CTET बाल विकास प्रैक्टिस सेट 3 : CTET परीक्षा में जानें से पहले इन 30 प्रश्नों का अध्ययन अवश्य करें

CTET Child Development Practice Set 3 : CTET की परीक्षा 16 दिसम्बर से 13 जनवरी तक आयोजित होने वाली हैं जिसके लिए परीक्षार्थी कई महीनों से अपनी तैयारियों में जुटे हुए हैं। फ़िलहाल तैयारी का आखिरी पड़ाव चल रहा है, ऐसे में परीक्षार्थियों को नीचे दिए गए CTET Child Development Practice Set – 3 को अवश्य हल करना चाहिए, जिससे वे अपनी तैयारी को और भी सुनिश्चित कर सकते हैं।

Child Development के इस प्रैक्टिस सेट में 30 महत्वपूर्ण प्रश्नों का चयन किया गया है, जो होने वाली CTET / UPTET परीक्षा में भी आ सकते हैं। इसलिए आप इन प्रश्नों का अभ्यास अच्छी तरह से करें और अपनी तैयारी को और भी मजबूती प्रदान करें.

ctet child development and pedagogy practice set 3
CTET Child Development & Pedagogy Practice Set

CTET बाल विकास प्रैक्टिस सेट 3

प्रश्न: क्रियात्मक अनुसंधान का प्रमुख कार्य है

  • नए तथ्यों की खोज करना
  • स्थानीय समस्याओं का समाधान करना
  • ज्ञान देना
  • नई व आधारभूत समस्याओं का समाधान करना

उत्तर: 2

प्रश्न: बच्चे की जिज्ञासा शान्त करनी चाहिए

  • जब शिक्षक फुर्सत में हो
  • जब विद्यार्थी फुर्सत में हो
  • कुछ समय के पश्चात्
  • तत्काल, जब विद्यार्थी द्वारा जिज्ञासा की गई है

उत्तर: 4

प्रश्न: बच्चों को शाब्दिक या गैर-शाब्दिक दण्ड देने का परिणाम होता है

  • उन्हें कार्य करने के लिए प्रेरित करना
  • बच्चे की छवि की सुरक्षा करना
  • उनके अंकों में सुधार करना में
  • उनके स्वयं के प्रति अवधारणा को नष्ट करना

उत्तर: 4

प्रश्न: दिए गए वाक्य को पूरा करने के लिए निम्नलिखित में से कौन-सा युग्म सर्वाधिक उचित विकल्प होगा?
जब बच्चे उन गतिविधियों में शामिल होते हैं होती है, जो ….. होती है तब वे जल्दी …….. करते हैं।

  • केवल उनके कक्षा-कार्य से सम्बन्धित; प्रत्यास्मरण
  • सांस्कृतिक रूप से निष्पक्षीय; स्मरण
  • वास्तविक जीवन में उपयोगी, सीखा
  • कक्षा-कक्ष में उपयोगी; विस्मरण

उत्तर: 3

प्रश्न: इरफान खिलौनों को तोड़ता है और उसके पुर्जों को देखने के लिए उन्हें अलग-अलग कर देता है। आप क्या करेंगे?

  • उसके जिज्ञासु स्वभाव को प्रोत्साहित करेंगे और उसकी ऊर्जा को सही दिशा में संचारित करेंगे
  • उसे समझाएँगे कि खिलौनों को कभी तोड़ना नहीं चाहिए
  • इरफान को खिलौनों से कभी भी नहीं खेलने देंगे
  • उस पर हमेशा नजर रखेंगे

उत्तर: 1

प्रश्न: यदि एक विद्यार्थी विद्यालय में लगातार निम्नतर श्रेणी प्राप्त करती है, तो उसके अभिभावक को उसकी सहायता हेतु परामर्श दिया जा सकता है कि

  • वह अध्यापकों की घनिष्ठ संगति में कार्य करें
  • मोबाइल फोन, चलचित्र, कॉमिक्स, खेल हेतु अतिरिक्त क्राल पर रोक लगाएँ
  • जो भली-भाँति शिक्षा नहीं ले पाए उनकी जीवन-सम्बन्धी कठिनाईयों का वर्णन करें
  • घर पर उसको परिश्रमपूर्वक कार्य करने पर बल दें

उत्तर: 1

प्रश्न: उच्च प्राथमिक स्तर पर शिक्षक को क्रियात्मक शोध का ज्ञान होना चाहिए क्योंकि वे

