CTET हिंदी भाषा प्रैक्टिस सेट 59 : परीक्षा में बैठने से पहले इन 30 महत्वपूर्ण प्रश्नों का करें अध्ययन

CTET Hindi Language Practice Set 59 : CTET की परीक्षा प्रारंभ हो चुकी है जो कि 13 जनवरी तक चलने वाली है। जिसके लिए अभ्यार्थी कई महीनों से अपनी तैयारियों में लगे हुए हैं और इसकी परीक्षा ऑनलाईन माध्यम द्वारा कराई जा रही है। UPTET की परीक्षा 23 जनवरी 2022 को आयोजित कराई जाएगी। फ़िलहाल तैयारी का अंतिम समय चल रहा है। सभी अभ्यर्थी अपनी तैयारी बहुत ही तेजी से कर रहे हैं।
ऐसे में इस लेख के जरिये हम आपको CTET के परीक्षा में पूछे गए विगत वर्षों के हिंदी भाषा के 30 महत्वपूर्ण प्रश्नों से अवगत कराएंगे, जिसका अध्ययन कर के आप अपनी तैयारी को और भी मजबूती प्रदान कर सकतें हैं।

CTET Hindi Language Practice Set 59
CTET Hindi Language Practice Set 59

CTET Hindi Language Practice Set 59

निर्देश-निम्नलिखित गद्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के सबसे उपयुक्त उत्तर वाले विकल्प को चुनिए

आज शिक्षक की भूमिका उपदेशक या ज्ञानदाता की सी नहीं रही। वह तो मात्र एक प्रेरक है कि शिक्षार्थी स्वयं सीख सके। उनके किशोर मानस को ध्यान में रखकर शिक्षक को अपने शिक्षण कार्य के दौरान अध्ययन अध्यापन की परम्परागत विधियों से दो कदम आगे जाना पड़ेगा, ताकि शिक्षार्थी समकालीन गधार्थ और दिन प्रतिदिन बदलते जीवन की चुनौतियों के बीच मानव-मूल्यों के प्रति अडिग आस्था बनाए रखने की प्रेरणा ग्रहण कर सको पाडगत बाधाओं को दूर करते हुए विद्यार्थियों की सहभागिता को सही दिशा प्रदान करने का कार्य शिक्षक ही कर सकता है।
भाषा शिक्षण की कोई एक विधि नहीं हो सकती। जैसे मध्यकालीन कविता में अलंकार, छन्दविधान, तुक आदि के प्रति आग्रह था, किन्तु आज लय और प्रवाह का महत्व है। कविता पढ़ाते समय कवि की युग चेतना के प्रति सजगता समझना आवश्यक है। निबन्ध में लखक के दृष्टिकोण और भाषा-शैली का महत्व है और शिक्षार्थी को अर्थग्रहण की योग्यता का विकास जरूरी है। कहानी के भीतर बुनी अनेक कहानियों को पहचानने और उन सूत्रों को पल्लवित करने का अभ्यास शिक्षार्थी की कल्पना और अभिव्यक्ति कौशल को बढ़ाने के लिए उपयोगी हो सकता है। कभी-कभी कहानी का नाटक में विधा परिवर्तन कर उसका मंचन किया जा सकता है।
मूल्यांकन वस्तुतः सीखने की ही एक प्रणाली है, ऐसी प्रणाली जो स्टेत प्रणाली से मुक्ति दिला सके। परम्परागत साँचे का अनुपालन न करे, अपना ढाँचा निर्मित कर सके। इसलिए यह गाँठ बाँध लेना आवश्यक है कि भाषा और साहित्य के प्रश्न बँधे-बंधाए उत्तरों तक सीमित नहीं हो सकते। शिक्षक पूर्वनिर्धारित उत्तर की अपेक्षा नहीं कर सकता। विद्यार्थियों के उत्तर साँचे से हटकर, किन्तु तर्क संगत हो सकते हैं और सही भी। इस खुलेपन की चुनौती को स्वीकारना आवश्यक है।

प्रश्न. अनुच्छेद में प्रयुक्त ‘समकालीन’ शब्द का सबसे उपयुक्त अर्थ होगा

  • वर्तमान
  • आकस्मिक
  • आधुनिक
  • समसामयिक

उत्तर : 4

प्रश्न. कौन-सा कथन आज के शिक्षक की भूमिका के बारे में सत्य नहीं है?

