्शा ने
  • जीन पियाजे ने

उत्तर: 3

प्रश्न. व्यक्तित्व विकास में ……….. एक महत्त्वपूर्ण भूमिका निर्वाह करता है

  • आनुवांशिकता और वातावरण का मिश्रण
  • परीक्षाओं की संख्या
  • आनुवंशिकता
  • वातावरण

उत्तर: 1

प्रश्न. मनोवैज्ञानिक थार्नडाइक ने व्यक्ति को किस आधार पर बाँटा है?

  • चिन्तन व कल्पना शक्ति के आधार पर
  • प्रभुतापूर्ण व अधीनस्थपूर्ण के आधार पर
  • स्वतन्त्रता व निर्भरता के आधार पर
  • इनमें से कोई नहीं

उत्तर: 1

विज्ञापन

प्रश्न. बहिर्मुखी प्रवृत्ति के व्यक्ति होते हैं?

  • सामाजिक एवं मित्रतापूर्ण व्यवहार
  • तनाव मुक्त
  • उपरोक्त दोनों
  • इनमें कोई नहीं

उत्तर: 1

प्रश्न. व्यक्तित्व स्थायी समायोजन है

  • पर्यावरण के साथ
  • जीवन के साथ
  • प्रकृति के साथ
  • ये सभी

उत्तर: 4

प्रश्न. व्यक्तित्व विकास की अवस्था है।

  • अधिगम एवं वृद्धि
  • व्यक्तिवृत्त अध्ययन
  • उपचारात्मक अध्ययन
  • इनमें से कोई नहीं

उत्तर: 1

प्रश्न. जिन इच्छाओं की पूर्ति नहीं होती, उनका भण्डारगृह निम्न में से कौन-सा है?

  • इदम्
  • अहम्
  • परम अहम्
  • इदम् एवं अहम्

उत्तर: 1

प्रश्न. बालक प्रसंगबोध परीक्षण 3 वर्ष से 10 वर्ष की आयु के बालकों के लिए बनाया गया है। इस परीक्षण में कार्ड में प्रतिस्थापित किए गए हैं

  • सजीव वस्तुओं के स्थान पर निर्जीव वस्तुओं को
  • लोगों के स्थान पर जानवरों को
  • पुरुषों के स्थान पर महिलाओं को
  • वयस्क के स्थान पर बालकों को

उत्तर: 2

प्रश्न. बालक के व्यक्तित्व की नींव किस अवस्था में पड़ती है?

  • शैशवावस्था
  • गर्भकालीन अवस्था
  • बचपनावस्था
  • इनमें से कोई नहीं

उत्तर: 3

विज्ञापन

प्रश्न. किस परीक्षण में 10 मसिलक्ष्य या स्याही धब्बे होते हैं?

  • रोर्शा परीक्षण
  • 16 पी.एफ.
  • एम.एम.पी.आई.
  • ई.पी. क्यू.

उत्तर: 1

प्रश्न. कौन सिद्धान्त व्यक्त करता है कि मानव मस्तिष्क एक बर्फ की बड़ी चट्टान के समान है, जो कि अधिकांशतः छिपी रहती है एवं उसमें चेतन के तीन स्तर है?

  • गुण सिद्धान्त
  • प्रकार सिद्धान्त
  • मनोविश्लेषणात्मक सिद्धान्त
  • व्यवहारवाद सिद्धान्त

उत्तर: 3

प्रश्न. बहिर्मुखी विद्यार्थी अन्तर्मुखी विद्यार्थी से किस विशेषता के आधार पर भिन्न होता है?

