CBSE CTET Exam 2022 | लारेन्स कोलबर्ग के नैतिक विकास से सम्बंधित महत्वपूर्ण प्रश्न, अवश्य अध्ययन करें

CBSE CTET Exam Lawrence Kohlberg’s Theory Important Questions : केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) द्वारा केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (CTET) हेतु शार्ट नोटिस जारी कर दी गयी है तथा यह परीक्षाओं दो भागो में होती है, इस परीक्षा हेतु ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया 31/10/2022 से शुरू हो गयी है और आवेदन करने की आख़िरी तारीख 24/11/2022 तय की गयी है। साथ ही बात करें इसकी परीक्षा की तो इसकी परीक्षा दिसम्बर 2022 में आयोजित की जायेगी।

ऐसे में आज हम इस लेख के माध्यम से Kohlberg’s stages of moral development worksheet answers को लेकर आये हैं जो की परीक्षा दृष्टि से बेहद उपयोगी है साथ ही हमारे द्वारा प्रस्तुत यह Kohlberg theory of moral development PDF प्रैक्टिस सेट सभी उम्मीदवारों को उनकी तैयारी में नयी मजबूती देगा तथा अच्छे अंक प्राप्त करने में भी मदद करेंगा।

CBSE CTET Exam Lawrence Kohlberg's Theory Important Questions
CBSE CTET Exam Lawrence Kohlberg’s Theory Important Questions

CBSE CTET Exam Lawrence Kohlberg’s Theory Important Questions (15 MCQ)

प्रश्न. कोहलबर्ग के अनुसार, बच्चे सीखते हैं?

  • संज्ञानात्मक विकास के चरण
  • शारीरिक विकास के चरण
  • संवेगात्मक विकास के चरण
  • नैतिक विकास के चरण

उत्तर: 4

प्रश्न. एक बच्चा तर्क प्रस्तुत करता है “आप यह मेरे लिए करें और मैं वह आपके लिए करूँगा।” यह बच्चा कोह्लबर्ग की नैतिक तर्कणा की किस अवस्था के अन्तर्गत आएगा?

  • अच्छा लड़का-लड़की’ अभिमुखीकरण
  • सामाजिक अनुबन्ध अभिमुखीकरण
  • सहायक उद्देश्य अभिमुखीकरण
  • दण्ड और आज्ञापालन अभिमुखीकरण

उत्तर: 2

प्रश्न. कोहलबर्ग के अनुसार वह स्तर जिसमें बालक की नैतिकता दण्ड के भय से नियन्त्रित रहती है, कहलाती है

  • पूर्व-नैतिक अवस्था
  • परम्परागत नैतिक स्तर
  • आत्म-स्वीकृत नैतिक अवस्था
  • नैतिकता स्तर

उत्तर : 1

प्रश्न. रिक्त स्थान भरिए: “कोहलबर्ग का सिद्धान्त एक
बालक ………. के विकास की व्याख्या करता है।”

  • अनैतिक
  • नैतिक
  • अनैतिक व नैतिक
  • इनमें से कोई नहीं

उत्तर: 2

प्रश्न. लॉरेंस कोह्लबर्ग के सिद्धांत में, कौन सा स्तर सही अर्थों में नैतिकता की अनुपस्थिति को दर्शाता है?

  • स्तर III
  • स्तर IV
  • स्तर I
  • स्तर II

उत्तर: 3

प्रश्न. कोहलबर्ग के अनुसार, एक शिक्षक बच्चों में नैतिक मूल्यों को जन्म दे सकता है?

  • ‘व्यवहार कैसे करें’ पर सख्त निर्देश देना
  • नैतिक मुद्दों पर चर्चा में उन्हें शामिल करना
  • व्यवहार के स्पष्ट नियम रखना
  • धार्मिक शिक्षाओं को महत्व देना

उत्तर: 2

प्रश्न. 9 वर्ष के बालक की नैतिक तर्कना आधारित होती है

  • किसी कार्य के भौतिक परिणाम उसकी अच्छाई या बुराई को निर्धारित करते हैं
  • कोई कार्य सही होना इस बात पर निर्भर करता है कि उससे व्यक्ति को अपनी आवश्यकता पूर्ति होती है
  • नियमों का पालन करने के बदले में कुछ लाभ मिलना चाहिए
  • सही कार्य वह है जो उस व्यक्ति के द्वारा किया जाए जो अन्य व्यक्तियों को अपने व्यवहार से प्रभावित करता है।

उत्तर: 1

प्रश्न. ऋत क्या है?

