Rajsthan Reet बाल विकास एवं शिक्षण विधियां प्रैक्टिस सेट 06 : परीक्षा में पूछें जा सकते हैं ये प्रश्न, परीक्षार्थी अवश्य अध्ययन करें

Rajsthan Reet Child Development And Teaching Methods Practice set 06 : राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर द्वारा शिक्षक भर्ती के लिए राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) की अधिसूचना जारी कर दी गयी है, तथा इस परीक्षा का आयोजन 23 और 24 जुलाई 2022 को किया जाएगा। आयोग द्वारा अब इसके लिए एडमिट कार्ड जारी कर दिया गया है।

अब उम्मीदवार के पास बहुत ही कम समय शेष बचा हुआ है, ऐसे में उम्मीदवारों को यह सलाह दी जाती है कि वे अपनी तैयारी को और तेज कर दें। इसी कड़ी में आज हम बाल विकास के इस प्रैक्टिस सेट को लेकर आए हैं, जो की परीक्षा दृष्टि से अतिमहत्वपूर्ण प्रश्न साबित होंगे और साथ ही इनका अध्ययन करने से उम्मीदवार को परीक्षा में पूछें जाने वाले प्रश्नों के स्तर का भी आकलन हो जाएगा।

Rajsthan Reet Child Development And Teaching Methods Practice set 06
Rajsthan Reet Child Development And Teaching Methods Practice set 06

Rajsthan Reet Child Development And Teaching Methods Practice set 06 (25 महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तर)

प्रश्न. अभिवृत्ति है

  • एक भावात्मक प्रवृत्ति, जो अनुभव के द्वारा संगठित होकर किसी मनोवैज्ञानिक वस्तु के प्रति पसंदगी या नापसंदगी के रूप में प्रतिक्रिया करती है।
  • एक ऐसी विशेषता, जो व्यक्ति की योग्यता का परिचायक है, जिसे किसी प्रदत्त क्षेत्र में विशिष्ट प्रशिक्षण, ज्ञान अथवा कौशल से सीखा जा सकता है।
  • व्यक्ति की बीजभूत क्षमता, जो कि विशिष्ट प्रकार की होती है।
  • इनमें से कोई नहीं

उत्तर: 1

प्रश्न. व्यक्तित्व एवं बुद्धि में वंशानुक्रम की-

  • नाममात्र की भूमिका है।
  • महत्वपूर्ण भूमिका है।
  • अपूर्वानुमेय भूमिका है।
  • आकर्षक भूमिका है।

उत्तर:1

प्रश्न. जिन इच्छाओं की पूर्ति नहीं होती, उनका भण्डारगृह निम्न में से कौन-सा है?

  • इदम्
  • अहम्
  • परम अहम्
  • इदम् एवं अहम्

उत्तर: 1

प्रश्न. रक्षा तंत्र बहुत सहायता करता है?

  • हिंसा से निपटने में
  • दबाव से निपटने में
  • थकान से निपटने में
  • अजनबियों से निपटने में

उत्तर: 2

प्रश्न. आवृत्ति वितरण को रेखाचित्र द्वारा प्रदर्शित करने की विधियों  से……….एक विधि है।

  • आकृति
  • स्तम्भाकृति
  • गुम्फाक्षर आकृति
  • स्वलिखित आकृति

उत्तर: 2

प्रश्न. पढ़ाते समय सामान्य कक्षा में अध्यापक का सर्वाधिक ध्यान किस मनोवैज्ञानिक तथ्य पर होना चाहिए?

  • शिक्षण तकनीक
  • शारीरिक क्षमता –
  • वैयक्तिक विभिन्नता
  • पारिवारिक क्षमता

उत्तर: 3

प्रश्न. निम्नलिखित मापन के स्तरों में सबसे अच्छा कौन है?

  • नामिक
  • अनुपात
  • क्रमिक
  • अन्तराल

उत्तर: 2

प्रश्न. पियाजे के संज्ञानात्मक विकास सिद्धान्त में अमूर्त तर्क एवं परिपक्व नैतिक चिन्तन किस अवस्था की विशेषताएँ हैं?

  • संवेदनात्मक- गामक अवस्था
  • पूर्व संक्रियावस्था
  • औपचारिक संक्रियावस्था
  • मूर्त संक्रिया अवस्था

उत्तर: 3

प्रश्न. ……जन्मजात वैयक्तिक गुणों का योगफल है।

  • समानता
  • वंशानुक्रम
  • निरन्तरता
  • युयुत्सा

उत्तर: 2

प्रश्न. निम्नलिखित में से कौन व्यक्तित्व का प्रक्षेपी परीक्षण नहीं है?

  • रोशी स्याही धब्बा परीक्षण
  • टी ए टी
  • शब्द साहचर्य परीक्षण
  • 16 पी एफ परीक्षण

उत्तर: 4

प्रश्न. आवश्यकता का पदानुक्रम सिद्धान्त…. द्वारा प्रतिपादित किया गया था।

  • वाटसन
  • कोहलर
  • मैस्लो
  • पावलोव

उत्तर: 3

प्रश्न. सीखी हुई बात को स्मरण रखने या पुनः स्मरण करने की असफलता कहलाती है?

