Bihar TET Syllabus 2021 In Hindi – Exam Pattern & Bihar TET Syllabus PDF

शेयर करें :

Bihar TET Syllabus 2021 In Hindi : Bihar School Examination Board (BSEB) द्वारा बिहार के प्राथमिक टीचर के लिए बिहार टीईटी परीक्षा का आयोजन किया जाता है, यदि आपको बिहार राज्य में प्राथमिक विद्यालय का सरकारी टीचर बनना है, तो आपको ये परीक्षा पास करनी आवश्यक है, यदि आप इस परीक्षा को पास नहीं कर पाते हैं तो आप बिहार में सरकारी टीचर योग्य नहीं माने जाएंगे।

BIHAR TERT SYLLABUS HINDI
BIHAR TERT SYLLABUS HINDI

Bihar TET Syllabus 2021 In Hindi

Bihar TET Syllabus In Hindi 2021: यदि आप आज परीक्षा ज्यादा अंको के साथ पास करना चाहते है, तो आपको Bihar TET Syllabus In Hindi & Bihar TET Exam Pattern के बारे में विस्तार से पता होना आवश्यक है।

Bihar TET Syllabus In Hindi – संक्षिप्त विवरण

परीक्षा बोर्ड का नामBihar School Examination Board (BSEB)
परीक्षा का स्तरराज्य स्तरीय
आवेदन मोडऑनलाइन
परीक्षा का नामBihar Tet 2021
BIHAR TET Selection ProcessWritten Test (लिखित परीक्षा)
पद का नामPrimary Teacher
परीक्षा का मोडऑफलाइन (पेन और पेपर के माध्यम से)
लेख का नामBihar TET Syllabus 2021
आधिकारिकhttp://biharboardonline.bihar.gov.in/

BIHAR TET Exam Pattern 2021

BIHAR TET Exam Pattern : Bihar TET exam को क्रेक करना है और बिहार टीईटी परीक्षा में अच्छे अंक लाने है, तो उम्मीदवार को प्रत्येक विषय और परीक्षा में पूछे गए परीक्षा पैटर्न के सभी विषयों के बारे में पूरी तरह जानकारी होनी आवश्यक है, नीचे हम आपको Bihar TET Exam Pattern के बारे के बताने जा रहे जिसको ध्यान पूर्वक पढ़े।

यह परीक्षा दो अलग-अलग चरणों में आयोजित की जाती है, पहले पेपर में पास करने पर उम्मीदवार कक्षा 1 से लेकर 5 तक के टीचर के लिए योग्य माना जाता है वही, अभ्यार्थी दूसरा पेपर भी पास कर लेता है तो कक्षा 6 से 8 तक के टीचर के लिए योग्य माना जाता है।

  • यह परीक्षा दो चरणो में कराई जाती है।
  • पेपर I : यह परीक्षा कक्षा 1 से लेकर 5 तक के लिए है।
  • पेपर II : यह परीक्षा कक्षा 6 से लेकर 8 तक के लिए है।
  • Bihar TET परीक्षा में मल्टीपल च्वाइस क्वेश्चन (बहुविकल्पी प्रकार के) आते हैं। इसमें आपको चार विकल्प दिया रहेगा जिसमें से एक सही होगा उसी को आपको चिन्हित करना होगा।
  • इस परीक्षा में कुल 150 प्रश्न आते है।
  • इसमें 150-150 अंक होते हैं।
  • इसका पहला पेपर देना अनिवार्य है।
  • इसका पहला पेपर दिये बिना अभ्यर्थी दूसरे पेपर में नही बैठ सकता है।
  • इस परीक्षा की समय अवधि 2 घण्टे 30 मिनट/ 150 मिनट की होती है।
  • इस परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग नही होती है।
  • पेपर II में अभ्यर्थी गणित और सामाजिक विज्ञान विषय में से किसी एक का चुनाव कर सकते है।

Bihar TET Syllabus For Paper- I

BTET विषयप्रश्नों की संख्या/ अंकसमय (मिनट में)
बाल विकास और शिक्षाशास्त्र30/3030
भाषा प्रथम -हिंदी30/3030
भाषा द्वितीय- अंग्रेजी/उर्दू/संस्कृत30/3030
गणित30/3030
पर्यावरण अध्यन30/3030
कुल150/150150 मिनट

