SSC CGL Syllabus, Exam Pattern Full Details in Hindi 2020

SSC CGL Syllabus 2019

SSC CGL 2019 का बिगुल बज चुका है, अभ्यर्थी इसके लिए जी जान से तैयारियों में जुट चुके हैं। इसलिए हम आपके लिए SSC CGL Syllabus लेकर आये हैं। SSC CGL 2019 का ऑनलाइन आवेदन 22 अक्टूबर 2019 से शुरू होकर 25 नवंबर 2019 तक चलेगा।

इसके अलावा इस आवेदन के ऑनलाइन भुगतान के लिए आखिरी तारीख 27 नवंबर और ऑफलाइन भुगतान के लिए 29 नवंबर तक तारीख तय की गई है। इस भर्ती की परीक्षा अगले साल की पहली तिमाही में होने की पूरी उम्मीद है, ऐसे में अभ्यर्थियों के पास समय काफी कम है। इसलिए इस लेख में हम आपको SSC CGL 2019 (एसएससी सीजीएल 2019) के परीक्षा प्रारूप (Exam Pattern) और इसके सिलेबस के बारे में बताने जा रहे हैं।

एसएससी सीजीएल की परीक्षा का प्रतिरूप (SSC CGL Exam Pattern)

SSC CGL 2019 Syllabus जानने से पहले आपको इस परीक्षा का प्रतिरूप यानी कि एग्जाम पैटर्न जानना बेहद ही जरूरी है, जिससे कि आप अपनी तैयारी एक क्रम से कर सकें। दरअसल स्टाफ सेलेक्शन कमीशन (SSC) कंबाइंड ग्रेजुएट लेवल (CGL) की परीक्षा को चार चरणों में आयोजित करता है, जो Tier- 1, Tier- 2, Tier- 3, Tier- 4 के रूप में आयोजित की जाती है। ऐसे में आपको SSC CGL की पोस्ट्स के हिसाब से प्रत्येक चरणों को अच्छे नंबरों से उत्तीर्ण करना होता है। ऐसे में इस लेख के जरिये हम आपको इन सभी चरणों के परीक्षा प्रारूपों (Exam Pattern) के बारे में आपको बताने जा रहे हैं।

एसएससी सीजीएल (SSC CGL) एग्जाम पैटर्न Tier- 1 और Tier- 2

टियर- 1 और टियर- 2 में ऑब्जेक्टिव टाइप, मल्टीपल चॉइस के प्रश्न शामिल होंगे प्रश्न अंग्रेजी और हिंदी दोनों में सेट किए जाएंगे हालांकि अंग्रेजी कंपेरहेंसिव सिर्फ अंग्रेजी में ही होगा। इसके अलावा टियर -1 में, प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.50 की निगेटिव मार्किंग होगी। टियर- 2 में, प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.25 की निगेटिव मार्किंग होगी। पेपर- II (अंग्रेजी भाषा और समझ) और पेपर- I, पेपर- III और पेपर- IV में प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.50 की निगेटिव मार्किंग होगी।
इसके अलावा टियर- II का पेपर- III केवल उन्हीं उम्मीदवारों के लिए होगा जो सांख्यिकी मंत्रालय में जूनियर सांख्यिकी अधिकारी (JSO) के पद और कार्यक्रम कार्यान्वयन और सांख्यिकीय अन्वेषक ग्रेड- II में भारत के रजिस्ट्रार जनरल का कार्यालय, (एम / ओ होम अफेयर्स) के लिए आवेदन करते हैं।
टियर- II में, पेपर- 4 केवल उन उम्मीदवारों के लिए होगा, जिन्हें टीयर- 1 यानी असिस्टेंट ऑडिट ऑफिसर / असिस्टेंट के पदों के लिए शॉर्टलिस्ट किया गया है।

