CBSE CTET Social Studies Practice Set 07 | विगत परीक्षाओं में सबसे ज्यादा पूछे गए सामाजिक अध्ययन के 30 मुख्य प्रश्नों का संग्रह, अवश्य पढ़ें

CBSE CTET Social Studies Practice Set 07 : केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (CTET) का आयोजन आज से शुरू होगा एवं इस परीक्षा हेतु एडमिट कार्ड (प्रवेश पत्र) भी जारी कर दिया गया है। ऐसे में जिन उम्मीदवारों ने इस परीक्षा में हिस्सा लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन किया था उन्हें अपनी तैयारी को और भी तेज कर देना चाहिए, जिससे कि वो परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त कर सकें।

इस लेख के माध्यम से आज हम CTET Social Studies previous year question paper को लेकर आये हैं जो की परीक्षा दृष्टि से बेहद उपयोगी है साथ ही हमारे द्वारा प्रस्तुत यह CTET Social Studies mock test in hindi प्रैक्टिस सेट सभी उम्मीदवारों को उनकी तैयारी में नयी मजबूती देगा तथा अच्छे अंक प्राप्त करने में भी मदद करेगा।

CBSE CTET Social Studies Practice Set 07
CBSE CTET Social Studies Practice Set 07

CBSE CTET Social Studies Practice Set 07

प्रश्न. निम्नलिखित में से किस आदिवासी समाज को ‘खेल’ में विभाजित किया गया?

  • संथाल
  • गौंड
  • भील
  • अहोम

उत्तर: 4

प्रश्न. ‘मौसम और जलवायु’ की संकल्पना पढ़ाते समय सबसे उपयुक्त गतिविधि कौन-सी होगी जिससे विद्यार्थी मौसम के विभिन्न प्रकार के तत्वों को समझ ‘सकें?

  • उन्हें मौसम के तत्वों के प्रतीक / संकेत का चित्र बनाने के लिए कहना
  • नोटबुक में मौसम से जुड़े प्रश्नों के उत्तर लिखना
  • मौसम के तत्वों पर आधारित शिक्षक द्वारा उपलब्ध कराए गए कार्य – पत्रक (वर्कशीट) को हल करना
  • समाचार पत्र से लगातार पाँच दिनों के मौसम की रिपोर्ट को एकत्र करना और उन्हें अपनी नोटबुक में चिपकाना

उत्तर: 4

प्रश्न. सामाजिक विज्ञानों के शिक्षण में, बच्चों के संवेग बहुत आसानी से उजागर होते हैं-शब्दों से नहीं बल्कि दृश्यों और आवाजों से -इसके लिए शिक्षण का कौन- सा तरीका सबसे अधिक प्रभावी है?

  • क्षेत्र-भ्रमण और सर्वेक्षण
  • परियोजना पद्धति
  • कक्षीय चर्चाएँ
  • व्याख्यान पद्धति

उत्तर: 1

प्रश्न. ‘कॉमन एरा’ क्या है?

  • आदेश जारी करने के लिए सरकार द्वारा स्वीकृत भारतीय ‘एरा’
  • हिन्दू ‘एरा’ और इस्लामिक ‘एरा’ के सम्मिश्रण से विकसित एक नया ‘एरा’
  • ऐतिहासिक घटनाओं का अध्ययन करने का नया ‘एरा’
  • क्रिश्चियन ‘एरा’ जो अब दुनिया के अधिकांश हिस्सों में स्वीकृत है

उत्तर: 4

प्रश्न. ‘वर्णो’ में ‘जातियाँ’ क्यों उत्पन्न हुई, जो भारतीय समाज को संगठित करने का आधार बन गई?

  • आदिवासी लोगों को वर्ण-व्यवस्था में एकीकृत करने में समस्या थी
  • जाति और वर्ण समान है
  • वर्ण-व्यवस्था के विरुद्ध प्रबल विरोध था जिससे जातियों का विकास हुआ
  • लोगों की सामाजिक व आर्थिक आवश्यकताओं में नियमित विस्तार के कारण, नए कौशलों से सम्पन्न लोगों की जरूरत थी

उत्तर: 4

प्रश्न. ‘गरीबी’ को पढ़ाते समय कौन-सी व्यूह रचना सबसे ज्यादा उचित होगी?