  • इसके माध्यम से बच्चों की समस्या की पहचान कर सुधार करने का कौशल विकसित कर पाएँगे
  • अपना स्वयं का विकास कर पाएँगे
  • बच्चों को प्रभावी ढंग से पढ़ा पाएँगे
  • शोध करने का कौशल विकसित कर पाएँगे

उत्तर: 1

प्रश्न: कक्षा परीक्षणों में अच्छा प्रदर्शन करने में एक बच्चें की असफलता हमें इस विश्वास की तरफ ले जाती है कि

  • आकलन वस्तुनिष्ठ है तथा असफलताओं को स्पष्ट रूप से पहचानने के लिए इसका प्रयोग किया जा सकता है
  • बच्चे कुछ निश्चित सक्षमताओं और कमियों के साथ पैदा होते हैं
  • पाठ्यक्रम, शिक्षण पद्धति तथा आकलन प्रक्रियाओं पर विचार करने की आवश्यकता है
  • कुछ बच्चों को अनुत्तीर्ण होना ही है, चाहे व्यवस्था उन पर कितना भी अधिक प्रयास करें

उत्तर: 3

प्रश्न: क्रियात्मक अनुसन्धान का उद्देश्य है

  • नवीन ज्ञान की खोज
  • शैक्षिक परिस्थितियों में व्यवहार विज्ञान का विकास
  • विद्यालय तथा कक्षा की शैक्षिक कार्य प्रणाली में सुधार लाना
  • इनमें से सभी।

उत्तर: 3

प्रश्न: जब बच्चा ‘फेल’ होता है, तो इसका तात्पर्य है कि

  • बच्चे ने उत्तरों को सही तरीके से याद नहीं किया है।
  • बच्चे को प्राइवेट ट्यूशन लेनी चाहिए थी।
  • व्यवस्था फेल हुई है।
  • बच्चा पढ़ाई के लिए योग्य नहीं है।

उत्तर: 3

प्रश्न: बच्चों में सीखने और सुनने के लिए अधिगमयोग्य वातावरण के लिए निम्नलिखित में से कौन उपर्युक्त है?

  • शिक्षार्थियों को कुछ यह छूट देना कि क्या सीखना है और कैसे सीखना है।
  • एक लम्बे समय के लिए निष्क्रिय रूप से सुनना।
  • निरन्तर गृहकार्य देने रहना
  • सीखने वाले द्वारा व्यक्तिगत कार्य करना।

उत्तर: 1

प्रश्न: एक पी.टी. (खेल) शिक्षक क्रिकेट के खेल में अपने शिक्षार्थियों के क्षेत्र-रक्षण को सुधारना चाहता है। निम्न में से कौन-सी युक्ति शिक्षार्थियों को अपना लक्ष्य प्राप्त करने में सर्वाधिक सहायक है?

  • शिक्षार्थियों को क्षेत्र-रक्षण का अधिक अभ्यास करवाना।
  • शिक्षार्थियों को यह बताना कि क्षेत्ररक्षण सीखना उनके लिए किस प्रकार महत्वपूर्ण है।
  • बेहतर क्षेत्र-रक्षण और सफलता की दर के पीछे के तर्क को स्पष्ट करना।
  • क्षेत्र-रक्षण को प्रदर्शित करना और शिक्षार्थी अवलोकन करना।

उत्तर: 1

प्रश्न: विद्यालय छोड़ने वाले विद्यार्थियों के नियन्त्रण की दृष्टि से सरकारी संगठनों द्वारा संस्था के स्तर पर विभिन्न उपाय किए गए हैं। निम्नलिखित में से कौन-सा कारण संस्थानिक स्तर से जुड़ा है जिसके कारण बच्चे विद्यालय छोड़ देते हैं?

  • विद्यालय में श्यामपट्टू और शौचालय जैसी आधारभूत सेवाओं का अभाव होना
  • अध्यापकों का समुपयुक्त योग्यता वाला न के नए होना तथा उन्हें कम आय देना
  • बच्चों से भली-भाँति व्यवहार करने की आवश्यकता के प्रति अध्यापकों का संवेदनशील न होना
  • जो बच्चे अनिवार्य पाठ्यचर्चा को स्वीकार नहीं कर पाते उनके लिए विकल्पात्मक पाठ्यचर्या का न होना

उत्तर: 4

प्रश्न: कक्षा परीक्षणों में अच्छा प्रदर्शन करने में एक बच्चे की असफलता हमें इस विश्वास की तरफ ले जाती है कि

