UPTET बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र प्रैक्टिस सेट 3 : पिछली बार परीक्षा में आए थे ये 30 महत्वपूर्ण प्रश्न

UPTET Child Development and Pedagogy Questions : उत्तर प्रदेश प्रशिक्षण परीक्षा नियामक 28 नवंबर को यूपीटीईटी की परीक्षा देश भर के विभिन्न परीक्षा केंद्रों पफ आयोजित करने वाला है। ऐसे में जिन उम्मीदवारों ने इसके लिए आवेदन दिया था वे अब अपनी तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुट गए हैं।

ऐसे में उन उम्मीदवारों के लिए आज हम बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र से ऐसे 30 प्रश्न लाए हैं, जो यूपीटीईटी की पिछली परीक्षाओं में आ चुके हैं और यह प्रश्न आपके परीक्षा के लिहाज से बेहद ही जरूरी हैं।

UPTET Child Development and Pedagogy Questions 
UPTET Child Development and Pedagogy Questions 

UPTET बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र प्रैक्टिस सेट 3 – 30 प्रश्न

प्रश्न 1. अपने चिन्तन में अवधारणात्मक परिवर्तन लाने हेतु शिक्षार्थियों को सक्षम बनाने के लिए शिक्षक को

  • उन बच्चों को पुरस्कार देना चाहिए जिन्होंने अपने चिन्तन में परिवर्तन किया है
  • बच्चों को स्वयं चिन्तन करने के लिए हतोत्साहित करना चाहिए और उनसे कहना चाहिए कि वे शिक्षिका को सुने और उसका अनुपालन करें
  • व्याख्यान के रूप में व्याख्या प्रस्तुत करनी चाहिए
  • स्पष्ट और आश्वस्त करने वाली व्याख्या देनी चाहिए तथा शिक्षार्थियों के साथ चर्चा करनी चाहिए

उत्तर : 4

प्रश्न 2. प्राथमिक विद्यालय के कक्षा-कक्ष के सन्दर्भ में सक्रियबद्धता का क्या अर्थ है?

  • याद करना, प्रत्यास्मरण और सुनाना
  • शिक्षक का अनुकरण और नकल करना
  • जांच-पड़ताल करना, प्रश्न पूछना और वाद-विवाद
  • शिक्षक द्वारा दिए गए उत्तरों को नकल करना

उत्तर : 3

प्रश्न 3. बच्चे तब सर्वाधिक सृजनशील होते हैं, जब वे किसी गतिविधि में भाग लेते हैं

  • शिक्षक की डॉट से बचने के लिए
  • दूसरों के सामने अच्छा करने के दबाव में आकर
  • अपनी रुचि से
  • पुरस्कार के लिए

उत्तर : 3

प्रश्न 4. भारत में अधिकांश कक्षाएँ बहुभाषी होती हैं इसे शिक्षक द्वारा …. के रूप में देखा जाना चाहिए

  • परेशानी
  • समस्या
  • संसाधन
  • बाधा

उत्तर : 3

प्रश्न 5. शिक्षार्थियों द्वारा की गई गलतियाँ और त्रुटियाँ

  • बच्चों को कमजोर’ अथवा ‘उत्कृष्ठ’ चिह्नित करने के अच्छे अवसर हैं
  • शिक्षक और शिक्षार्थियों की असफलता के सूचक हैं
  • उनके चिन्तन को समझने के अवसर के रूप में देखी जानी चाहिए
  • कठोरता से निपटाई जानी चाहिए

उत्तर : 3

प्रश्न 6. … के विचार से बच्चे सक्रिय ज्ञान-निर्माता तथा नंन्हे वैज्ञानिक हैं, जो संसार के बारे में अपने सिद्धान्तों की रचना करते हैं।

  • स्किनर
  • युग (ब्ला)
  • पॉवलॉव
  • पियाजे

उत्तर : 4

प्रश्न 7. बाल केन्द्रित शिक्षाशास्त्र का अर्थ है

  • बच्चों को नैतिक शिक्षा देना
  • बच्चों को शिक्षक का अनुगमन और अनुकरण करने के लिए कहना
  • बच्चों की अभिव्यक्ति और उनकी सक्रिय
  • भागीदारी को महत्व देना
  • बच्चों को पूर्ण रूप से स्वतन्त्रता देना

उत्तर : 3

प्रश्न 8. जटिल परिस्थिति को संसाधित करने में शिक्षक बच्चों की सहायता कर सकता है।

  • प्रतियोगिता को बढ़ावा देकर और सबसे पहले कार्य पूरा करने वाले बच्चे को पुरस्कार देकर
  • कोई भी सहायता न देकर, जिससे बच्चे अपने आप निर्वाह करना सीखें
  • उस पर एक भाषण देकर
  • कार्य को छोटे हिस्सों में बाँटने के बाद निर्देश लिखकर

उत्तर : 4

प्रश्न 9. शिक्षार्थियों से यह अपेक्षा करना कि वे ज्ञान को उसी रूप में पुन: प्रस्तुत कर देंगे जिस रूप में उन्होंने उसे ग्रहण किया है