  • वाद-विवाद और चर्चाओं में विद्यार्थियों को शामिल करना
  • विद्यार्थियों का पाठ्य-पुस्तक में से पढ़ने के लिए कहना और कठिन शब्दों के अर्थ की व्याख्या करना
  • नोट्स तैयार करना और अच्छा व्याख्यान देना
  • विद्यार्थियो को -हैण्ड-आउट्स’ देना और व्याख्या करना

उत्तर: 1

प्रश्न. यह देखा गया है कि सांस्कृतिक, सामाजिक और वर्ग- विभेद कक्षीय सन्दर्भ में अपने पक्षपात, पूर्वाग्रहों और अभिवृत्तियों को उत्पन्न करते हैं। अतः शिक्षण का उपागम होना चाहिए-

  • व्याख्यान पद्धति
  • चर्चा -उन्मुखी
  • परियोजना- उन्मुखी
  • मुक्त-अन्त

उत्तर: 2

यह भी पढ़ें

  1. CBSE CTET सामाजिक अध्ययन प्रैक्टिस सेट 06
  2. CBSE CTET सामाजिक अध्ययन प्रैक्टिस सेट 05
  3. CBSE CTET सामाजिक अध्ययन प्रैक्टिस सेट 04

प्रश्न. पाठ्य-पुस्तक में वर्णित, किसी समुदाय विशेष के लिए संवेदनशील मुद्दे को पढ़ाते समय-

  • शिक्षक को सभी विद्यार्थियों की गरिमा का सम्मान करते हुए संकल्पना को संवेदनशील और पूर्ण निष्ठा के साथ व्याख्यायित करना चाहिए
  • शिक्षक को विद्यार्थियों से कहना चाहिए कि वे इन पर पुस्तकालय में या घर पर नोट्स बनाएँ
  • शिक्षक को पाठ्य पुस्तक का सम्मान करना चाहिए और तथ्यों को उसी प्रकार व्याख्यायित करना चाहिए जैसे कि दिया गया है
  • शिक्षक को सक्षम अधिकारियों को लिखना चाहिए कि वे पाठ्यचर्या में से ऐसे विवादास्पद प्रकरण को हटा दें

उत्तर: 1

प्रश्न. एक शिक्षक-शिक्षिका कृषि के तरीकों को स्पष्ट करते हुए भारत और संयुक्त राज्य अमेरिका के कृषि-तरीकों से जुडे केस अध्ययनों पर चर्चा करता/करती है। वह सीखने के किस पहलू पर बल दे रहा/रही है?

  • बेहतर परियोजना बनाने की योग्यता
  • मूर्त उदाहरणों के माध्यम से तुलना और अन्तर करते हुए सीखने की योग्यता
  • संकल्पना को समझने की योग्यता
  • निर्वचन और व्याख्या करने की योग्यता

उत्तर: 2

प्रश्न. अब मीडिया को …….. के साथ निकटीय सम्बन्धों के कारण स्वतन्त्र नहीं माना जाता ।

  • गैर-सरकारी संस्थाओं
  • नागरिक समाज
  • सरकारी एजेन्सियों
  • व्यापारिक घरानों

उत्तर: 4

प्रश्न. निम्नलिखित में से किस समुदाय के सामाजिक, आर्थिक और शैक्षिक स्तर की जाँच करने के लिए न्यायाधीश राजिन्दर सच्चर की अध्यक्षता में भारत सरकार द्वारा समिति का गठन किया गया?

  • आंग्ल-भारतीय
  • मुस्लिम
  • जैन
  • सिक्ख

उत्तर: 2

प्रश्न. लोक सभा के प्रत्येक सत्र का प्रथम घण्टा …. से शुरू होता है।

  • सार्वजनिक काल
  • विशेषाधिकार काल
  • शून्य काल
  • प्रश्न काल

उत्तर: 4

प्रश्न. सभी भारतीयों को मतदान का अधिकार होना चाहिए चाहें उनका सामाजिक-आर्थिक स्तर कुछ भी हो। यह विचार ……….. द्वारा रखा गया।

  • महात्मा गाँधी
  • बी.आर. अबेडकर
  • डॉ. राजेन्द्र प्रसाद
  • जवाहरलाल नेहरू

उत्तर: 2

प्रश्न. प्रश्न-उत्तर तकनीक सामाजिक विज्ञान शिक्षण में काफी प्रभावी हो सकती क्योंकि यह …….. को सुनिश्चित करती है।

  • परीक्षा को बेहतर तरीके से करने सम्बन्धी विद्यार्थियों की योग्यता
  • विद्यार्थियों द्वारा अच्छी तैयारी के साथ कक्षा में आने
  • अर्थिक अनुशासित कक्षा
  • शिक्षार्थियों द्वारा सक्रिय सहभागिता

