CCC Syllabus, Exam Pattern 2019 Full Detail in Hindi

CCC Syllabus and Exam Pattern

ccc syllabus

आधुनिक युग में कम्प्यूटर का बेसिक ज्ञान होना काफी आवश्यक है, कम्प्यूटर के ज्ञान के बिना आप अपनी रोजमर्रा की सामान्य चीजों को भी आसानी से पूरा नहीं कर सकते हैं। विभिन्न परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों के लिए कंप्यूटर का बेसिक ज्ञान तो बेहद ही आवश्यक है, क्योंकि आजकल लगभग सभी प्रतियोगी परीक्षाएं कम्प्यूटर के माध्यम से ही आयोजित की जाती है। अभ्यर्थियों को कम्प्यूटर में साक्षर बनाने हेतु (NIELIT) इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार के डिजिटल साक्षरता कार्यक्रम के तहत विभिन्न पाठ्यक्रमों का संचालन करता है। उनमें से कुछ एसीसी, बीसीसी, सीसीसी, सीसीसी + और ईसीसी हैं। ये सभी कोर्स अलग-अलग नौकरी के लिए आवश्यक योग्यता के लिए अनिवार्य हैं। ये कोर्स कई संस्थानों में चल रहे हैं। ये सभी संस्थान केवल अपने उम्मीदवारों को CCC कोर्स के बारे में सिखा सकते हैं, लेकिन संबंधित पाठ्यक्रम में उनकी सफलता के लिए, उम्मीदवारों को ऑनलाइन परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी। पाठ्यक्रम की यह परीक्षा हर महीने 1 शनिवार से शुरू होती है। इस लेख के माध्यम से आज हम आपको NIELIT के प्रारंभिक कोर्स CCC (कोर्स ऑफ कंप्यूटर कॉन्सेप्ट) के एग्जाम पैटर्न और सिलेबस के बारे में बताने जा रहे हैं।

CCC – ऑफिशयल वेबसाइट – इसकी परीक्षा हर माह आयोजित की जाती है.

CCC का एग्जाम पैटर्न

CCC परीक्षा बहुविकल्पीय वस्तुनिष्ठ प्रकार की होती है इसमें 1 प्रश्न के उत्तर के लिए 4 विकल्प दिए गए होते हैं, इसमें से अभ्यर्थियों को 1 सही उत्तर छांटना होता है।
अभ्यर्थियों को इस परीक्षा में 01 घंटे का समय दिया जाएगा, इसके अलावा प्रश्नो की कुल संख्या 100 होगी।
इस परीक्षा का प्रमाणपत्र केवल उन उम्मीदवारों को प्रदान किया जाएगा जो न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक प्राप्त करते हैं।
प्रमाण पत्र में कोई अंक नहीं होगा, इसमें ग्रेड सिस्टम होगा। उम्मीदवार नीचे दी गई तालिका से ग्रेड सिस्टम आवंटन की जांच कर सकते हैं।

CCC परीक्षा का सिलेबस
मॉडयूल-1

कंप्यूटर और बुनियादी अवधारणाओं का परिचय:

इसके तहत कंप्यूटर क्या है? कंप्यूटर का इतिहास, कंप्यूटर सिस्टम की विशेषताएं, कंप्यूटर के बुनियादी अनुप्रयोग के बारे में प्रश्न पूछे जाते हैं।

हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर की अवधारणा:

इस सेक्शन के तहत हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर, एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर, सिस्टम सॉफ्टवेयर, प्रोग्रामिंग लैंग्वेज, डेटा / सूचना का प्रतिनिधित्व, डाटा प्रोसेसिंग की अवधारणा से प्रश्न पूछे जा सकतें हैं।

मॉड्यूल -2 ऑपरेटिंग सिस्टम

ऑपरेटिंग सिस्टम की मूल बातें:

इसके तहत ऑपरेटिंग सिस्टम, लोकप्रिय ऑपरेटिंग सिस्टम जैसे (LINUX, WINDOWS) आदि से जुड़े प्रश्न पूछे जा सकतें हैं।

यूजर इंटरफ़ेस:

इसके तहत टास्क बार, आइकन, स्टार्ट मेनू और किसी एप्लिकेशन को स्टार्ट कैसे करते हैं इत्यादि चीजों से जुड़े प्रश्न पूछे जा सकते हैं।

ऑपरेटिंग सिस्टम सिंपल सेटिंग:

कम्प्यूटर के दिनांक और समय को बदलना, डिस्प्ले प्रॉपर्टीज बदलना, एक विंडोज कंपोनेंट जोड़ना या हटाना, माउस प्रॉपर्टीज बदलना, प्रिंटर्स, फाइल और डायरेक्टरी मैनेजमेंट, फाइल्स के प्रकार इत्यादि से जुड़े प्रश्न पूछे जा सकतें हैं।

मॉड्यूल -3 वर्ड प्रोसेसिंग के तत्व

वर्ड प्रोसेसिंग बेसिक्स:

मेन्यू बार के नीचे दिए गए आइकन का उपयोग करके वर्ड प्रोसेसिंग पैकेज, मेन्यू बार, हेल्प का उपयोग करना, दस्तावेज़ों को खोलना, सहेजना और सहेजना, पृष्ठ सेटअप, प्रिंट पूर्वावलोकन, दस्तावेज़ों की छपाई, दस्तावेज़ निर्माण, संपादन पाठ, पाठ चयन, कट, कॉपी और पेस्ट, फ़ॉन्ट और आकार चयन, पाठ का संरेखण, अनुच्छेद इंडेंटिंग, बुलेट्स और नंबरिंग आदि को करने की विधियां पूछी जा सकती हैं।

टेबल मैनिपुलेशन:

टेबल ड्रा, सेल की चौड़ाई और ऊँचाई बदलना, सेल में टेक्स्ट का संरेखण, पंक्ति और कॉलम को हटाना / सम्मिलित करना, बॉर्डर और छायांकन, सारांश, मॉडल प्रश्न और उत्तर।

मॉड्यूल -4 स्प्रेड शीट

स्प्रेड शीट बेसिक्स:

परिचय, उद्देश्य, स्प्रेड शीट का खोलना, सेल का पता, स्प्रेड शीट की छपाई, वर्कबुक को सेव करना, पाठ, संख्याओं और तिथियों को दर्ज करना, पाठ, संख्या और दिनांक श्रृंखला बनाना, कार्यपत्रक डेटा को संपादित करना, पंक्तियों को बदलना, हटाना, सेल ऊंचाई और चौड़ाई को बदलने का ज्ञान आपको होना चाहिए।
फ़ंक्शन और चार्ट: सूत्र, फ़ंक्शन, चार्ट, सारांश, मॉडल प्रश्न और उत्तर का उपयोग करना भी आपको आना चाहिये क्योंकि परीक्षा में इससे जुड़े प्रश्न अधिकतर पूछे जाते हैं।

मॉड्यूल -5

इंटरनेट, WWW और वेब ब्राउज़रों का परिचय

कंप्यूटर नेटवर्क के आधार जैसे लोकल एरिया नेटवर्क (LAN), वाइड एरिया नेटवर्क (WAN) आदि का ज्ञान आपको होना चाहिए। साथ ही इंटरनेट की अवधारणा, इंटरनेट आर्किटेक्चर की मूल बातें आपको पता होनी चाहिए। इसके अलावा इंटरनेट पर मौजूद विभिन्न सेवाएं जैसे वर्ल्ड वाइड वेब और वेबसाइट, इंटरनेट पर संचार, इंटरनेट सेवाएं आदि के बारे में आपको पता होना चाहिए।

इसके अलावा इंटरनेट एक्सेस के लिए कंप्यूटर तैयार करना जैसे आईएसपी (ब्रॉडबैंड / डायलअप / वाईफाई), इंटरनेट एक्सेस तकनीक का ज्ञान आपको होना चाहिए। इसके साथ ही वेब ब्राउजिंग सॉफ्टवेयर जैसे लोकप्रिय वेब ब्राउजिंग सॉफ्टवेयर, वेब ब्राउजर को कॉन्फ़िगर करना आपको आना चाहिए।

इसके अलावा आपको लोकप्रिय खोज इंजन / सामग्री के लिए खोज, वेब ब्राउज़र तक पहुँच, पसंदीदा फ़ोल्डर का उपयोग करना, वेब पेज डाउनलोड करना, वेब पेज, आदि आपको आना चाहिए।

