UPTET/CTET बाल विकास एवं शिक्षा शास्त्र प्रैक्टिस सेट 57 : परीक्षा में शामिल होने से पहले इन 30 महत्वपूर्ण प्रश्नों का कर लें अध्ययन

UPTET/CTET Child Development And Pedagogy Practice Set 57 : CTET की परीक्षा शुरू हो चुकी है और यह परीक्षा 13 जनवरी 2022 तक चलने वाली है। इस परीक्षा की तैयारी के लिए अभ्यर्थियों नें बहुत ही मेहनत किया था और अभी जिनकी परीक्षा बाकी है वो इसकी तैयारी के लिए अपने पूरे जी जान से लगे हुए हैं। UPTET की परीक्षा 28 नवंबर को आयोजित होनी थी लेकिन पेपर लीक हो जाने के वजह से पूरी परीक्षा प्रक्रिया को बीच मे ही रद्द करना पड़ा, अब इसकी परीक्षा 23 जनवरी 2022 को आयोजित कराई जानी है।

ऐसे में इस लेख के जरिये हम आपको UPTET/CTET के परीक्षा में पूछे गए विगत वर्षों के बाल विकास एवं शिक्षा शास्त्र के 30 महत्वपूर्ण प्रश्नों से अवगत कराएंगे, जिसका अध्ययन कर के आप अपनी तैयारी को और भी मजबूती प्रदान कर सकतें हैं।

UPTET/CTET Child Development And Pedagogy Practice Set 57
UPTET/CTET Child Development And Pedagogy Practice Set 57

UPTET/CTET Child Development And Pedagogy Practice Set 57

प्रश्न : राष्ट्रीय पाठ्यचर्या फ्रेमवर्क-2005 ने अपनी समझ से प्राप्त की है।

  • संज्ञानात्मक सिद्धान्त
  • व्यवहारवाद
  • मानवतावाद
  • रचनावाद

उत्तर : 4

प्रश्न : कक्षा में बच्चों को प्रेरित समझा जा सकता है यदि

  • वे शिक्षक से स्पष्टीकरण प्राप्त करने के लिए प्रश्न पूछते हैं
  • वे अच्छी तरह से वर्दी पहने स्कूल में आते हैं।
  • वे कक्षा में अनुशासन बनाए रखते हैं
  • वे सभी उपस्थिति में नियमित हैं

उत्तर : 1

प्रश्न : निम्नलिखित में से कौन सा बच्चों में अधिगम में सुधार करने के लिए सबसे अधिक उपयुक्त है?

  • शिक्षक को वास्तविक जीवन स्थितियों पर बच्चों को एक-दूसरे के साथ बातचीत करने में मदद करनी चाहिए
  • नियमित मूल्यांकन परीक्षा आयोजित की जानी चाहिए
  • शिक्षक को विभिन्न उदाहरणों और चित्रों का उपयोग करके विषय की व्याख्या करनी चाहिए
  • कक्षा में सभी प्रकार की शिक्षण सामग्री होनी चाहिए

उत्तर : 1

प्रश्न : निम्नलिखित में से कौन-सा शिक्षक की भूमिका का सबसे अच्छा वर्णन करता है?

  • आराम के लिए जगह बनाना, जहाँ बच्चे संवाद और पूछताछ के माध्यम से सीखते हैं।
  • कक्षा में शिक्षक की सबसे महत्त्वपूर्ण भूमिका अनुशासन को बनाए रखना है।
  • एक शिक्षक को निर्धारित पाठ्य पुस्तक का पालन करना चाहिए।
  • पाठ्यक्रम को समय पर पूरा करने के साथ-साथ दोहराने के लिए पर्याप्त समय देना महत्त्वपूर्ण है

उत्तर : 1

प्रश्न : निम्नलिखित में से कौन-सी कक्षा समृद्ध शिक्षा को प्रोत्साहित करती है?

  • पाठ्य पुस्तक सामग्री द्वारा संचालित संरचित और योजनाबद्ध अधिगम वाली कक्षा
  • वह कक्षा जिसमें प्रदर्शित विभिन्न प्रकार की सामग्री बच्चों की पहुँच से परे हो ताकि सामग्री लम्बे समय तक चलती रहे
  • वह कक्षा जिसमें खुली गतिविधि कोने हों और विभिन्न प्रकार के बाल साहित्य खुली अलमारी (शेल्फ) में रखे हो, जो दिन के किसी भी समय प्राप्त किया जा सकें
  • अलमारी में अच्छी तरह संगठित सामग्री वाली कक्षा, जहाँ सामग्री को सप्ताह में एक बार मुक्त खेल के लिए बाहर लाया जाता हो

उत्तर : 3

प्रश्न : निम्नलिखित में से कौन-सा कक्षा में पाठ्य पुस्तकों की भूमिका का सबसे अच्छा वर्णन करता है?