उत्तर: 4

प्रश्न. ‘दादन व्यवस्था’ है-

  • जहाँ व्यापारी राशि देता है और उत्पाद प्राप्त करता है
  • जहाँ व्यापारी कच्चे माल की आपूर्ति करता है और तैयार माल प्राप्त करता है
  • जहाँ व्यापारी अपने माल को किश्तों में बेचता है।
  • जहाँ व्यापारी श्रमिकों पर अतिरिक्त घण्टों के लिए काम करने हेतु जोर डालता है

उत्तर: 2

प्रश्न. सी.के. जानू एक बहुत प्रतिष्ठित …… हैं।

  • पटकथा लेखक
  • मानव-विज्ञानी
  • पर्यावरणविद्
  • आदिवासी कार्यकर्ता

उत्तर: 4

प्रश्न. एक शिक्षक-प्रशिक्षणार्थी इस प्रकार एक अनुदेश- नात्मक उद्देश्य लिखती है -‘विद्यार्थी लोकतन्त्र का अर्थ समझने योग्य हो पाएँगे।’ यह उद्देश्य किस क्षेत्र में आता है?

  • विश्लेषण
  • संश्लेषण
  • कौशल
  • बोधन

उत्तर: 4

प्रश्न. ‘बाल-केन्द्रित’ शिक्षाशास्त्र है-

  • बच्चों के अनुभवों उनके विचारों और उनकी सक्रिय सहभागिता को प्राथमिकता देना
  • वैयक्तिक ध्यान को सुनिश्चित करने के लिए छोटे शिशु देखभाल केन्द्रों पर बच्चों को पढ़ाना
  • बच्चे की इच्छानुसार शिक्षण
  • शिक्षक बच्चों के गोल घेरे में बीच में खड़ा होकर संकल्पनाओं को स्पष्ट करता है

उत्तर: 1

प्रश्न. आदिवासियों को रंग-बिरंगे कपड़े पहने, सिर पर मुकुट लगाए और नाचते-गाते हुए एक रूढ़िबद्ध रूप में प्रदर्शित करने के परिणामस्वरूप प्रायः-

  • संसार का ध्यान गरीब आदिवासियों की समस्याओं की ओर आकर्षित होता है
  • इस प्रकार से समूहों के प्रति भेदभाव होता है
  • आदिवासी संस्कृति को प्रात्साहन मिलता है
  • भारतीय संस्कृति की विविधता प्रदर्शित होती है

उत्तर: 2

प्रश्न. भारतीय संविधान द्वारा दिया गया……..नागरिकों को यह अनुमति देता है कि वे उच्च न्यायालय या सर्वोच्च न्यायालय जा सकते हैं यदि उन्हें ऐसा लगता है कि उनके मौलिक अधिकारों का सरकार द्वारा उल्लंघन हुआ है।

  • जीवन का अधिकार
  • संवैधानिक उपचारों का अधिकार
  • शोषण के विरुद्ध अधिकार
  • समानता का अधिकार

उत्तर: 2

प्रश्न. सहयोगी अधिगम की प्रक्रिया को बढ़ावा देने के लिए शिक्षक को-

  • कक्षा में समरूपी योग्यता-समूहों में विभाजित करना चाहिए
  • प्रत्येक विद्यार्थी को व्यक्तिगत दत्त कार्य देना चाहिए
  • सामूहिक परियोजना कार्य देने चाहिए
  • वाद-विविद और चर्चाओं में विद्यार्थियों को शामिल करना चाहिए

उत्तर: 3

प्रश्न. सामाजिक विज्ञान में आकलन का मुख्य उद्देश्य होना चाहिए ।

  • यह विश्वसनीय प्रतिपृष्टि (फीडबैक) उपलब्ध कराना कि किस सीमा तक शैक्षिक उद्देश्यों की प्राप्ति हुई है।
  • शिक्षार्थियों द्वारा मानविकी में सफल जीवन-वृत्ति को आगे बढ़ाने में सम्भावनाओं की भविष्यवाणी करना
  • शिक्षार्थियों ने किस सीमा तक विषय-वस्तु सम्बन्धी ज्ञान अर्जित किया, यह मापना
  • परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले विद्यार्थियों में ज्ञान की वांछित शैक्षणिक गुणत्ता बनाए रखना

उत्तर: 1

प्रश्न. सामाजिक विज्ञान कक्षा में अन्योन्यक्रिया पर्यावरण को बढ़ावा देने के लिए, निम्नलिखित में से कौन-सा उपागम सबसे उपयुक्त होगा?

