Covid Omicron Variant : जानें क्या है कोरोना ओमिक्रॉन वेरिएंट, कैसे डाल सकता है ये आपकी जॉब और पढ़ाई पर असर

Covid Omicron Variant : कोरोना वायरस से आप सभी लोग अवगत ही होंगे, यह वही वायरस है जिसने पिछले 2 सालों से लोगों के जीवन यापन को अस्त-व्यस्त बना दिया है। इस वायरस की वजह से अब तक दुनियाभर में लाखों मौते हुई हैं तथा कई देश के युवा अब बेरोजगारी और गरीबी से जूझ रहे हैं। भारत में भी इस वायरस की वजह से बेहद प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है, और लाखों मौतों के साथ बेरोजगारी का ग्राफ भी पिछले दो वर्षों में काफी बढ़ गया है।

भारत में कोरोना वायरस से बचाव हेतु टीकाकरण काफी तेजी से किया जा रहा है, जिससे लोगों में इम्युनिटी तेजी से विकसित हो और कोरोना के असर को कम किया जा सके, लेकिन हाल ही में पता चला है कि कोरोना वायरस का एक और वेरिएंट जिसका नाम “Covid Omicron Variant” है वो दस्तक दे चुका है।

Covid Omicron Variant
Covid Omicron Variant

जानें क्या है Covid Omicron Variant

दरअसल सबसे पहले 24 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका में कोरोना का एक नया वैरिएंट पाया गया जो 30 से ज्यादा बार म्यूटेट हुआ है। ऐसा में वैज्ञानिकों को डर है कि ये वैरिएंट दूसरे वैरिएंट की तुलना में काफी तेजी से फैल सकता है। दक्षिण अफ्रीका में फिलहाल ओमिक्रॉन वैरिएंट ने कहर बरपा रखा है। वहाँ स्थिति इतनी खराब है कि वहां पर लेवल 1 स्टेज का लॉकडाउन भी लगा दिया गया है इसके बावजूद भी मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने ओमिक्रॉन को वैरिएंट ऑफ कंसर्न यानी चिंता का विषय माना है। हालांकि अभी तक इस वैरिएंट को लेकर ज्यादा जानकारी तो सामने नहीं आई है, लेकिन ऐसी आशंका जताई गई है कि ये वैक्सीन के असर को कम कर सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस नए वेरिएंट को B.1.1.529 कहा है और इसे ओमिक्रोन नाम दिया गया है.

भारत में भी आ चुका है Covid Omicron Variant

कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन ने भारत में भी दस्तक दे दी है। कर्नाटक में कोरोना वायरस के ओमीक्रोन वेरिएंट के दो रोगियों की पुष्टि हुई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से यह जानकारी दी गई। केंद्रीय स्वास्थ्य संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने गुरुवार को बताया कि देश में देश में अब तक ओमीक्रोन वेरिएंट के दो मामले सामने आए हैं, दोनों मामले कर्नाटक से हैं।

जानें Covid Omicron Variant के बारे में क्या कहते हैं डॉक्टर्स

ओमिक्रॉन को लेकर ज्यादा जानकारी सामने नहीं आई है लेकिन डॉक्टरों ने बेहद ही सावधान रहने की अपील की है। इसी क्रम में मेदांता अस्पताल के संस्थापक डॉ. नरेश त्रेहान ने ओमिक्रॉन वैरिएंट को लेकर कई अहम जानकारियां दी हैं और लोगों को इससे सावधान रहने को कहा है। उन्होंने कहा है कि कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमित एक व्यक्ति 18 से 20 लोगों को कोरोना पॉजिटिव कर सकता है। डॉक्टर त्रेहान ने इसके पीछे का कारण बताया कि ओमिक्रॉन का R नॉट वैल्यू अन्य वैरिएंट की तुलना में कहीं ज्यादा है।

कोविड ओमिक्रॉन वेरिएंट इस तरह डाल सकता है आपकी जॉब और पढ़ाई पर असर

अगर आम जन सरकार द्वारा दी गाइडलाइंस का पालन नहीं करके इस कोविड ओमिक्रॉन वेरिएंट से बेखौफ हो जाएं तो यह वेरिएंट और भी घातक हो सकता है, और इसके बाद लॉकडाउन की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है, और आप सभी जानते हैं कि लॉकडाउन की वजह से कैसे पढ़ाई और जॉब में बाधा पहुंचती है। ऐसे में एक जिम्मेदार नागरिक की भांति व्यवहार करें और सरकार द्वारा जारी किए गए निर्देशों का भलीभांति पालन करें और दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करें।

आशा है आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी पसंद आई होगी, आपके कोई सवाल हो तो आप नीचे कमेंट में पूछ सकते हैं, इसके अलावा ऐसी ही जानकारियों हेतु सरकारी अलर्ट को बुकमार्क करें।

Leave a Comment