UPTET बाल विकास एवं शिक्षा शास्त्र प्रैक्टिस सेट 01 : परीक्षा में बैठने से पहले इन 30 महत्वपूर्ण प्रश्नों का करें अध्ययन

UPTET Child Development And Pedagogy Practice Set 01 : UPTET की परीक्षा 28 नवंबर को आयोजित होनी थी लेकिन पेपर लीक हो जाने के वजह से पूरी परीक्षा प्रक्रिया को बीच मे ही रद्द करना पड़ा, अब इसकी परीक्षा 23 जनवरी 2022 को आयोजित कराई जानी है। इस परीक्षा के अभ्यर्थी अपनी पूरी मेहनत से तैयारी में लगें हुए हैं।

ऐसे में इस लेख के जरिये हम आपको UPTET के परीक्षा में पूछे गए विगत वर्षों के बाल विकास एवं शिक्षा शास्त्र के 30 महत्वपूर्ण प्रश्नों से अवगत कराएंगे, जिसका अध्ययन कर के आप अपनी तैयारी को और भी मजबूती प्रदान कर सकतें हैं।

UPTET Child Development And Pedagogy Practice Set 01
UPTET Child Development And Pedagogy Practice Set 01

UPTET Child Development And Pedagogy Practice Set 01

प्रश्न : विद्यार्थियों में सम्प्रत्यात्मक विकास को प्रोत्साहन देने के लिए निम्नलिखित में से कौन-सी विधि सबसे प्रभावी है?

  • यदि करने के लिए कहकर विद्यार्थियों के गलत विचारों को सही विचारों में बदलना
  • विद्यार्थियों को बहुत-से उदाहरण देना और उन्हें तर्कशक्ति का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करना
  • जब तक विद्यार्थियों में वाँछित सम्प्रत्यात्मक परिवर्तन न हो जाए, तब तक दण्ड का उपयोग करना
  • पुराने प्रत्ययों से किसी सन्दर्भ के बिना नये प्रत्ययों को अपने आप समझा जाना चाहिए

उत्तर : 2

प्रश्न : प्राथमिक विद्यालय के बच्चे उस वातावरण में सबसे प्रभावी ढंग से सीखेंगे

  • जहाँ शिक्षक एकाधिकारवादी है और स्पष्ट आदेश देता है कि क्या किया जाना चाहिए
  • जहाँ मूलरूप से पढ़ने लिखने और गणित की संज्ञानात्मक कुशलताओं पर ही ध्यान का केन्द्र होता है और बल दिया जाता है
  • जहाँ शिक्षक सारे अधिगमों में आगे होता है और विद्यार्थियों से निष्क्रिय रहने की अपेक्षा करता है
  • जहाँ उनकी संवेगात्मक आवश्यकताओं की पूर्ति होती है और वे अनुभव करते हैं कि वे महत्त्वपूर्ण हैं

उत्तर : 4

प्रश्न : एक बच्चा खिड़की के सामने से एक कौवे को उड़ता हुआ देखता है और कहता है, “एक पक्षी।” इससे बच्चे के विचार के बारे में क्या पता चलता है?
A. बच्चे की स्मृतियाँ पहले से भण्डारित होती हैं।
B बच्चे में ‘पक्षी’ का प्रत्यय विकसित हो चुका है।
C. बच्चे ने अपने अनुभव बताने के लिए भाषा के कुछ उपकरणों का विकास कर लिया है।

  • B और C
  • केवल B
  • A, B और C
  • A और B

उत्तर : 3

प्रश्न :निम्नलिखित में से कौन-सी विशेषता प्रतिभावान शिक्षार्थी की है?

  • यदि कक्षा की गतिविधियाँ अधिक चुनौतीपूर्ण नहीं होती हैं, तो वह कम प्रेरित अनुभव करता है और ऊब जाता है
  • वह बहुत ही तुनकमिज़ाज होता है।
  • वह रस्मी व्यवहार करता है जैसे हाथ थपथपाना, डोलना आदि
  • वह आक्रामक और कुण्ठित हो जाता है।

उत्तर : 1

प्रश्न : एक शिक्षिका अपनी प्राथमिक कक्षा में प्रभावी अधिगम को बढ़ा सकती है

  • ड्रिल और अभ्यास के द्वारा
  • अपने विद्यार्थियों में प्रतियोगिता को प्रोत्साहन देकर
  • विषय-वस्तु को विद्यार्थियों के जीवन के साथ सम्बन्धित करके
  • अधिगम में छोटी छोटी उपलब्धियों के लिए पुरस्कार देकर