  • अच्छा है, क्योंकि यह के लिए आकलन में सरल है
  • एक प्रभावन है
  • समस्यात्मक है कि व्यक्ति अनुभवों की व्याख्या करते हैं और पुनः उत्पादित नहीं करते
  • अच्छा है, क्योंकि जो भी हमारे मन में है हम उसे रिकॉर्ड करने लगते है

उत्तर : 3

प्रश्न 10. जब शिक्षार्थियों को समूह में किसी पर चर्चा का अवसर दिया जाता है, तब उनके सीखने का वक्र

  • बेहतर होता है
  • स्थिर रहता है
  • अवनत होता है
  • समान रहता है

उत्तर : 1

प्रश्न 11. विकास की गति एक व्यक्ति से दूसरे में भिन्न होती है, किन्तु यह एक नमूने….. का अनुगमन करती है।

  • एड़ी-से-चोटी
  • अप्रत्याशित
  • अव्यवस्थित
  • क्रमबद्ध और व्यवस्थित

उत्तर : 4

प्रश्न 12. विकास के लिए निम्नलिखित में से कौन-सा एक उचित है?

  • विकास जन्म के साथ प्रारम्भ होता है और समाप्त होता है सामाजिक-सांस्कृतिक सन्दर्भ विकास में एक महत्त्वपूर्ण भूमिका का निर्वाह करता है
  • विकास एकल आयामी है
  • विकास पृथक् होता है

उत्तर : 2

प्रश्न 13. व्यक्तियों में एक-दूसरे से भिन्नता क्यों होती है?

  • वातावरण के प्रभाव के कारण
  • जन्मजात विशेषताओं के कारण
  • वंशानुक्रम और वातावरण के बीच अन्योन्यक्रिया के कारण
  • प्रत्येक व्यक्ति को उसके माता-पिता से जीनों का मिन्न समुच्चय प्राप्त होने के कारण

उत्तर : 3

प्रश्न 14. बच्चे के समाजीकरण में परिवार …. भूमिका निभाता है।

  • कम महत्त्वपूर्ण
  • मुख्य
  • रोमांचकारी
  • गौण

उत्तर : 2

प्रश्न 15. निम्नलिखित में से कौन-सा एक सही मिलान वाला जोड़ा है?

  • मूर्त सक्रियात्मक बच्चा-चरण एवं वर्गीकरण करने योग्य
  • औपचारिक संक्रियात्मक बच्चा-अनुकरण प्रारम्भ कल्पनात्मक खेल
  • शैशवावस्था तर्क का अनुप्रयोग और अनुमान लगाने में सक्षम
  • पूर्वसंक्रियात्मक बच्चा-निगमनात्मक विचार

उत्तर : 1

प्रश्न 16. एक बच्ची कहती है, “धूप में कपड़े जल्दी सूख जाते हैं।” वह … की समझ को प्रदर्शित कर रही है।

  • प्रतीकात्मक विचार
  • अहकेन्द्रित चिन्तन
  • कार्य-कारण
  • विपर्यय चिन्तन

उत्तर : 3

प्रश्न 17. पियाजे के अनुसार, बच्चों का चिन्तन वयस्कों से…. में भिन्न होता है बजाए….के।

  • मात्रा, प्रकार
  • आकार, मूर्तपरकता
  • प्रकार, मात्रा
  • आकार, किस्म

उत्तर : 3

प्रश्न 18. निम्नलिखित में से कौन-सा एक आधारभूत सहायता का उदाहरण है?

  • अनुबोधन और संकेत देना तथा नाजुक स्थितियों पर प्रश्न पूछना
  • शिक्षार्थियों को प्रेरित करने वाले भाषण देना
  • प्रश्न पूछने को बढ़ाया दिए बिना स्पष्टीकरण देना
  • मूर्त और अमूर्त दोनों प्रकार के उपहार देना

उत्तर : 1

प्रश्न 19. बाइगोत्स्की के अनुसार, बच्चे सीखते हैं

  • जब पुनर्बलन प्रदान किया जाता है
  • परिपक्व होने से
  • अनुकरण से
  • वयस्कों और समवयस्कों के साथ परस्पर क्रिया से

उत्तर : 4

प्रश्न 20. कोहवर्ग ने प्रस्तुत किए हैं

  • संज्ञानात्मक विकास के चरण
  • शारीरिक विकास के चरण
  • संवेगात्मक विकास के चरण
  • नैतिक विकास के चरण

उत्तर : 4

प्रश्न 21. निम्नलिखित में से कौन-सी स्थिति बालकेन्द्रित कक्षा-कक्ष को प्रदर्शित कर रही है?