  • मानव मूल्यों पर उसकी आस्था अडिग होती है
  • शिक्षक प्रेरक है, ज्ञानदाता नहीं
  • परम्परागत शिक्षण विधियों को छोड़ा नहीं जा सकता
  • शिक्षक विद्यार्थियों की सहभागिता सुनिश्चित करता है की गई है?

उत्तर : 3

प्रश्न. शिक्षक से किस प्रकार की आधाएँ दूर करने की अपेक्षा

  • पाठ्यक्रम से जुड़ी हुई
  • पाठ पढ़ाते हुए आने वाली
  • पाठ प्रस्तुति से सम्बं
  • पाठ के भीतर से उभरने वाली

उत्तर : 4

प्रश्न. आधुनिक कविता में महत्वपूर्ण है

  • लय और प्रवाह
  • छन्द और अलंकार
  • भाषा और शैली
  • मानवीकरण और बिम्बविधान

उत्तर : 1

प्रश्न. कहानी के द्वारा लेखन विद्यार्थियों में कल्पनाशीलता और अभिव्यक्ति की कुशलता बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण गतिविधि हो सकती है

  • कहानी का वाचन
  • कहानी को सुनाने का अभ्यास
  • कहानी का विधा-परिवर्तन
  • निहित कथासूत्रों का पल्लवन

उत्तर : 4

प्रश्न. मूल्यांकन के बारे में सत्य नहीं है

  • यह सीखने की जी एक विधि है
  • का अन्त करता है
  • इसका निश्चित ढांचा होता है
  • उत्तर पहले से निर्धारित नहीं होते

उत्तर : 3

प्रश्न. समास की दृष्टि से कौन सा पद शेष से भिन्न है?

  • युग-चेतना
  • भाषा-शिक्षण
  • दिन-प्रतिदिन
  • अर्थ – महानु

उत्तर : 3

प्रश्न. ‘विद्यार्थी’ के लिए अनुच्छेद में प्रयुक्त अन्य पर्यायवाची
शब्द है

  • किशोर, मानस
  • शिक्षार्थी छात्र
  • शिक्षक, साथी
  • प्रतिभागी, परीक्षक

उत्तर : 2

प्रश्न. ‘सहभागिता’ शब्द का निर्माण किस उपसर्ग और प्रत्यय से हुआ है?

  • सह इता
  • स ता
  • सह, ता
  • स, इता

उत्तर : 3

निर्देश-निम्नलिखित काव्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर दीजिए

आकाश का साफा बाँधक
सूरज की चिलम खीचता बैठा है पहाड़
घुटनों पर पड़ी है नदी चादर सी पास ही दहक रही है
पलाश के जंगल की अंगीठी
अंधकार दूर पूर्व में सिमटा बैठा है भेड़ों के गल्ले सा
अचानक बोला मोर जैसे किसी ने आवाज दी
‘अजी सुनते हो।’
चिलम औधि
भुगों उठा
सूरज वा अंधेरा छा गया।

प्रश्न. भाषा सभी विषयों के …… में है।

  • अध्यायों
  • प्रारम्भ
  • केन्द्र
  • पढ़ने

उत्तर : 3

प्रश्न. शाम का सजीव चित्रण करने के लिए किस रूपक को
अनुपयुक्त माना जा सकता है?

