UP Lekhpal Exam 2022 हिंदी भाषा प्रैक्टिस सेट 06 : परीक्षा में सफलता प्राप्त करने हेतु अवश्य अध्ययन करें

UP Lekhpal Hindi Practice Set 06 : उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UPSSSC) द्वारा उत्तर प्रदेश में लेखपाल के लिए 8085 रिक्त पदों पर भर्ती हेतु अधिसूचना जारी की गई थी और इसकी परीक्षा 24 जुलाई 2022 को होना सुनिश्चित किया गया था परन्तु किसी अपरिहार्य कारणों के वजह से परीक्षा को स्थगित करना पड़ा था लेकिन आयोग के द्वारा हाल ही में एक नई परीक्षा तिथि जारी की गई है जो 31 जुलाई 2022 है और आयोग के द्वारा इस भर्ती हेतु एडमिट कार्ड जारी कर दिया गया हैं।

जैसा की आपको पता है लेखपाल भर्ती परीक्षा में अब बहुत कम ही दिन शेष बचे हैं और ऐसे में परीक्षा के अंतिम दिनों में प्रैक्टिस सेट का अध्ययन करना अभ्यर्थियों के लिए अच्छा साबित हो सकता है। आज हम आपको हिंदी भाषा के कुछ महत्वपूर्ण प्रश्नों से अवगत कराने जा रहें हैं जो लेखपाल भर्ती परीक्षा के परिपेक्ष्य से बहुत ही महत्वपूर्ण हैं इसलिए अभ्यर्थी इन प्रश्नों को जरूर पढ़ें।

UP Lekhpal Hindi Practice Set 06
UP Lekhpal Hindi Practice Set 06

UP Lekhpal Hindi Practice Set 06

प्रश्न.’अर्जन’ शब्द का विलोम है-

  • अर्जित
  • व्ययन
  • अमृत
  • अनर्थ

उत्तर: 2

प्रश्न. अनुचित विकल्प जोड़ा कौन-सा है?

  • अनुराग-विराग
  • उन्नत उन्नति
  • कटु-मधुर
  • अल्पज्ञ – बहुज्ञ

उत्तर: 2

प्रश्न. जिसके बराबर कोई न हो:

  • विलक्षण
  • अनुपम
  • असाधारण
  • लोकातीत

उत्तर: 2

प्रश्न. दिये गये वाक्यांश के लिए एक शब्द का चयन कीजिए। पूरब और उत्तर के बीच की दिशा-

  • आग्नेय
  • ईशान
  • वायव्य
  • नैऋत्य

उत्तर: 2

प्रश्न. निम्नलिखित में से कौन सा ‘किरण’ का पर्यायवाची शब्द नहीं है?

  • मरीचि
  • पुष्कर
  • रश्मि
  • दीप्ति

उत्तर: 2

प्रश्न. शुद्ध वर्तनी चुनिए-

  • समसान
  • शमशान
  • श्मशान
  • स्मशान

उत्तर: 3

प्रश्न. इनमें से शुद्ध वर्तनी का शब्द है

  • ज्योत्सना
  • ज्योत्स्ना
  • ज्योतसना
  • ज्योत्स्ना

उत्तर: 2

प्रश्न. अंधे के हाथ बटेर लगना-

  • अंधा भी अपना लक्ष्य प्राप्त कर सकता है
  • अंधेरे में कोई वस्तु मिल जाना
  • अपात्र को बड़ी सफलता मिलना
  • मुसीबत पर मुसीबत आना

उत्तर: 3

प्रश्न. “खराद पर चढ़ना” का अर्थ कौन सा विकल्प है?

  • शत्रु के आमने-सामने आना
  • कठिनाई में पड़ना
  • जाँच में आना
  • सच्चाई का सामना करना

उत्तर: 3

प्रश्न. दिए गए विकल्पों में से सही का चयन कर रिक्त
स्थान भरें

विचार तो सबके भीतर होते हैं, लेकिन उन विचारों को एक………. देना हर किसी के बस की बात नहीं।

  • दिशा
  • मार्ग
  • पुष्टि
  • दृढ़ता

उत्तर: 1

प्रश्न. रिक्त स्थान की पूर्ति कीजिये

केले …… छिलकों …..सब्जी खाइए।

  • के, की
  • का, का
  • के, का
  • की, का

उत्तर: 1

प्रश्न. रिक्त स्थान भरें: चेहरा हमारे विचारों का ……. है जो वही दिखाता है जो ……. है।