  • एक कक्षा जिसमें शिक्षिका नोट लिखा देती है और शिक्षार्थियों से उन्हें याद करने को कहा जाता है
  • एक कक्षा जिसमें पाठ्य-पुस्तक एकमात्र संसाधन होता है जिसका सन्दर्भ शिक्षिका देती है
  • एक कक्षा जिसमें शिक्षार्थी समूहों में बैठे हैं और शिक्षिका बारी बारी से प्रत्येक समूह में जा रही है
  • एक कक्षा जिसमें शिक्षार्थियों का व्यवहार शिक्षिका द्वारा दिए जाने वाले पुरस्कार और दण्ड से संचालित होता हो

उत्तर : 3

प्रश्न 22. बुद्धि है

  • सामथ्र्यों का एक समुच्चय
  • एक अकेला और जातीय विचार
  • दूसरों के अनुकरण करने की योग्यता
  • एक विशिष्ट योग्यता

उत्तर : 1

प्रश्न 23. भाषा विकास के लिए प्रारम्भिक बचपन…. काल है

  • कम महत्वपूर्ण
  • अमहत्त्वपूर्ण
  • अतिसंवेदनशील
  • निरपेक्ष

उत्तर : 3

प्रश्न 24. एक सहशिक्षा कक्षा में लड़कों से शिक्षक यह कहता है, “लड़के बनो और लड़कियों जैसा व्यवहार मत करो।” यह टिप्पणी

  • जातीय भेद-भाव का परिचायक है
  • लड़के-लड़कियों के साथ व्यवहार का एक अच्छा उदाहरण है
  • लड़के लड़कियों में भेद-भाव की रूदिबद्ध धारणा प्रकट करता है
  • लड़कियों पर लड़को की जीव वैज्ञानिक महत्ता को उजागर करता है

उत्तर : 3

प्रश्न 25. आकलन

  • बच्चों को लेबल करने (नाम देने) और वर्गीकृत करने की अच्छी रणनीति है
  • बच्चों में प्रतियोगितात्मक भावना को सक्रिय रूप से बढ़ावा देना है
  • सीखने को सुनिश्चित करने के लिए तनाव और दबाव को उत्पन्न करना है।
  • सीखने में सुधार का एक तरीका है

उत्तर : 4

प्रश्न 26. निम्नलिखित में से कौन-सा एक कथन ‘समावेशन’ का सबसे अच्छा वर्णन करता है?

  • यह एक विश्वास है कि बच्चों को अपनी योग्यताओं के अनुसार अलग किया जाना चाहिए
  • यह एक विश्वास है कि कुछ बच्चे कभी कुछ सीख ही नहीं सकते
  • यह एक दर्शन है कि सभी बच्चों को नियमित विद्यालय प्रणाली में समान शिक्षा प्राप्त करने का अधिकार है
  • यह एक दर्शन हैं कि विशेष बच्चे ‘ईश्वर के विशेष उपहार’ है

उत्तर : 3

प्रश्न 27. ‘वंचित वर्ग की पृष्ठभूमि के बच्चों को शिक्षा प्रदान करने के लिए शिक्षक को चाहिए कि

  • उन्हें बहुत-सा लिखित कार्य दे
  • उनके बारे में अधिक जानकारी जुटाने का प्रयास करें और उन्हें कक्षा में होने वाली चर्चा में शामिल करें
  • उन्हें कक्षा में अलग बिठाए
  • उन पर ध्यान न दे क्योंकि वे दूसरे शिक्षार्थियों के साथ अन्तःक्रिया नहीं कर सकते

उत्तर : 2

प्रश्न 28. निम्नलिखित में से कौन-सा व्यवहार बच्चे को अधिगम-निर्योग्यता की पहचान करता है?

  • मनोभाव का जल्दी-जल्दी बदलना (मूडस्विंग्स)
  • अपमानजनक व्यवहार
  • ‘b’ को ‘d’, ‘was’ को ‘saw, ’21’ को ’12’ लिखना
  • कम अवधान-विस्तार और उच्च शारीरिक गतिविधि

उत्तर : 1

प्रश्न 29. एक बच्चा जो आंशिक रूप से देख सकता है

  • बिना किसी विशेष प्रावधान के उसे ‘नियमित’ विद्यालय में डालना चाहिए।
  • उसे शिक्षा नहीं देनी चाहिए, क्योंकि वह उसके किसी काम नहीं आएगी
  • उसे अलग संस्थान में डालने की आवश्यकता है
  • विशेष प्रावधान करते हुए उसे ‘नियमित’ विद्यालय में रखना चाहिए

उत्तर : 4

प्रश्न 30. सीखना

  • सीखने वाले के संवेगों से प्रभावित नहीं होता है
  • संवेगों से क्षीण सम्बन्ध रखता है
  • सीखने वाले के संवेगों से स्वतन्त्र है

उत्तर : 4

आशा है आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी पसंद आई होगी, यूपीटीईटी परीक्षा से जुड़े लेटेस्ट अपडेट्स हेतु सरकारी अलर्ट को बुकमार्क जरूर करें।

  1. सर जी प्रश्न नंबर.22 को एक्सप्लेन कर दीजिये… 🙏प्लीज

    Reply
Leave a Comment