उत्तर : 3

प्रश्न : बच्चों के बारे में निम्नलिखित कथनों में से कौन-से सही हैं?
A. बच्चे जानकारी के निष्क्रिय प्राप्तकर्ता हैं।
B. बच्चे समस्या समाधानकर्ता हैं।
C. बच्चे वैज्ञानिक शोधकर्ता हैं।
D. बच्चे पर्यावरण के सक्रिय अन्वेषक हैं।

  • B, C और D
  • A, B और C
  • A, B, C और D
  • A, B और D

उत्तर : 1

प्रश्न : कोई शिक्षिका अपने विद्यार्थियों को ऐसा क्या कहे कि उन्हें भीतरी प्रेरणा के साथ कार्य करने के लिए प्रोत्साहित कर सके?

  • “तुम उसके जैसे क्यों नहीं हो सकते? देखो, उसने इसे एकदम ठीक कर दिया।”
  • “काम जल्दी पूरा करो तो तुम्हें एक टॉफी मिलेगी।”
  • इसे करने की कोशिश करो और तुम सीख जाओगे, में सीखना विद्यार्थी की ऑनरिक प्रेरणा है, जबकि किसी से पहले कार्य समाप्त कर प्रेरित करने में कार्य करने वाला व्यक्ति बाहरी प्रेरणा के रूप में कार्य कर रहा है।
  • “चलो, इसे उसके करने से पहले समाप्त कर लो।”

उत्तर : 3

प्रश्न : कोई शिक्षिका अपने विद्यार्थियों को अध्ययन करने हेतु आन्तरिक रूप से उत्प्रेरित करने के लिए कैसे प्रोत्साहित कर सकती है?

  • प्रतियोगितात्मक परीक्षण से
  • व्यक्तिगत लक्ष्य निर्धारित करने और उनमें निपुणता पाने उन्हें मदद देकर
  • साफ दिखाई पड़ने वाले इनाम देकर, जैसे टॉफी
  • उनमें चिन्ता और डर पैदा करके

उत्तर : 2

प्रश्न : किसी प्रारम्भिक कक्षा में प्रभावशाली शिक्षक का उद्देश्य विद्यार्थियों को उत्प्रेरित करना होगा

  • रटकर याद करने के लिए जिससे वे प्रत्यास्मरण करने में अच्छे बने
  • दण्डात्मक उपायों का प्रयोग करके जिससे वे शिक्षक का सम्मान करें
  • ऐसे काम करने के लिए जिससे परीक्षा के अन्त में वे अच्छे अंक पा सकें
  • सीखने के लिए, जिससे वे जिज्ञासु बनें और सीखने के लिए ही सीखना पसन्द करें

उत्तर : 4

प्रश्न : निम्नलिखित में से कौन-सा उदाहरण प्रभावशाली विद्यालय की प्रथा का है?

  • शारीरिक दण्ड
  • प्रतियोगितात्मक कक्षा
  • व्यक्ति सापेक्ष अधिगम
  • निरन्तर तुलनात्मक मूल्यांकन

उत्तर : 3

प्रश्न : निम्नलिखित में कौन-से समाजीकरण के गौण वाहक हो सकते हैं?

  • विद्यालय और पास-पड़ोस
  • विद्यालय और निकटतम परिवार के सदस्य
  • परिवार और रिश्तेदार
  • परिवार और पास-पड़ोस

उत्तर : 1

प्रश्न : लेव वाइगोत्स्की के अनुसार, संज्ञानात्मक विकास का मूल कारण है

  • सामाजिक अन्योन्यक्रिया
  • मानसिक प्रारूपों (स्कीमाज) का समायोजन
  • उद्दीपक-अनुक्रिया युग्मन
  • सन्तुलन

उत्तर : 1

प्रश्न : किसी बच्चे का दिया गया विशिष्ट उत्तर कोहबर्ग के नैतिक तर्क के सोपानों की विषय-वस्तु के किस सोपान के अन्तर्गत आएगा?
“यदि आप ईमानदार हैं, तो आपके माता-पिता आप पर गर्व करेंगे, इसलिए आपको ईमानदार रहना चाहिए।”

  • सामाजिक संकुचन अनुकूलन
  • अच्छी लड़की- अच्छा लड़का अनुकूलन
  • कानून और व्यवस्था अनुकूलन
  • दण्ड-आज्ञाकारिता अनुकूलन

उत्तर : 2

प्रश्न : विकास का शिर: पदाभिमुख दिशा सिद्धान्त व्याख्या करता कि विकास इस प्रकार आगे बढ़ता है

  • भिन्नों से एकीकृत कार्यों की ओर
  • सिर से पैर की ओर
  • ग्रामीण से शहरी क्षेत्रों की ओर
  • सामान्य से विशिष्ट कार्यों की ओर

उत्तर : 2

प्रश्न : भाषा विकास के लिए सबसे संवेदनशील समय निम्नलिखित में से कौन-सा है?