  • जंगल की अंगीठी
  • आकाश का साफा
  • सूरज की चिलम
  • मोर की आवाज

उत्तर : 4

प्रश्न. पलाश वन को अंगीठी कहा गया है, क्योंकि

  • खिले पलाश के वन आग के समान दिखते हैं
  • पलाश ग्रीष्म ऋतु में फूलता है
  • जंगल में आग लगी होती है।
  • पलाश की लकड़ी जलाने के आती है

उत्तर : 1

प्रश्न. अंधकार के सिमटकर बैठे होने का कारण है

  • स्थान का अभाव है
  • किसान आग सेक रहा
  • अभी सूर्योदय नहीं हुआ है
  • अभी सूर्यास्त नहीं हुआ

उत्तर : 4

प्रश्न. अचानक तुरत-फुरत घटनाएँ होने का कारण है

  • भेड़ों का बिखर जाना
  • सूरज का डूबना
  • ‘सुनते हो’ की आवाज
  • अंधेरा छा जाना

उत्तर : 3

प्रश्न. “सिमटा बैठा है भेड़ों के गल्ले-सा” किस विकल्प में
सभी शब्द ‘गल्ला’ के समानार्थी हैं?

  • भीड़भाड़, रेलमपेल, भगदड़, झुरमुट
  • समूह, भीड़, दर्शक, झुण्ड
  • गल्ला, सौदा, माल गोदाम
  • रेवड़, झुण्ड, भीड़, रेला

उत्तर : 4

प्रश्न. ‘पाठ में ठिठियाकर हँसने लगी’ जैसा वाक्य आया है। ठिठियाना शब्द में ‘आना’ प्रत्यय का प्रयोग हुआ है। “आना’ प्रत्यय से बनने वाले चार सार्थक शब्द लिखिए।’ इस प्रश्न का स्वरूप को पोषित करता है।

  • पाठ्य पुस्तकीय व्याकरण
  • प्रत्यय के समस्त ज्ञान
  • सूत्र शैलीय व्याकरण
  • सन्दर्भ में व्याकरण

उत्तर : 4

प्रश्न. उच्च प्राथमिक स्तर परबल दिया जाता है।

  • साहित्यिक विधाओं से
  • लेखन प्रक्रिया से
  • सन्दर्भ में व्याकरण
  • अलंकार व छंद से

उत्तर : 1

प्रश्न. उच्च प्राथमिक स्तर पर व्याकरण सिखाने की किस विधि को आप सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण एवं उपयोगी पाते हैं?

  • अनवाद विधि
  • निगमन विधि
  • आगमन विधि
  • पाठ्य पुस्तकीय विधि

उत्तर : 3

प्रश्न. उच्च प्राथमिक स्तर पर भाषा शिक्षण का उद्देश्य नहीं है

  • विभिन्न साहित्यिक विधाओं की समझ का विकास
  • निजी अनुभवों के आधार पर भाषा का सृजनशील प्रयोग
  • भाषा के व्याकरणिक बिन्दुओं की परिभाषाओं को जानना
  • भाषा की बारीकी और सौन्दर्य बोध को समझने की क्षमता

उत्तर : 3

प्रश्न. ‘भाषा की नियमबद्ध प्रकृति को पहचानना और उसका विश्लेषण करना।’ उच्च प्राथमिक स्तर पर भाषा शिक्षण का

  • उद्देश्य है
  • मुख्य उद्देश्य है
  • उद्देश्य नहीं है
  • एकमात्र उद्देश्य है

उत्तर : 2

प्रश्न. उच्च प्राथमिक स्तर पर बच्चों के भाषा- विकास के लिए जरूरी है ………. कि समृद्धि का भाषा ……. विषयगत शिक्षण युक्ति में उपयोग किया जाए।

  • परिवेश, भाषिक
  • साहित्य, कला
  • कलात्मक, साहित्य
  • भाषिक, साहित्य

उत्तर : 4

प्रश्न. ‘उच्च प्राथमिक स्तर की हिन्दी भाषा की पाठ्य पुस्तकों में हिन्दीतर भाषा को भी जगह मिलनी चाहिए।’ इस कथन का औचित्य नहीं है

  • हिन्दीतर भाषाओं के माध्यम से संवेदनाओं को विस्तार देना
  • हिन्दीतर भाषियों के आक्रोश को शान्त करना
  • हिन्दीतर भाषा के साहित्य से परिचित कराना
  • हिन्दीतर भाषाओं की रचना-शैलियों से परिचित कराना