मॉड्यूल -6 संचार और सहयोग

इसके सेक्शन के तहत आपको संचार और सहयोग की मूल बातें उसके परिचय, उद्देश्य का ज्ञान होना चाहिए। इसके अंतर्गत ई-मेल की मूल बातें जैसे एक इलेक्ट्रॉनिक मेल क्या है, ईमेल एड्रेसिंग, ईमेल क्लाइंट को कॉन्फ़िगर करना आदि आपको आना चाहिए।
ई-मेल का उपयोग करना: ई-मेल क्लाइंट खोलना, इनबॉक्स और आउटबॉक्स, एक नया ई-मेल बनाना और भेजना, एक ई-मेल संदेश का जवाब देना, एक ई-मेल संदेश अग्रेषित करना, सॉर्ट करना और ईमेल खोजना आपको आना चाहिए।

अग्रिम ईमेल विशेषताएं:

ई-मेल द्वारा दस्तावेज भेजना, वर्तनी जांच को सक्रिय करना, पता पुस्तिका का उपयोग करना, अनुलग्नक के रूप में सॉफ्टकॉपी भेजना, स्पैम को संभालने का ज्ञान आपको होना चाहिए।

मॉड्यूल -7 प्रेजेंटेशन

इस सेक्शन के तहत आपको प्रेजेंटेशन का परिचय, उद्देश्य, PowerPoint का उपयोग करना,PowerPoint के प्रेजेंटेशन को खोलना, एक प्रेजेंटेशन को सहेजना आदि आना चाहिए।
प्रेजेंटेशन का निर्माण: एक टेम्पलेट का उपयोग करके एक प्रेजेंटेशन बनाना, एक खाली प्रेजेंटेशन बनाना, प्रेजेंटेशन में प्रवेश और संपादन करना, प्रस्तुति में स्लाइड्स को हटाना और जोड़ना।

स्लाइड की तैयारी:

वर्ड टेबल या एक एक्सेल वर्कशीट को सम्मिलित करना, क्लिप आर्ट पिक्चर्स को जोड़ना, अन्य ऑब्जेक्ट्स को सम्मिलित करना, ऑब्जेक्ट को आकार देना और स्केल करना आदि आपको आना चाहिए।

प्रेजेंटेशन को सौंदर्य प्रदान करना:

इस सेक्शन के तहत आपको प्रेजेंटेशन के समय को बढ़ाना, रंग और रेखा शैली के साथ काम करना, मूवी और ध्वनि जोड़ना, हेडर और फूटर जोड़ना आना चाहिए।

स्लाइड्स की प्रस्तुति:

एक प्रस्तुति देखना, प्रस्तुति के लिए एक सेट अप चुनना, स्लाइडिंग और हैंडआउट्स को प्रिंट करना, स्लाइड शो चलाने का ज्ञान आपको होना चाहिए।

मॉडयूल- 8

डिजिटल वित्तीय सेवाओं के अनुप्रयोग की मूल बातें:

परिचय, उद्देश्य, बचत की आवश्यकता क्यों है, बैंक की आवश्यकता क्यों है, इसके अलावा बैंकिंग उत्पाद जैसे खातों और जमा के प्रकार, ऋण और ओवरड्राफ्ट के प्रकार, चेक का भरना, डिमांड ड्राफ्ट, खाते खोलने के लिए दस्तावेज, अपने ग्राहक को जानिए (केवाईसी), फोटो आईडी प्रमाण, पता प्रमाण, भारतीय मुद्रा आदि से संबंधित प्रश्न आपसे पूछे जा सकते हैं।

इसके अलावा एटीएम, इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, मोबाइल वॉलेट, राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (एनईएफटी), रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (आरटीजीएस), बीमा, जीवन बीमा और गैर-जीवन बीमा की आवश्यकता आदि का ज्ञान आपको होना चाहिए।

विभिन्न योजनाएँ:

प्रधानमंत्री जन-धन योजना (पीएमजेडीवाई), सामाजिक सुरक्षा योजनाएं जैसे प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (PMSBY), प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (PMJJBY), अटल पेंशन योजना (APY), प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY), राष्ट्रीय पेंशन योजना, सार्वजनिक भविष्य निधि (PPF) योजना आदि के बारे में भी आपको पता होना चाहिए।

मॉडयूल- 9 फ्यूचर स्किल और साइबर सुरक्षा

फ्यूचर्सकिल्स का परिचय, इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT), बिग डेटा एनालिटिक्स, क्लाउड कंप्यूटिंग, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी, 3 डी प्रिंटिंग , रोबोटिक्स प्रक्रिया स्वचालन, साइबर सुरक्षा, साइबर सुरक्षा की आवश्यकता, स्मार्टफोन और पर्सनल कम्प्यूटर सुरक्षित करने जैसे विषयों से आपसे प्रश्न पूछे जा सकते हैं।