  • व्याख्यान और स्पष्टीकरण
  • वृत्त-चित्र (डॉक्यूमेन्ट्रीज) दिखाना
  • श्रुतलेखन एवं अभ्यास
  • लगातार जाँच

उत्तर: 2

प्रश्न. ‘सामाजिक और राजनीतिक जीवन’ पाठ्य-पुस्तकें बच्चे के संसार के प्रति शिक्षा को सन्दर्भित करने के लिए निम्नलिखित में से किस पद्धति का उपयोग करती हैं?

  • वे इस सन्दर्भ में किए गए अनेक सर्वेक्षणों के निष्कर्षो का उदाहरण देती हैं
  • वे ध्यान भंग होने से बचने के लिए कम तस्वीरों को सम्मिलित करती हैं।
  • वे चतुराई से भारतीय व्यक्तियों के सामाजिक और राजनीतिक जीवन को सम्मिश्रित करती हैं
  • वे ग्रामीण और शहरी उदाहरणों के सम्मिश्रण के अनेक केस अध्ययनों एवं वर्णनों का प्रयोग करती हैं

उत्तर: 4

प्रश्न. पुस्तक ‘सामाजिक व राजनैतिक जीवन भाग-II’, अन्य पद्धतियों के साथ-साथ, निम्नलिखित में से कौन-सी मूल्यांकन पद्धति का समर्थन करती है?

  • सूचना प्रौद्योगिकी (कम्प्यूटर) द्वारा मूल्यांकन
  • लिखित परीक्षाएँ
  • खुली पुस्तकों द्वारा अभ्यास हल करवाना
  • निजी साक्षात्कार

उत्तर: 3

प्रश्न. शिक्षा बिना बोझ के (1993)’ यह अनुशंसित करता है कि सामाजिक विज्ञानों में अधिगम को-

  • व्यवसायों के लिए प्रासंगिक कुशलताओं का विकास करना चाहिए
  • विकासात्मक मुद्दों को उद्घाटित करने के लिए ज्ञान- मीमांसीय रूपरेखा का लगातार अनुपालन करना चाहिए
  • महत्वपूर्ण सूचनाओं के संधारण करने में सहायता करनी चाहिए
  • सामाजिक-राजनीतिक वास्तविकताओं का विश्लेषण करने हेतु संकल्पनाओं और योग्यताओं के विकास को बढ़ावा देना चाहिए

उत्तर: 4

प्रश्न. निम्नलिखित में से कौन-सा मौखिक तर्कणा सम्बन्धित है ?

  • संकल्पनाओं का तत्काल अनुप्रयोग एवं वाग्विस्तार
  • चरणबद्ध प्रक्रिया (ऐल्गोरिथ्म) का वर्णन करना
  • समकक्ष व्यक्तियों का अनुकरण
  • शब्दों का जोर से उच्चारण करते हुए एक लेख लिखना

उत्तर: 1

प्रश्न. जनहित याचिका (PIL) द्वारा……… आई है।

  • न्यायिक सक्रियता में गिरावट
  • सरकारी काम-काज में बाधा
  • न्याय मिलने में बढ़त
  • न्याय मिलने में बाधा

उत्तर: 3

प्रश्न. ‘शिक्षा का अधिकार’ अनुच्छेद 21 के अन्तर्गत एक मौलिक अधिकार है जो ‘जीवन का अधिकार’ से सम्बन्धित है क्योंकि-

  • शिक्षा गरिमामय जीवन जीने में सहायता करती है
  • केवल शिक्षित व्यक्तियों को जीवन का अधिकार है
  • शिक्षा जीवन हैं.
  • सभी व्यक्तियों को शिक्षा का अधिकार नहीं है।

उत्तर: 1

प्रश्न. ऐतिहासिक स्थल वह है जहाँ-

  • अतीत के स्मृति शेष/अवशेष मिलते हैं।
  • उत्खनन के क्रियाकलाप होते हैं
  • इतिहास- प्रिय लोग जुटते हैं।
  • इतिहासकार इतिहास लिखते हैं।

उत्तर : ?

इस प्रश्न का सही उत्तर क्या होगा? हमें अपना जवाब कमेंट सेक्शन में जरूर दें।

कमेन्ट करें