  • आकलन वस्तुनिष्ठ है तथा असफलताओं को स्पष्ट रूप से पहचानने के लिए इसका प्रयोग किया जा सकता है।
  • पाठ्यक्रम, शिक्षण-पद्धति तथा आकलन प्रक्रियाओं पर विचार करने की आवश्यकता है।
  • कुछ बच्चों को अनुत्तीर्ण होना ही है, चाहे व्यवस्था उन पर कितना भी अधिक प्रयास करे।
  • बच्चे कुछ निश्चित सक्षमताओं और कमियों के साथ पैदा होते हैं।

उत्तर: 2

प्रश्न: बच्चों को शाब्दिक या गैर-शाब्दिक दण्ड देने का परिणाम होता है

  • उन्हें कार्य करने के लिए प्रेरित करना।
  • बच्चे की छवि की सुरक्षा करना।
  • उनके अंकों में सुधार करना।
  • उनके स्वयं के प्रति अवधारणा को नष्ट करना।

उत्तर: 4

प्रश्न: अपनी कक्षा के बच्चों को उनकी अपनी अवधारणाओं को बदलने में आप किस प्रकार सहायता करेंगे?

  • बच्चों को सूचनाएँ लिखाकर उन्हें याद करने को कहकर ।
  • यदि बच्चों की अवधारणाएँ गलत हों तो उन्हें दण्ड देकर।
  • तथ्यात्मक जानकारी देकर
  • अवधारणाओं के बारे में बच्चों को अपनी समझ को व्यक्त करने का अवसर देकर।

उत्तर: 4

प्रश्न: बच्चे किस प्रकार से सीखते हैं? नीचे दिए गए कथनों में से कौन-सा इस प्रश्न के विषय में सही नहीं है ?

  • बच्चे केवल कक्षा में सीखते है।
  • बच्चे तब सीखते हैं जब वे संज्ञानात्मक रूप से तैयार होते हैं
  • बच्चे अनेकों प्रकार से सीखते हैं।
  • बच्चे सीखते हैं क्योंकि वे स्वाभाविक रूप से प्रेरित होते हैं।

उत्तर: 1

प्रश्न: एक बच्ची कहती है, ‘धूप में कपड़े जल्दी सूख जाते है।’ वह ……. की समझ को प्रदर्शित कर रही है।

  • प्रतीकात्मक विचार
  • अहंकेन्द्रित चिन्तन
  • कार्य-कारण
  • विपर्यय चिन्तन

उत्तर: 3

प्रश्न: अपने चिन्तन में अवधारणात्मक परिवर्तन लाने हेतु शिक्षार्थियों को समक्ष बनाने के लिए शिक्षिका को

  • उन बच्चों को पुरस्कार देना चाहिए जिन्होंने अपने चिन्तन में परिवर्तन किया है।
  • बच्चों को स्वयं चिन्तन करने के लिए हतोत्साहित करना चाहिए कि वे शिक्षिका को सुनें और उसका अनुपालन करें।
  • व्याख्यान के रूप में व्याख्या प्रस्तुत करनी चाहिए।
  • स्पष्ट और आश्वस्त करने वाली व्याख्या देनी चाहिए तथा शिक्षार्थियों के साथ चर्चा करनी चाहिए।

उत्तर: 4

प्रश्न: विद्यालय से विद्यार्थियों के भाग जाने का कारण है

  • कक्षा शिक्षण में रुचि का अभाव
  • विद्यार्थियों में अध्ययन में रुचि का
  • विद्यार्थियों को दण्ड नहीं देना अभाव
  • समस्या के प्रति शिक्षकों की निर्दय अभिवृत्ति

उत्तर: 4

प्रश्न: विद्यालयों में विद्यार्थियों की असफलता के बारे में निम्नलिखित में से कौन-से कथन सही हैं ?

