CBSE CTET Exam 2023 | लेव वाइगोत्सकी के सिद्धांत पर आधारित 15 महत्वपूर्ण प्रश्न

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) द्वारा केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन शुरू हो चुका है। सीबीएसई सीटीईटी परीक्षा 2022-23 का आयोजन 28 दिसम्बर 2022 से लेकर 07 फरवरी 2023 तक किया जायेगा। आपको बता दें कि सीटेट परीक्षा के लिये इस वर्ष कुल 32.45 लाख उम्मीदवारों ने रजिस्ट्रेशन किया है।

सीटेट परीक्षा की तैयारी कर रहे सभी उम्मीदवारों के लिये आज हम इस लेख के माध्यम से विगत परीक्षाओं में पूछें गये ”लेव वाइगोत्सकी के सिद्धांत” के महत्वपूर्ण प्रश्नों को उत्तर सहित लेकर आये हैं तथा इन प्रश्नों का अध्ययन करके उम्मीदवार सीटेट परीक्षा 2023 में उच्चतम अंक प्राप्त करने और प्रश्नों के प्रकार समझने में आसानी प्राप्त होगी।

CBSE CTET Exam 2023 Lev Vygotsky's theory Related Questions

प्रश्न. वाइगोत्सकी के अनुसार बच्चे स्वयं से क्यों बोलते हैं?

  • बच्चे अपने प्रति वयस्कों का ध्यान आकर्षित करने के लिए बोलते हैं
  • बच्चे स्वभाव से बहुत बातूनी होते हैं
  • बच्चे अहंकेन्द्रित होते हैं
  • बच्चे अपने कार्य को दिशा देने के लिए बोलते है

उत्तर: 4

प्रश्न. लेव वाइगोत्स्की के अनुसार, संज्ञानात्मक विकास का मूल कारण है?

  • सामाजिक अन्योन्यक्रिया
  • मानसिक प्रारूपों (स्कीमाज) का समायोजन
  • उद्दीपक अनुक्रिया युग्मन
  • सन्तुलन

उत्तर: 1

प्रश्न. वाइगोत्सकी के अनुसार, समीपस्थ विकास का क्षेत्र है

  • अध्यापिका के द्वारा दिए गए सहयोग की सीमा निर्धारित करना
  • बच्ची-अपने-आप क्या कर सकती है जिसका आकलन नहीं किया जा सकता
  • बच्चे के द्वारा स्वतन्त्र रूप से किए जा सकने वाले तथा सहायता के साथ करने वाले कार्य के बीच अन्तर
  • बच्चे को अपना सामर्थ्य प्राप्त करने के लिए उपलब्धता कराए गए सहयोग की मात्रा एवं प्रकृति

उत्तर: 3

प्रश्न : वाइगोत्स्की की संस्तुति के अनुसार, बच्चों की ‘व्यक्तिगत वाक’ की संकल्पना-

  • प्रदर्शित करती है कि बच्चे अपने-आप से प्यार करते
  • स्पष्ट करती है कि बच्चे अपने ही कार्यों के निर्देशन के लिए भाषा का उपयोग करते हैं।
  • प्रदर्शित करती है कि बच्चे बुद्ध होते हैं इसलिए उन्हें प्रौढ़ों के निर्देशन की आवश्यकता होती है
  • स्पष्ट करती है कि बच्चे अहं-केन्द्रित होते हैं।

उत्तर: 2

प्रश्न. वाइगोत्स्की के सिद्धान्त का निहितार्थ है?

  • प्रारम्भिक व्याख्या के बाद कठिन सवालो को हल करने में बच्चे की सहायता न करना
  • बच्चे उन बच्चों की संगति में श्रेष्ठतम रूप से सीख सकते हैं जिनका बुद्धि लब्धांक उनके बुद्धि लब्धांक से कम होता है
  • सहयोगात्मक समस्या समाधान
  • प्रत्येक विद्यार्थी को व्यक्तिगत रूप से दत्त कार्य देना

उत्तर: 3

प्रश्न : वाइगोत्स्की, के अनुसार, बच्चे सीखते हैं?

  • जब पुनर्बलन प्रदान किया जाता है
  • परिपक्व होने से
  • अनुकरण से
  • वयस्कों और समवयस्कों के साथ परस्पर क्रिया से

उत्तर: 4

प्रश्न. वाइगोत्सकी तथा पियाजे के प्ररिप्रेक्ष्यों में एक प्रमुख विभिन्नता है?