  • नैतिक व्यवस्था
  • सत्य और अविनाशी सत्ता
  • नैतिक नियम
  • उपरोक्त सभी

उत्तर: 4

यह भी पढ़ें

  1. Lev Vygotsky Theory Related Important Questions
  2. Jean Piaget Theory Important Questions

प्रश्न. लारेंस कोहलवर्ग के नैतिक सिद्धान्त के किस स्तर पर नैतिक मूलक सिद्धान बालकों के “आन्तरिक नियन्त्रण’ में रहता है?

  • प्राक् रूढ़िगत स्तर
  • रूढ़िगत स्तर
  • उत्तर रूढ़िगत स्तर
  • परम्परागत स्तर

उत्तर: 3

प्रश्न. कोहलबर्ग के नैतिक विकास के सिद्धान्त के अनुसार निम्न अवस्था में लोगों की आशा तथा इच्छाएँ पूरी करने के सन्दर्भ में सही या गलत का निर्णय लेता है

  • अवस्था-1
  • अवस्था- 3
  • अवस्था-2
  • अवस्था-4

उत्तर: 2

प्रश्न. कोहलबर्ग के नैतिक तर्क के चरणों के संदर्भ में, किस चरण के तहत किसी बच्चे के गिरने की विशिष्ट प्रतिक्रिया होगी? “यदि आप ईमानदार हैं तो आपके माता-पिता को आप पर गर्व होगा। इसलिए आपको ईमानदार होना चाहिए।

  • सामाजिक अनुबंध अभिविन्यास
  • सजा-आज्ञापालन अभिविन्यास
  • गुड गर्ल-गुड बॉय ओरिएंटेशन
  • लॉ एंड ऑर्डर ओरिएंटेशन

उत्तर: 3

प्रश्न. कोहलबर्ग के सिद्धांत के पूर्व-पारंपरिक स्तर के अनुसार, नैतिक निर्णय लेते समय निम्नलिखित में से किसके लिए एक व्यक्तिगत मोड़ होगा?

  • व्यक्तिगत ज़रूरतें और इच्छाएँ
  • व्यक्तिगत मूल्य
  • पारिवारिक अपेक्षाएँ
  • संभावित सजा शामिल है

उत्तर: 4

प्रश्न. लॉरेन्स कोलबर्ग के सिद्धान्त के अनुसार, “किसी कार्य को इसलिए करना, क्योंकि दूसरे इसे स्वीकृति देते हैं”, नैतिक विकास के …….. चरण को दर्शाता है।

  • उत्तर-प्रथागत
  • अमूर्त संक्रियात्मक
  • प्रथा-पूर्व
  • प्रथागत

उत्तर: 4

प्रश्न. कोहलबर्ग के अनुसार सही और गलत प्रश्न के बारे में निर्णय लेने में शामिल चिन्तन-प्रक्रिया को कहा जाता है।

  • नैतिक दुविधा
  • सहयोग की नैतिकता
  • नैतिक तर्कणा
  • नैतिक यथार्थवाद

उत्तर: 3

प्रश्न. लारेंस कोहलवर्ग किस वर्ग के बच्चों पर नैतिक सिद्धान्त की खोज की थी –

  • 10-15 वर्ष
  • 10-16 वर्ष
  • 8-16 वर्ष
  • 12-18 वर्ष

उत्तर : ?

इस प्रश्न का सही उत्तर क्या होगा? हमें अपना जवाब कमेंट सेक्शन में जरूर दें।

  1. 8-16 year

    Reply
  2. 10-16 वर्ष

    Reply
  3. 3. 8-16 year

    Reply
    • Suresh kumar

      Reply
      • Suresh kumar

कमेन्ट करें