  • मन, दौड़ता
  • चित्र, असत्य
  • उल्लंघन, जागृत
  • दर्पण, सच

उत्तर: 4

प्रश्न. सरकारी कर्मचारियों को चाहिए कि वे उचित से आवेदन करें

  • अधिकार
  • विचार
  • माध्यम
  • प्रकार

उत्तर: 3

प्रश्न. तुम कहाँ जा रहे हो? वाक्य का प्रकार स्पष्ट कीजिए:

  • विधिवाचक वाक्य
  • प्रश्नवाचक वाक्य
  • निषेधवाचक वाक्य
  • विस्मयवाचक वाक्य

उत्तर: 2

प्रश्न. ‘वह दंड से बचना चाहता था, इसलिए भाग गया।’ यह एक संयुक्त वाक्य है। इसका सरल रूप होगा-

  • क्योंकि वह दंड से बचना चाहता था इसलिए भाग गया।
  • दंड से बचने के लिए वह भाग गया।
  • वह भाग गया क्योंकि दंड से बचना चाहता था।
  • वह भागा क्योंकि उसे दंड से बचना था।

उत्तर: 2

प्रश्न. संधि के तीन भेद होते हैं- स्वर संधि …… संधि और …….
संधि।

  • व्यंजन, विसर्ग
  • यण, अयादि
  • व्यंजन, यण
  • अयादि, व्यंजन

उत्तर: 1

प्रश्न. “हितैषी” का सन्धि-विच्छेद क्या होगा?

  • हिते + षी
  • हित + एषी
  • हितेष + ई
  • हित + षी

उत्तर: 2

प्रश्न. ‘परमेश्वर’ में कौन सा समास है?

  • कर्मधारय
  • द्वंद्व
  • अव्ययीभाव
  • तत्पुरूष

उत्तर: 1

प्रश्न. भीष्म पितामह ने आजीवन शादी न करने का प्रण लिया था। रेखांकित शब्द का समास होगा :

  • अव्ययीभाव समास
  • तत्पुरूष समास
  • कर्मधारय समास
  • द्विगु समास

उत्तर: 1

प्रश्न. ‘खग कुल कुल-कुल सा बोल रहा’ रेखांकित शब्दों का अलंकार है

  • यमक
  • श्लेष
  • उपमा
  • रूपक

उत्तर: 1

प्रश्न. ‘हथियाना’ में कौन सा क्रिया है?

  • प्रेरणार्थक
  • संयुक्त
  • अनुकरणात्मक
  • नामधातु

उत्तर: 4

प्रश्न. निर्देश काव्यांश को पढ़कर निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिए।

ओह, समय पर उनमें कितनी फलियाँ फूटी ! कितनी सारी फलियाँ, कितनी प्यारी फलियाँ, यह, धरती कितना देती है! धरती माता कितना देती है अपने प्यारे पुत्रों को!
न समझ पाया था मैं उसके महत्व को, बचपन में छि: स्वार्थ लोभ वश पैसे बोकर! रत्न प्रसविनी है वसुधा, अब समझ सका हूँ! इसमें सच्ची समता के दाने बोने है, इसमें जन की क्षमता के दाने बोने है, जिससे उगल सके फिर धूल सुनहली फसलें मानवता की – जीवन श्रम से हँसें दिशाएँ । हम जैसा बोएँगे वैसा ही पाएँगे।

प्रश्न. कवि किसका महत्व नहीं समझ पाया था?

  • माँ का
  • धरती माँ का
  • परिश्रम का
  • बचपन का

उत्तर: 2

प्रश्न. मानवता की सुनहली फसलें कब उगेंगी?

  • जब हम परिश्रम करेंगे
  • जब समता और क्षमता के बीज बोए जाएगें।
  • जब चारों ओर शांति होगी
  • जब धूल सोना उगलेगी

उत्तर: 2

प्रश्न. कवि ने बचपन में किस भाव से पैसे बोए थे?

  • नि:स्वार्थ भाव से
  • सोचविचार से
  • स्वार्थ एवं लोभ से
  • मोह से

उत्तर: 3

प्रश्न. ‘आँख’ का पर्यायवाची है-

  • लोचन
  • पावक
  • वसन
  • प्रभा

उत्तर : ?

इस प्रश्न का सही उत्तर क्या होगा? नीचे कमेंट करके जरूर बताएं।

कमेन्ट करें