  • मजबूत भावनाए, पसन्दगी एवं नापसंदगी
  • मन ही मन परेशान होने की अपेक्षा अपनी भावनाओं को अभिव्यक्त करता है।
  • अपने बौद्धिक कार्यों में डूबा रहता है
  • बोलने की अपेक्षा लिखने में बेहतर

उत्तर: 1

प्रश्न. एक सन्तुलित व्यक्तित्व वह है जिसमें

  • इदम् एवं परम अहम् के बीच सन्तुलन स्थापित किया जाता है।
  • इदम् एवं अहम् के बीच सन्तुलन स्थापित किया जाता है।
  • अहम् एवं परम् अहम् के बीच सन्तुलन स्थापित किया जाता है।
  • मजबूत अहम् को बनाया जाता है।

उत्तर: 1

प्रश्न. व्यक्तित्व मापन का स्याही धब्बा परीक्षण है।

  • आत्मनिष्ठ परीक्षण
  • वस्तुनिष्ठ परीक्षण
  • प्रक्षेपण परीक्षण
  • इनमें से कोई नहीं

उत्तर: 3

प्रश्न. एक बालक के व्यक्तित्व के मापन की सर्वाधिक वस्तुनिष्ठ विधि है

  • प्रक्षेपी विधि
  • प्रश्नावली विधि
  • साक्षात्कार विधि
  • समाजमिति विधि

उत्तर: 1

विज्ञापन

प्रश्न. व्यक्तित्व का ‘सामाजशास्त्रीय प्रकार का सिद्धान्त’ दिया गया

  • हिप्पोक्रेटस के द्वारा
  • क्रेचमर के द्वारा
  • शेल्डन के द्वारा
  • स्प्रेन्जर के द्वारा

उत्तर: 4

प्रश्न. नृत्य, ड्रामा एवं शिल्पकला का प्रयोग किया जाता है

  • विशिष्ट गुणों के विकास हेतु
  • व्यक्तित्व को ढालने के लिए
  • दबी एवं बर्दाश्त न की जा अन्तनोंद के प्रगटीकरण हेतु
  • इनमें से सभी

उत्तर: 4

प्रश्न.निम्न में से कौन-सी तकनीक प्रक्षेपण तकनीक नहीं है?

  • खेल तकनीक
  • शब्द साहचर्य परीक्षण
  • चित्र साहचर्य परीक्षण
  • व्यक्तिगत अध्ययन

उत्तर: 4

प्रश्न. व्यक्तित्व व्यक्ति में उन मनोदैहिक व्यवस्थाओं का गत्यात्मक संगठन है, जो वातावरण के साथ उसके अपूर्व समायोजन को निर्धारित करता है।

  • व्यक्तित्व की यह परिभाषा दी है।मुर्रे
  • जे.बी. वाटसन
  • जी.डब्ल्यू. आलपोर्ट
  • स्कीनर

उत्तर: 3

प्रश्न. बाल अन्तर्बोध (एपरसेप्शन) परीक्षण का निर्माण किसने किया?

  • मर्रे
  • रॉबर्ट
  • बेलक
  • रोजनविग

उत्तर: 3

विज्ञापन

प्रश्न. व्यक्तिगत रूप से किसी व्यक्ति के अचेतन मन का अध्ययन करना कहलाता है।

  • अवलोकनात्मक विधि
  • विषयपरक विधि
  • प्रक्षेपण विधि
  • मनोविश्लेषणात्मक विधि

उत्तर: 3

प्रश्न. विपिन एक दिवास्वपन है और पुस्तकों को पढ़ने “मैं रुचि रखता है और गैर मित्रों से अपने विचार प्रस्तुत नहीं कर सकता है यह व्यक्तित्व का कौन-सा प्रकार है।

  • बाह्यमुखी
  • अन्तर्मुखी
  • मध्यर्मुखी
  • खिलाड़ी प्रवृत्ति

इस प्रश्न का सही उत्तर क्या होगा? हमें अपना जवाब कमेंट सेक्शन में जरूर दें।

आशा है आपको बाल विकास का यह प्रैक्टिस सेट पसंद आया होगा, UPTET परीक्षा से जुड़ी हर जानकरियों हेतु सरकारी अलर्ट को बुकमार्क जरूर करें।

विज्ञापन
Leave a Comment

139 thoughts on “UPTET / CTET बाल विकास प्रैक्टिस सेट 10 : परीक्षा में जानें से पहले इन 30 प्रश्नों का जरूर करें अध्ययन”