A. विशेष जातियों और समुदायों से सम्बन्धित विद्यार्थी
B. विद्यार्थी विद्यालयों में असफल होते हैं क्योंकि उन्हें अधिगम के लिए उपयुक्त पुरस्कार नहीं दिए जाते।
C. विद्यार्थी असफल होते हैं क्योंकि शिक्षण उस तरीके से नहीं किया जाता जो उनके लिए सार्थक हो।
D. विद्यार्थी असफल होते हैं क्योंकि विद्यालय व्यवस्था प्रत्येक विद्यार्थी की आवश्यकताओं और अभिरुचियों का ध्यान नहीं रखती।

  • B और D
  • C और D
  • A और B
  • B और C

उत्तर: 2

प्रश्न: जब एक विद्यार्थी असफल होता है तो समझा जाता है कि

  • पद्धति असफल है
  • शिक्षक असफल है
  • पाठ्यपुस्तके असफल है
  • यह वैयक्तिक असफलता है

उत्तर: 2

प्रश्न: बच्चे

  • चिन्तन में वयस्कों की भाँति ही होते हैं और ज्यों-ज्यों वे बड़े होते है उनके चिन्तन में गुणात्मक वृद्धि होती है
  • खाली बर्तन के समान होते हैं, जिसमें बड़ों के द्वारा दिया गया ज्ञान भरा जाता है।
  • निष्क्रिय जीव होते हैं जो प्रदत्त सूचना को ज्यों-का-त्यों प्रतिलिपि के रूप में प्रस्तुत कर देते हैं
  • जिज्ञासु प्राणी होते हैं जो अपने चारों ओर के जगत को खोजने के लिए अपने ही तर्कों और क्षमताओं का उपयोग करते हैं।

उत्तर: 4

प्रश्न: एक बच्चे को साहारा देने की मात्रा एवं प्रकार में परिवर्तन इस बात पर निर्भर करता है

  • अध्यापिका की मनोदशा
  • बच्चे की नैसर्गिक योग्यताएँ
  • कार्य के लिए प्रस्तावित पुरस्कार
  • बच्चे के निष्पादन का स्तर

उत्तर: 4

प्रश्न: इन कथनों में से आप किससे सहमत हैं?

  • एक बच्चा अनुत्तीर्ण होता है क्योंकि सरकार विद्यालयों में पर्याप्त प्रौद्योगिकीय संसाधन प्रदान नहीं कर रही है
  • एक बच्चे की असफलता मुख्य रूप से माता-पिता की शिक्षा तथा आर्थिक स्तर में कमी के कारण है।
  • एक बच्चे की असफलता के लिए वंशानुक्रम घटकों को प्रत्यक्ष रूप से जिम्मेदार ठहराया जा सकता है
  • एक बच्चे की असफलता व्यवस्था तथा बच्चे के प्रति प्रतिक्रिया करने में इसकी असमर्थता का एक प्रतिबिम्ब है

उत्तर: 4

प्रश्न: कक्षा में पलायन करने वाले विद्यार्थियों के प्रति आपका व्यवहार कैसा होगा?

  • दमनात्मक
  • प्रशंसात्मक
  • सहानुभूतिपूर्वक
  • निदानात्मक

उत्तर: 4

प्रश्न: एक अध्यापक की दृष्टि में कौन-सा कथन सर्वोत्तम है?

  • प्रत्येक बच्चा सीख सकता है।
  • कुछ बच्चे सीख सकते हैं
  • अधिकतम बच्चे सीख सकते हैं
  • बहुत कम बच्चे सीख सकते हैं

उत्तर: 1

प्रश्न: एक बच्चा कक्षा में प्रायः प्रश्न पूछता है, उचित रूप से इसका अर्थ है कि

  • वह शरारती है
  • वह अधिक जिज्ञासु है
  • वह असामान्य है
  • वह प्रतिभाशाली है

उत्तर: 2

प्रश्न: बच्चे की जिज्ञासा शान्त करनी चाहिए

  • जब शिक्षक फुर्सत में हो
  • जब विद्यार्थी फुर्सत में हो
  • कुछ समय के पश्चात्
  • तत्काल जब विद्यार्थी द्वारा जिज्ञासा की गई है

उत्तर: 4

प्रश्न: बच्चों को सीखने-सिखाने की प्रक्रिया के दौरान, वे उस कार्य को किस प्रकार से कर रहे हैं, इनकी जानकारी इन्हें

  • कार्य समाप्त होने के पश्चात् दी जानी चाहिए।
  • कार्य करते समय सतत रूप से दी जानी चाहिए।
  • कार्य के बीच में एक बार दी जानी चाहिए।
  • इनकी कोई आवश्यकता नहीं है।

उत्तर: ??

आशा है आपको यह प्रैक्टिस सेट पसंद आया होगा, सरकारी परीक्षाओं से जुड़े सभी लेटेस्ट अपडेट हेतु सरकारी अलर्ट को बुकमार्क करें।

Leave a Comment