  • वे संसाधन-रहित सन्दर्भ में सबसे आवश्यक अधिगम संसाधन बनाती हैं
  • वे कक्षा में उपलब्ध संसाधन और सन्दर्भ सामग्री में से एक हैं
  • वे एक राज्य या राष्ट्र में अधिगम में एकरूपता बनाए रखती हैं
  • वे अध्ययन के पाठ्यक्रम के बारे में शिक्षकों और माता-पिता को मार्गदर्शन प्रदान करती हैं।

उत्तर : 1

प्रश्न : अनुशासन जो अधिगम वातावरण में एक महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है, किस तरह की मदद करता है?

  • बच्चों को उनके पाठ रटकर याद करने में
  • बच्चों को अपनी शिक्षा को विनियमित और मॉनिटर करने के लिए
  • चुप्पी साधे रहने के लिए
  • शिक्षकों को निर्देश देने में

उत्तर : 2

प्रश्न : आनुवंशिकता और पर्यावरण की भूमिका के बारे में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सत्य है?

  • पर्यावरण केवल बच्चे के भाषा- विकास में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है
  • विकास के कुछ पहलू आनुवंशिकता और कुछ अन्य पर्यावरण से अधिक प्रभावित होते हैं
  • सीखने और प्रदर्शन करने की एक बच्चे की क्षमता जीनो द्वारा पूरी तरह से निर्धारित की जाती है
  • अच्छी देखभाल और पौष्टिक आहार बच्चे के किसी भी जन्मजात विकार को दूर कर सकता है,

उत्तर : 2

प्रश्न : निम्नलिखित में से कौन-सा कथन पियाजे के सिद्धान्त के अनुसार कहा नहीं जा सकता?

  • बच्चे अपने पर्यावरण पर क्रिया करते हैं
  • विकास गुणात्मक चरणों में होता है
  • बच्चे अपनी दुनिया के बारे में ज्ञान का निर्माण और उपयोग करते हैं
  • निरन्तर अभ्यास से अधिगम होता है

उत्तर : 2

प्रश्न : निम्नलिखित में से कौन-सा विकल्प प्रगतिशील शिक्षा का सबसे अच्छा वर्णन करता है?

  • परियोजना विधि, क्षमता समूह बनाना, रैंकिंग
  • करके सीखना, परियोजना विधि, सहयोग से सीखना
  • थिमैटिक इकाइयाँ, नियमित इकाई परीक्षण, रैंकिंग
  • व्यक्तिगत अधिगम, क्षमता समूह बनाना, छात्रों की लेबलिंग

उत्तर : 2

प्रश्न : प्रगतिशील शिक्षा के बारे में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन बताता है- शिक्षा स्वयं ही जीवन है?

  • जीवन सच्चा शिक्षक है
  • स्कूल शिक्षा को यथासम्भव लम्बे समय तक जारी रखना चाहिए
  • स्कूलों की आवश्यकता नहीं है, बच्चे अपने जीवन के अनुभवों से सीख सकते हैं
  • स्कूलों में शिक्षा सामाजिक और प्राकृतिक दुनिया को प्रतिबिम्बित करे

उत्तर : 4

प्रश्न : कोहबर्ग के सिद्धान्त के योगदान के रूप में निम्नलिखित में से किसे माना जा सकता है?

  • उनका विश्वास है कि बच्चे नैतिक दार्शनिक हैं
  • उनके सिद्धान्त ने संज्ञानात्मक परिपक्वता और नैतिक परिपक्वता के बीच एक सहयोग का समर्थन किया है
  • इस सिद्धान्त में विस्तृत परीक्षण प्रक्रियाएँ हैं
  • यह नैतिक तर्क और कार्रवाई के बीच एक स्पष्ट सम्बन्ध स्थापित करता है

उत्तर : 4

प्रश्न : निम्नलिखित में से कौन-सी पूर्व-संक्रियात्मक विचार की एक सीमा नहीं है?