उत्तर : 2

प्रश्न. विद्यार्थियों की पढ़ने में रुचि जगाने एवं भाषा-ज्ञान में वृद्धि के लिए पाठ्य पुस्तक के अतिरिक्त ——

  • पठन सामग्री विकसित की जा सकती है
  • शैक्षिक भ्रमण का अधिकाधिक आयोजन किया जाना चाहिए
  • पाठ्यचर्या सहगामी क्रियाओं का अधिकाधिक आयोजन किया जाना चाहिए
  • समाचार-पत्र, पोस्टर का निर्माण करवाया जाना चाहिए

उत्तर : 1

प्रश्न. उच्च प्राथमिक स्तर पर बच्चों के भाषायी आकलन कीदृष्टि से सबसे महत्त्वपूर्ण प्रश्न है

  • नीलकण्ठ की नृत्य-भंगिका को अपने शब्द-चित्र में प्रस्तुत कीजिए
  • मोर-मोरनी के नाम किस आधार पर रखे गए हैं?
  • वसंत ऋतु में नीलकण्ठ के लिए जालीघर में बन्द रहना में असहनीय क्यों हो जाता था?
  • लेखिका को नीलकण्ठ की कौन-कौन-सी चेष्टाएँ बहुत भाती थी?

उत्तर : 1

प्रश्न. भाषा अर्जित करने के सन्दर्भ में
महत्त्वपूर्ण है।

  • विद्यालयी परीक्षा प्रक्रिया
  • भाषाई पठन सामग्री
  • समृद्ध भाषा-परिवेश
  • संचार माध्यमों का अधिक प्रयोग

उत्तर : 3

प्रश्न. बहुभाषिक कक्षा में बच्चों की भाषाओं
लिए आवश्यक है कि सर्वाधिक को स्थान देने के

  • शिक्षक बच्चों की मातृभाषाओं में गीत कविता सुने
  • शिक्षक बच्चों की भाषाओं का ही प्रयोग करे
  • शिक्षक बच्चों को उनकी भाषाओं में ही व्यवहार करने के लिए कहे
  • शिक्षक बच्चों के मातृभाषा प्रयोग को स्वीकार करें

उत्तर : 4

प्रश्न. आठवीं कक्षा में पढ़ने वाली रूबीना लिखने में बेहद कठिनाई का अनुभव करती है। सम्भव है कि वह …… से ग्रसित हो ।

  • भाषाघात से
  • डिसकैलकुलिया
  • डिस्याफिया
  • डिस्ग्राफिया

उत्तर : 4

प्रश्न. हिन्दी भाषा के विविध रूपों से परिचित कराने में
सर्वाधिक सहायक है।

  • हिन्दी भाषा की पत्रिका व पाठ्य पुस्तक
  • हिन्दी भाषा के समाचार पत्र व विज्ञापन
  • हिन्दी भाषा का साहित्य व अन्य मुद्रित सामग्री
  • हिन्दी भाषा की पुस्तक व विज्ञापन

उत्तर : 3

प्रश्न. भाषा सीखने और भाषा अर्जित करने में मुख्य अन्तर का आधार नहीं है

  • व्याकरण
  • स्वाभाविकता
  • भाषायी परिवेश
  • सहजता

उत्तर : 1

प्रश्न. ‘स्त्री को सौन्दर्य का प्रतिमान बना दिया जाना ही उसका बन्धन बन जाता है।’ इस विषय पर कक्षा में चर्चा कीजिए। भाषा की पाठ्य-पुस्तक में इस प्रश्न को स्थान देने का क्या औचित्य है?

  • भाषा को स्त्री विमर्श से जोड़ना
  • सौन्दर्य प्रतिमान बनाना
  • स्त्री- बन्धन की चर्चा करना
  • सौन्दर्य प्रसाधनों का विरोध करना

उत्तर : ??

कमेन्ट करें