  • व्यवहारवादी सिद्धान्तों की उनकी आलोचना
  • ज्ञान के सक्रिय निर्माताओं के रूप में बच्चों की संकल्पना
  • बच्चों को एक पालन-पोषण का परिवेश उपलब्ध कराने की भूमिका
  • भाषा एवं चिन्तन के बारे में उनके दृष्टिकोण

उत्तर: 4

प्रश्न. एक शिक्षिका अपने शिक्षार्थियों की इस रूप में मदद करना चाहती है कि वे एक स्थिति की अनेक दृष्टिकोणों से सराहना कर सकें। वह विभिन्न समूहों में एक स्थिति पर वाद-विवाद करने के अनेक अवसर उपलब्ध कराती है। वाइगोत्स्की के परिप्रेक्ष्य के अनुसार उसके शिक्षार्थी विभिन्न दृष्टिकोणों को …..करेंगे और अपने तरीके से उस स्थिति के अनेक परिप्रेक्ष्य विकसित करेंगे।

  • तर्कसंगत
  • आत्मसात्
  • सक्रियाकरण
  • निर्माण

उत्तर: 2

प्रश्न. लेव वाइगोत्स्की के अनुसार संज्ञानात्मक विकास का मूल कारण है?

  • सन्तुलन
  • सामाजिक अन्योन्यक्रिया
  • उद्दीपक अनुक्रिया युग्मन

उत्तर: 2

इसे भी पढ़ें

  1. सामान्य हिन्दी के 30 महत्वपूर्ण प्रश्न
  2. सीबीएसई CTET एग्जाम 2023, CDP MCQ – 09

प्रश्न. लेव वाइगोत्सकी के समाज संरचना सिद्धान्त में दृढ़ विश्वास रखने वाले शिक्षक के नाते आप अपने बच्चों के आकलन के लिए निम्नलिखित में से किस विधि को वरीयता देंगे?

  • सहयोगी प्रोजेक्ट
  • मानकीकृत परीक्षण
  • तथ्यों पर आधारित प्रत्यास्मरण के प्रश्न
  • वस्तुपरक बहुविकल्पी प्रकार के प्रश्न

उत्तर: 1

प्रश्न. मनोवैज्ञानिक वाइगोत्सकी कहाँ के थे?

  • जापान
  • रूस
  • फ्रांस
  • चीन

उत्तर: 2

प्रश्न. निम्नलिखित कथनों में से कौन-सा वाइगोत्स्की के द्वारा प्रस्तावित विकास तथा अधिगम के बीच सम्बन्ध का सर्वश्रेष्ठ रूप में सार प्रस्तुत करता है?

  • विकास अधिगम से स्वाधी है।
  • अधिगम एवं विकास सामान्तर प्रक्रियाएँ हैं
  • विकास प्रक्रिया, अधिगम प्रक्रिया से पीछे रह जाती है
  • विकास अधिगम का समानार्थक है

उत्तर: 3

प्रश्न. बच्चों के बारे में निम्नलिखित कथनों में से किस कथन से वाइगोत्स्की सहमत होते?

  • बच्चे तब सीखते हैं जब उनके लिए आकर्षक पुरस्कार निर्धारित किए जाएँ
  • बच्चों के चिन्तन को तब समझा जा सकता है जब प्रयोगशाला में पशुओं पर प्रयोग किए जाएँ
  • बच्चे जन्म से शैतान है और उन्हें दण्ड देकर नियन्त्रित किया जाना चाहिए
  • बच्चे समवयस्कों और वयस्कों के साथ सामाजिक अन्तः क्रियाओं के माध्यम से सीखते हैं

उत्तर: 4

प्रश्न. वाइगोत्स्की ने बाल विकास के बारे में कहा कि-

  • यह संस्कारों की आनुवांशिकी के कारण होता है
  • यह सामाजिक अन्तक्रियाओं का उत्पाद होता है
  • औपचारिक शिक्षा का उत्पाद होता है
  • यह समावेशन और समायोजन का परिणाम होता है

उत्तर: 2

प्रश्न.‘जोन ऑफ प्रॉक्सिमल डेवलपमेण्ट (ZPD) का प्रत्यय दिया गया’?

  • बन्डुरा द्वारा
  • पियाजे द्वारा
  • स्किनर द्वारा
  • वाइगोट्स्की द्वारा

उत्तर : ?

इस प्रश्न का सही उत्तर क्या होगा? हमें अपना जवाब कमेंट सेक्शन में जरूर दें।

  1. Reply 4

    Reply
  2. 2सरकार मेरी है , ना रौब मेरा है, ना बड़ा सा नाम मेरा है। मुझे बस एक छोटी सी बात का अभिमान है, मैं हिंदुस्तान का हूँ और हिंदुस्तान मेरा है। बचपन का वो भी एक दौर था गणतंत्र में भी खुशी का शोर था। ना जाने क्यू में इतना बड़ा हो गया इंसानियत में मजहबी बैर हो गया।। Happy Republic day 🥰 all’off You 🇮🇳🥰
    Instagram I’d seenu verma ( official.see_nu)

    Reply
कमेन्ट करें