एसएससी सीजीएल (SSC CGL) एग्जाम पैटर्न Tier- 3

टियर- 3 के पेपर को हिंदी में या अंग्रेजी में लिखना होगा। हिंदी में लिखे गए भाग के पेपर और अंग्रेजी के भाग को शून्य अंक से सम्मानित किया जाएगा। इसके अलावा टियर- 3 में, उम्मीदवारों को अपना सही रोल नंबर लिखना होगा। उत्तर पुस्तिका के कवर पेज पर निर्धारित स्थान पर हस्ताक्षर और बाएं हाथ के अंगूठे का निशान भी चिपकाएं। इसके अलावा उम्मीदवारों को कड़ाई से सलाह दी जाती है कि वे कोई भी व्यक्तिगत पहचान न लिखें। उत्तर पुस्तिका के अंदर रोल नंबर, मोबाइल नंबर, पता आदि भी नहीं लिखना है, और जो उम्मीदवार इन निर्देशों का पालन करने में विफल होंगे, उन्हें मूल्यांकन के दौरान शून्य अंक दिए जाएंगे।
एसएससी सीजीएल (SSC CGL) एग्जाम पैटर्न Tier- 4
टियर- 4 में, कंप्यूटर प्रवीणता टेस्ट और डाटा एंट्री स्किल टेस्ट होगा आयोजित किया जाएगा। इस दौरान आपके पास कम्प्यूटर की दक्षता होनी बिल्कुल आवश्यक है।

एसएससी सीजीएल सिलेबस (SSC CGL Syllabus) Tier- 1


जनरल इंटेलिजेंस एंड रीजनिंग: इसमें मौखिक और गैर-मौखिक दोनों प्रकार के प्रश्न शामिल होंगे। इसमें अनुरूपता, समानता और अंतरिक्ष दृश्य, स्थानिक अभिविन्यास, समस्या समाधान, विश्लेषण, निर्णय, दृश्य स्मृति, भेदभाव, अवलोकन, संबंध अवधारणाएं, अंकगणित, तर्क और आलंकारिक वर्गीकरण, अंकगणितीय संख्या श्रृंखला, गैर-मौखिक श्रृंखला, कोडिंग और डिकोडिंग, स्टेटमेंट निष्कर्ष, सिलियोलिस्टिक तर्क, शब्दार्थ सादृश्य, प्रतीकात्मक / संख्या सादृश्य, चित्र सादृश्य, शब्दार्थ वर्गीकरण, प्रतीकात्मक / संख्या, वर्गीकरण, आंकड़े वर्गीकरण, शब्दार्थ श्रृंखला, संख्या श्रृंखला, फिगरल सीरीज़, प्रॉब्लम सॉल्विंग, वर्ड बिल्डिंग, कोडिंग और डी-कोडिंग, संख्यात्मक संचालन, प्रतीकात्मक संचालन, रुझान, अंतरिक्ष अभिविन्यास,
अंतरिक्ष विज़ुअलाइज़ेशन, वेन आरेख,छोटे और बड़े अक्षर / नंबर कोडिंग, डिकोडिंग और वर्गीकरण, एंबेडेड आंकड़े, महत्वपूर्ण सोच, इमोशनल इंटेलिजेंस, सोशल इंटेलिजेंस, पासा, दिशा परीक्षण आदि से प्रश्न आ सकते हैं।

जनरल अवेयरनेस (सामान्य जागरूकता):

इस घटक के प्रश्न उम्मीदवारों नके अपने और उसके आस-पास के पर्यावरण के बारे में सामान्य जागरूकता के परीक्षण के उद्देश्य से होंगे। इसके तहत वर्तमान घटनाओं और भारत और इसके संबंधित प्रश्न भी शामिल होंगे। इसके अलावा पड़ोसी देश विशेष रूप से इतिहास, संस्कृति, भूगोल, आर्थिक दृश्य, सामान्य नीति और वैज्ञानिक अनुसंधान से सम्बंधित प्रश्न इसके तहत पूछे जा सकते हैं।

गणित (मात्रात्मक योग्यता) :