  • अनुत्क्रमणीयता
  • ध्यान केन्द्रित करने की प्रवृत्ति
  • प्रतीकात्मक विचार का विकास
  • अहंमन्यता

उत्तर : 2

प्रश्न : …….. के अलावा, निम्नलिखित कारणों से खेल युवा बच्चों के विकास में एक महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

  • वे नए कौशल हासिल करते हैं और सीखते हैं कि उन्हें कब उपयोग किया जाए
  • वे अपने शरीर पर निपुणता प्राप्त करते हैं
  • यह उनकी इन्द्रियों को उत्तेजित करता है
  • यह समय बिताने का एक सुखद तरीका है

उत्तर : 4

प्रश्न : निम्नलिखित में से कौन-सा प्रश्न बच्चों को गम्भीर रूप से सोचने के लिए आमन्त्रित करता है?

  • विभिन्न तरीकों से हम इसे कैसे हल कर सकते हैं?
  • क्या आप इसका उत्तर जानते हैं?
  • सही जवाब क्या है?
  • क्या आप इसी तरह की स्थिति के बारे में सोच सकते हैं?

उत्तर : 1

प्रश्न : निकटवर्ती विकास का क्षेत्र सन्दर्भित करता है

  • उस सीखने के बिन्दु को, जब सहयोग वापस लिया जा सकता है
  • उस चरण को, जब अधिकतम विकास सम्भव है
  • उस विकासात्मक चरण को, जब बच्चा सीखने की पूरी जिम्मेदारी लेता है
  • एक सन्दर्भ को, जिसमें बच्चे सहयोग के सही स्तर के साथ कोई कार्य लगभग स्वयं कर सकते हैं

उत्तर : 4

प्रश्न : एक उभयलिंगी व्यक्तित्व

  • समाज में प्रचलित रूढ़िवादी लिंग भूमिकाओं का पालन करता है
  • स्त्री लक्षणों वाले पुरुषों को सन्दर्भित करता है
  • में आमतौर पर माने गए पुरुष और स्त्री गुणों का समायोजन होता है
  • में दृढ़ और अहंकारी होने की आदत है

उत्तर : 3

प्रश्न : बच्चे ………. को अन्य सभी के द्वारा लिंग भूमिकाएँ ग्रहण करते हैं।

  • ट्यूशन
  • मीडिया
  • समाजीकरण
  • संस्कृति

उत्तर : 1

प्रश्न : निम्नलिखित में से कौन-सा सतत और व्यापक मूल्यांकन से सम्बन्धित नहीं है?

  • यह बच्चों को धीमे खराब या बुद्धिमान के रूप में चिह्नित करने में उपयोगी होता है
  • इसे भारत के शिक्षा के अधिकार अधिनियम द्वारा अनिवार्य किया गया है
  • यह शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया का एक अभिन्न अंग है
  • यह विभिन्न शिक्षा क्षेत्रों में बच्चे की उपलब्धि पर केन्द्रित है।

उत्तर : 2

प्रश्न : बच्चों में प्रतिभाशालिता …… के कारण हो सकती है।

  • एक अनुशासित दिनचर्या
  • आनुवंशिकता और वातावरण के बीच एक अन्तः क्रिया
  • एक संसाधन-समृद्ध वातावरण
  • सफल माता-पिता

उत्तर : 2

प्रश्न : सामाजिक आर्थिक रूप से वंचित पृष्ठभूमि से आने वाले बच्चों को कक्षा के माहौल की आवश्यकता होती है जो

  • बच्चों को उनकी क्षमताओं के आधार पर वर्गीकृत करता है
  • उन्हें अच्छा व्यवहार सिखाता है
  • उनके सांस्कृतिक और भाषायी ज्ञान को महत्त्व देता है तथा उनका उपयोग करता है
  • उनकी भाषा के उपयोग को हतोत्साहित करता है ताकि वे मुख्यधारा की भाषा सीख सकें

उत्तर : 3

प्रश्न : मानकीकृत परीक्षणों की आलोचनाओं में से यह है कि

  • वे बच्चे की क्षमता की स्पष्ट तस्वीर नहीं देते हैं
  • वे मुख्य रूप से मुख्यधारा की संस्कृति का प्रतिनिधित्व करते हैं और इसलिए पक्षपाती हैं
  • उनकी भाषा को समझना मुश्किल है।
  • परीक्षण बड़ी आबादी पर लागू नहीं किए जा सकते हैं