  • मध्य बचपन का समय
  • वयस्कावस्था
  • प्रारम्भिक बचपन का समय
  • जन्मपूर्व का समय

उत्तर : 3

प्रश्न : एक 6 वर्ष की लड़की खेलकूद में असाधारण योग्यता का प्रदर्शन करती है। उसके माता-पिता दोनों ही खिलाड़ी हैं, उसे नित्य प्रशिक्षण प्राप्त करने भेजते हैं। सप्ताहांत में उसे प्रशिक्षण देते हैं। बहुत सम्भव है कि उसकी क्षमताएँ निम्नलिखित दोनों के बीच परस्पर प्रतिक्रिया का परिणाम होंगी

  • वृद्धि और विकास
  • स्वास्थ्य और प्रशिक्षण
  • अनुशासन और पौष्टिकता
  • आनुवंशिकता और पर्यावरण

उत्तर : 4

प्रश्न : जीन पियाजे के अनुसार, अधिगम के लिए निम्नलिखित में से क्या आवश्यक है?

  • वयस्कों के व्यवहार का अवलोकन
  • ईश्वरीय न्याय पर विश्वास
  • शिक्षकों और माता-पिता द्वारा पुनर्बलन
  • शिक्षार्थी के द्वारा पर्यावरण की सक्रिय खोजबीन

उत्तर : 4

प्रश्न : जीन पियाजे के अनुसार, प्रारूप (स्कीमा) निर्माण वर्तमान योजनाओं के अनुरूप बनाने हेतु नवीन जानकारी में संशोधन और नवीन जानकारी के आधार पर पुरानी योजनाओं में संशोधन के परिणाम के रूप में घटित होता है। इन दो प्रक्रियाओं को जाना जाता है

  • समावेशन और अनुकूलन के रूप में
  • साम्यीकरण और संशोधन के रूप में
  • समावेशन और समायोजन के रूप में
  • समायोजन और अनुकूलन के रूप में

उत्तर : 3

प्रश्न : किसी प्रगतिशील कक्षा की व्यवस्था में शिक्षक एक ऐसे वातावरण को उपलब्ध कराकर अधिगम को सुगम बनाता है, जो

  • नियामक है
  • समावेशन को हतोत्साहित करता है
  • आवृत्ति को बढ़ावा देता है
  • खोज को प्रोत्साहन देता है

उत्तर : 4

प्रश्न : लेव वाइगोत्स्की के समाज संरचना सिद्धान्त में दृढ़ विश्वास रखने वाले शिक्षक के नाते आप अपने बच्चों के आकलन के लिए निम्नलिखित में से किस विधि को वरीयता देंगे?

  • मानकीकृत परीक्षण
  • तथ्यों पर आधारित प्रत्यास्मरण के प्रश्न
  • वस्तुपरक बहुविकल्पीय प्रकार के प्रश्न
  • सहयोगी प्रोजेक्ट

उत्तर : 4

प्रश्न : अपनी कक्षा की वैयक्तिक भिन्नताओं से निपटने के लिए शिक्षक को चाहिए कि

  • बच्चों को उनके अंकों के आधार पर अलग कर उनको नामित करे
  • बच्चों से बातचीत करे और उनके दृष्टिकोण को महत्त्व दे
  • विद्यार्थियों के लिए कठोर नियमों को लागू करे
  • शिक्षण और आकलन के समान और मानक तरीके हो

उत्तर : 2

प्रश्न : आकलन उद्देश्यपूर्ण होता है यदि

  • इससे विद्यार्थियों और शिक्षकों को प्रतिपुष्टि (फीडबैक) प्राप्त हो
  • यह केवल एक बार वर्ष के अन्त में हो
  • विद्यार्थियों की उपलब्धियों में अन्तर करने के लिए तुलनात्मक मूल्यांकन किया जाएँ
  • इससे विद्यार्थियों में भय और तनाव का संचार हो

उत्तर : 1

प्रश्न : हॉवर्ड गार्डनर का बहुबुद्धि सिद्धान्त सुझाता है कि

  • बुद्धि को केवल बुद्धिलब्धि (IQ) परीक्षा से ही निर्धारित किया जा सकता है
  • शिक्षक को चाहिए कि विषय-वस्तु को वैकल्पिक विधियों से पढ़ाने के लिए बहुबुद्धियों को एक रूपरेखा की तरह ग्रहण करे
  • क्षमता भाग्य है और एक अवधि के भीतर नहीं बदलती
  • हर बच्चे को प्रत्येक विषय आठ भिन्न तरीकों से पढ़ाया जाना चाहिए ताकि सभी बुद्धियाँ विकसित हों

उत्तर : 2

प्रश्न : कोई 5 साल की लड़की एक टी-शर्ट को तह करते हुए अपने आप से बात करती है। लड़की द्वारा प्रदर्शित व्यवहार के सन्दर्भ में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सही है?