प्रश्नों को क्षमता का परीक्षण करने के लिए डिज़ाइन किया जाएगा। इसके तहत दशमलव, संख्याओं के बीच अंश और संबंध, प्रतिशत, अनुपात और समानुपात, वर्गमूल, लाभ, ब्याज, लाभ और हानि, छूट, साझेदारी व्यापार, मिश्रण और दायित्व, समय और दूरी, समय और काम, बीजजगणित और प्राथमिक करणी की मूल बीजगणितीय पहचान, रैखिक समीकरण, त्रिभुज और इसके विभिन्न प्रकार के केंद्रों के रेखांकन, वृत्त और उसके जीवाओं की स्पर्शरेखा और समानता, एक वृत्त के जीवा द्वारा समांतर कोण, दो या दो से अधिक सामान्य स्पर्शरेखाएँ, वृत्त, त्रिभुज, चतुर्भुज, नियमित बहुभुज, वृत्त, प्रिज्म, राइट सर्कुलर कोन, राइट सर्कुलर सिलिंडर, स्फीयर, हेमिस्फेयर, आयताकार समानांतर चतुर्भुज, त्रिकोणमितीय अनुपात, डिग्री और रेडियन माप, मानक पहचान, पूरक कोण, ऊँचाई और दूरियाँ, हिस्टोग्राम, फ्रीक्वेंसी बहुभुज, बार आरेख और पाई चार्ट से प्रश्न पूछे जाएंगे।

अंग्रेजी (English Comprehensive):

इसके तहत उम्मीदवार की अंग्रेजी समझने की क्षमता, उसकी बुनियादी समझ और लेखन क्षमता का परीक्षण किया जाएगा। अंग्रेजी की परीक्षा का मानक स्तर 10वीं तक का होगा।

एसएससी सीजीएल सिलेबस (SSC CGL Syllabus) Tier- 2

पेपर- I गणित (क्वांटिटेटिव एबिलिटीज):

इसके तहत दशमलव, अंश और संख्या, प्रतिशत, अनुपात और समानुपात, वर्गमूल, लाभ, ब्याज, लाभ और हानि, छूट, साझेदारी व्यापार, मिश्रण, समय और दूरी, समय और काम, बीज-गणित और प्राथमिक surds की मूल बीजगणितीय पहचान, रैखिक समीकरण, त्रिभुज और इसके विभिन्न प्रकार के केंद्रों के रेखांकन, एक वृत्त के जीवा द्वारा समांतर कोण, दो या दो से अधिक सामान्य स्पर्शरेखाएँ, वृत्त, त्रिभुज, चतुर्भुज, नियमित बहुभुज, वृत्त, प्रिज्म, राइट सर्कुलर कोन, राइट सर्कुलर सिलिंडर, स्फीयर, हेमिस्फेयर, आयताकार समानांतर चतुर्भुज, त्रिकोणमितीय अनुपात, डिग्री और रेडियन माप, मानक, पहचान, पूरक कोण, ऊँचाई और दूरियाँ, हिस्टोग्राम, फ्रीक्वेंसी बहुभुज, बार आरेख और पाई चार्ट।

पेपर- 2 (अंग्रेजी भाषा और समझ):

इसमें प्रश्न को उम्मीदवार की समझ का परीक्षण करने के लिए डिज़ाइन किया जाएगा। इसके तहत त्रुटि परीक्षण, रिक्त स्थान, पर्यायवाची, विलोम, वर्तनी / गलत वर्तनी शब्दों का पता लगाने, मुहावरे और वाक्यांश, एक शब्द प्रतिस्थापन, वाक्यों का सुधार, क्रियाओं की सक्रिय / निष्क्रिय आवाज़, प्रत्यक्ष / अप्रत्यक्ष कथन में रूपांतरण, वाक्य भागों का फेरबदल, एक मार्ग में वाक्यों का फेरबदल, क्लोज़ टेस्ट आदि से प्रश्न आएंगे।

इसके अलावा पेपर- 3 में (सांख्यिकी), पेपर- 4 में (सामान्य अध्ययन-वित्त और अर्थशास्त्र) और इसके बाद स्किल टेस्ट और कम्प्यूटर दक्षता परीक्षा आयोजित की जाएगी।