उत्तर : 2

प्रश्न : एकाधिक बुद्धिमानी का सिद्धान्त कहता है कि

  • प्रभावी अध्यापन के द्वारा बुद्धि बढ़ाई जा सकती है
  • बुद्धि तेजी से बढ़ाई जा सकती है
  • बुद्धि कई प्रकार की हो सकती है
  • पेपर-पेन्सिल परीक्षण सहायक नहीं है

उत्तर : 3

प्रश्न : शिक्षक सीखने के लिए मूल्यांकन और सीखने के मूल्यांकन दोनों का उपयोग कर सकते हैं

  • बच्चों की प्रगति की निगरानी करने और उनके सीखने के अन्तराल को भरने के लिए उचित लक्ष्य निर्धारित करने में
  • बच्चों की प्रगति और उपलब्धि स्तर को जानने में
  • बच्चे की सीखने की जरूरतों को जानने में और तद्नुसार शिक्षण रणनीति का चयन करने में
  • आवधिक अन्तरालों पर बच्चे के प्रदर्शन का आकलन करने और उसके प्रदर्शन को प्रमाणित करने में

उत्तर : 2

प्रश्न : कक्षा में सृजनात्मक और प्रतिभाशाली बच्चों के लिए आवश्यक हस्तक्षेप निर्भर करता है

  • उन्हें अन्य बच्चों को पढ़ाने की जिम्मेदारी देने पर
  • शिक्षक द्वारा अनुकूलित और प्रेरक निर्देशन तरीकों के उपयोग पर
  • उन्हें अतिरिक्त समय दिए जाने पर
  • उनके प्रति स्नेही होने के नाते पर

उत्तर : 2

प्रश्न : अतिसंवेदनशील बच्चों को सीखने में मदद करने के लिए निम्नलिखित में से कौन-सा तरीका उपयुक्त तरीका नहीं है?

  • बेचैन होने पर अक्सर उन्हें फटकार लगाना
  • एक कार्य को छोटे, प्रवन्धनीय खण्डों में तोड़ना
  • अधिगम के वैकल्पिक तरीकों की पेशकश
  • उनके दैनिक कार्यक्रम में शारीरिक गतिविधि का समावेश

उत्तर : 1

प्रश्न : अलग-अलग सोच वाले पैटर्न उन बच्चों की पहचान करते हैं जो

  • प्रत्यास्थी हैं
  • डिस्लेक्सिक हैं
  • विकलांग हैं
  • सृजनात्मक हैं

उत्तर : 4

प्रश्न : एक तीन वर्ष का बच्चा बताता है कि दूध बूथ पर एक मशीन द्वारा दूध का उत्पादन होता है। निम्नलिखित में से कौन-सा बच्चे की समझ का सबसे अच्छा स्पष्टीकरण प्रदान करता है?

  • बच्चे का परिवार बच्चे को प्रेरक वातावरण प्रदान नहीं करता
  • बच्चे को दुनिया का बहुत सीमित अनावरण/ज्ञान है
  • बच्चे का जवाब दूध बूथ से दूध खरीदने के अपने अनुभव पर आधारित है
  • बच्चे ने गायों को कभी नहीं देखा है

उत्तर : 3

प्रश्न : निम्नलिखित में से कौन सा शिक्षक द्वारा कक्षा में बच्चों के लिए समस्या हल करने के तरीके का वर्णन नहीं कर सकता?

  • अभिसरण उत्तरों वाले प्रश्न पूछना
  • किसी विशेष समस्या को हल करने के बारे में अपनी विचार प्रक्रियाओं पर चर्चा करना
  • कुछ हल करते समय गलतियों को करने के प्रति ईमानदार रहना
  • सोच, विचार परीक्षण और विभिन्न उत्तरों जैसी शब्दावली का प्रयोग करना

उत्तर : 1

प्रश्न : निम्नलिखित में से कौन-सा एक संवेग है?

  • उत्तेजना
  • स्मृति
  • डर
  • ध्यान

उत्तर : ??

इस प्रश्न का सही उत्तर क्या होगा? हमें अपना जवाब कमेंट सेक्शन में जरूर दें।

आशा है आपको यह प्रैक्टिस सेट पसंद आया होगा, सरकारी परीक्षाओं से जुड़ी हर जानकरियों हेतु सरकारी अलर्ट को बुकमार्क जरूर करें।

Leave a Comment