  • पुनः स्मरण
  • संवेदना
  • विस्मृति
  • स्मृति

उत्तर: 3

प्रश्न. शिक्षक की सबसे मुख्य जिम्मेदारी है?

  • कठोर अनुशासन बनाए रखना
  • विद्यार्थियों की विभिन्न अधिगम शैलियों के अनुसार सीखने के मौके उपलब्ध कराना
  • पाठ-योजना तैयार करना और उसके अनुसार पढ़ाना
  • यथासम्भव क्रिया-कलापों का आयोजन करना

उत्तर: 2

प्रश्न. “विचार न केवल भाषा को निर्धारित करते हैं बल्कि उसे आगे भी बढ़ाते हैं।” यह विचार……”द्वारा रखा गया है।

  • वाइगोत्स्की
  • पावलॉव
  • जीन पियाजे
  • कोह्लबर्ग

उत्तर: 3

प्रश्न. कक्षा में प्रभावी अनुशासन बनाए रखने के लिए शिक्षक को चाहिए कि वह

  • विद्यार्थी जो करना चाहते हैं करने दें
  • विद्यार्थियों से कड़ाई से व्यवहार करें
  • विद्यार्थियों को कुछ समस्या हल करने के लिए दें
  • (b) और (c)

उत्तर: 3

प्रश्न. सृजनवाद में-

  • बच्चे सीखने की प्रक्रिया में निष्क्रिय रूप से प्रतिभाग करते हैं
  • शिक्षा शिक्षक केन्द्रित होती है
  • शिक्षा बाल केन्द्रित होती है
  • शिक्षा व्यवहारवादी होती है

उत्तर: 3

प्रश्न. बच्चों में अच्छे चरित्र के निर्माण के लिए-

  • पाठ्य-पुस्तकों में चरित्र निर्माण सम्बन्धी पाठ होने चाहिए
  • चरित्र निर्माण के लिए व्याख्यान दिए जाने चाहिए
  • कक्षा-कक्ष गतिविधि इस प्रकार से हो कि बच्चों को चरित्र निर्माण में सहायता मिल सके
  • महापुरुषों की जीवनी बच्चों को पढ़ाई जानी चाहिए

उत्तर: 3

प्रश्न. निम्नलिखित में से कौन-सी परिस्थिति में बच्चे का संवेगात्मक एवं सामाजिक विकास अच्छे से होगा?

  • जब बच्चे को महत्त्वूपर्ण माना जाए तथा उसकी भावनाओं का सम्मान किया जाए
  • जब बच्चे को अधिक-से-अधिक पढ़ने को कहा जाए
  • जब बच्चे के कक्षा में अच्छे अंक आएँ
  • जब बच्चे को उसके बौद्धिक स्तर के अनुसार पढ़ाया जाए

उत्तर: 1

प्रश्न. “ने सामूहिक अचेतन का सम्प्रत्यय दिया था।

  • जुंग
  • फ्रायड
  • एडलर
  • सलीवन

उत्तर: 1

प्रश्न. अधिगम का क्रिया-प्रसूत अनुबन्धा सिद्धान्त”…….. द्वारा दिया गया था।

  • पावलोव
  • थॉर्नडाइक
  • टोलमैन
  • स्किनर

उत्तर: 4

प्रश्न. ” अंगूर खट्टे हैं”.. “का उदाहरण है।

  • प्रतिगमन
  • दमन
  • यौक्तिकीकरण
  • प्रतिक्रिया निर्माण

उत्तर: 3

प्रश्न. औसत बुद्धि वाले बालकों की बुद्धि लब्धि (IQ)……….. के बीच होगी।

उत्तर: 3

प्रश्न. “व्यक्ति में उन मनोशारीरिक अवस्थाओं का गतिशील संगठन, जो उसके पर्यावरण के साथ अद्वितीय सामंजस्य निर्धारित करता है” कहलाता है?

  • व्यक्तित्व
  • संवेदना
  • समायोजन
  • चरित्र

उत्तर: 1

प्रश्न. सामान्य पुरुष में XY गुणसूत्र होते हैं जबकि सामान्य महिला …………… होते हैं।

  • XY गुणसूत्र
  • XYY गुणसूत्र
  • XXX गुणसूत्र
  • X गुणसूत्र

उत्तर: ?

इस प्रश्न का सही उत्तर क्या होगा? हमें अपना जवाब कमेंट सेक्शन में जरूर दें।

आशा है आपको हमारे द्वारा प्रदान किया गया यह प्रैक्टिस सेट अवश्य पसन्द आया होगा। ऐसे ही हर प्रकार की सरकारी परीक्षाओं के प्रैक्टिस सेट प्राप्त करने के लिए सरकारी अलर्ट को बुकमार्क करें।

कमेन्ट करें