  • जीन पियाजे इसे अहंकेन्द्रित भाषा कहेगा और लेव वाइगोत्स्की इसकी व्याख्या बच्चे के द्वारा निजी भाषा से अपनी क्रियाओं को नियमित करने के प्रयासों के रूप में करेगा
  • जीन पियाजे इसकी व्याख्या सामाजिक अन्योन्यक्रिया के रूप में करेगा और लेव वाइगोत्स्की इसे खोजबीन मानेगा
  • जीन पियाजे और लेव वाइगोत्स्की इसकी व्याख्या बच्चे के द्वारा अपनी माँ के अनुकरण के रूप में करेंगे
  • जीन पियाजे और लेव वाइगोत्स्की इसकी व्याख्या बच्चे के विचारों की अहंकेन्द्रित प्रकृति के रूप में करेंगे

उत्तर : 1

प्रश्न : ‘लिंग’ है

  • शारीरिक संरचना
  • सहज गुण
  • सामाजिक संरचना
  • जैविक सत्ता

उत्तर : 3

प्रश्न : राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा (एन सी एफ) 2005 के अनुसार शिक्षक की भूमिका है

  • अधिनायकीय
  • सुविधादाता
  • अनुमतिपरक
  • सत्तावादी

उत्तर : 2

प्रश्न : अनुसन्धान सुझाते हैं कि एक विविध कक्षा में अपने विद्यार्थियों से शिक्षिका की अपेक्षाएँ विद्यार्थियों के अधिगम

  • का एकमात्र निर्धारक होती हैं
  • के साथ सम्बन्धित नहीं मानी जानी चाहिए
  • पर कोई प्रभाव नहीं छोड़ती
  • पर महत्त्वपूर्ण प्रभाव छोड़ती हैं

उत्तर 4

प्रश्न : विशेष आवश्यकता वाले बच्चों को शामिल करना

  • जिनमें अक्षमता न हो, उन बच्चों के लिए हानिकारक है
  • विद्यालयों पर भार बढ़ा देगा
  • शिक्षण के प्रति दृष्टिकोण, विषय-वस्तु और धारणा परिवर्तन की अपेक्षा रखता है
  • एक काल्पनिक लक्ष्य है।

उत्तर : 3

प्रश्न : सुनने में असमर्थ बच्चा

  • केवल अकादमिक शिक्षा से लाभ नहीं उठा पाएगा, उसे उसके स्थान पर व्यावसायिक शिक्षा दी जानी चाहिए
  • नियमित विद्यालय में बहुत अच्छा कर सकता है यदि उसे उपयुक्त सुविधा और साधन उपलब्ध कराए जाएँ
  • नियमित विद्यालय में अपने सहपाठियों के समान कभी प्रदर्शन नहीं कर सकेगा
  • श्रवण असमर्थता वाले बच्चों के विद्यालय में ही भेजा जाना चाहिए, नियमित विद्यालय में नहीं

उत्तर : 2

प्रश्न : “विविध प्रकार की सामाजिक, आर्थिक और सांस्कृतिक पृष्ठभूमि के बच्चों से युक्त कक्षा सभी विद्यार्थियों के अधिगम अनुभवों को बढ़ाती है।” यह कथन है

  • सही, क्योंकि बच्चे अपने साथियों से अनेक कौशल सीखते हैं
  • सही, क्योंकि इससे कक्षा अधिक श्रेणीबद्ध दिखाई देती है
  • गलत, क्योंकि यह अनावश्यक स्पर्धा की ओर ले जाता है।
  • गलत, क्योंकि यह बच्चों के लिए दुविधा उत्पन्न कर सकता है और वे स्वयं को अलग-थलग महसूस कर सकते हैं

उत्तर : ?

इस प्रश्न का सही उत्तर क्या होगा? हमें अपना जवाब कमेंट सेक्शन में जरूर दें।

आशा है आपको यह प्रैक्टिस सेट पसंद आया होगा, सरकारी परीक्षाओं से जुड़ी हर जानकरियों हेतु सरकारी अलर्ट को बुकमार्क जरूर करें।

Leave a Comment