BIHAR TET (BTET) Paper-II Exam Pattern 2021

विषयप्रश्नो की संख्या/ अंकसमय (मिनट में)
बाल विकास और शिक्षाशास्त्र30/3030
भाषा प्रथम -हिंदी30/3030
भाषा द्वितीय- अंग्रेजी/उर्दू/संस्कृत30/3030
पर्यावरण अध्यन30/3030
गणित/सामाजिक विज्ञान30/3030
कुल150150 मिनट

Bihar Teachers Eligibility Test Syllabus 2021 –  Language I

  • आनुवंशिकता का प्रभाव।
  • विकास की अवधारणा और सीखने के साथ इसका संबंध।
  • बच्चों के विकास के सिद्धांत।
  • बच्चों की सीखने की रणनीतियों: बाल समस्या समाधान और प्रेरणा और सीखने के रूप में।
  • इंटेलिजेंस के निर्माण का महत्वपूर्ण परिप्रेक्ष्य।
  • भाषा की समझ।
  • समाजीकरण की प्रक्रियाएं।
  • बाल-केंद्रित और प्रगतिशील शिक्षा की अवधारणा।
  • लिंग भूमिकाएं और पूर्वाग्रह।
  • मल्टी-डाइमेंशनल इंटेलिजेंस।
  • भाषा और विचार।
  • बच्चे कैसे सोचते और सीखते हैं।
  • सुनने और बोलने का ज्ञान आदि।

BTET Test Syllabus 2021 –  Language II

  • भाषा कौशल।
  • भाषा शिक्षण के सिद्धांत।
  • भाषा की समझ और योग्यता का मूल्यांकन: बोलना, सुनना, पढ़ना और लिखना।
  • विकारों।
  • विचारों को संप्रेषित करने के लिए एक भाषा सीखने में व्याकरण की भूमिका पर एक महत्वपूर्ण परिप्रेक्ष्य।
  • बातों को समझना मौखिक रूप से और लिखित रूप में।
  • एक विविध कक्षा में भाषा सिखाने की चुनौतियाँ; भाषा कठिनाइयों, त्रुटियों।
  • शिक्षण-शिक्षण सामग्री: पाठ्यपुस्तक, बहु-मीडिया सामग्री, कक्षा का बहुभाषी संसाधन।
  • सीखना और अधिग्रहण।
  • उपचारात्मक शिक्षण आदि।

BTET Teacher Syllabus 2021 – Child Development And Pedagogy

  • भाषा और विचार।
  • सीखने में योगदान करने वाले कारक – व्यक्तिगत और पर्यावरण।
  • बच्चों के विकास के सिद्धांत।
  • आनुवंशिकता और पर्यावरण का प्रभाव।
  • इंटेलिजेंस के निर्माण का महत्वपूर्ण परिप्रेक्ष्य।
  • सीखने की कठिनाइयों वाले बच्चों की आवश्यकताओं को संबोधित करना।
  • मल्टी-डाइमेंशनल इंटेलिजेंस।
  • समाजीकरण की प्रक्रिया: सामाजिक दुनिया और बच्चे (शिक्षक, माता-पिता, सहकर्मी।
  • प्रेरणा और सीख।
  • शिक्षण और सीखने की बुनियादी प्रक्रियाएं।
  • बच्चों की सीखने की रणनीति।
  • एक सामाजिक गतिविधि के रूप में सीखना।
  • विकास की अवधारणा और सीखने के साथ इसका संबंध।
  • बाल-केंद्रित और प्रगतिशील शिक्षा की अवधारणा।
  • सीखने का सामाजिक संदर्भ।
  • बाल समस्या समाधानकर्ता और वैज्ञानिक अन्वेषक के रूप में।
  • अनुभूति और भावनाएँ इत्यादि।

BTET Syllabus 2021- English

  • मुहावरे और वाक्यांश (Idioms and Phrases)
  • विलोम शब्द (Antonyms)
  • खोलना त्रुटियां (Spotting Errors)
  • प्रतिस्थापन (substitution)
  • पदबंधों (Homonyms)
  • थीम डिटेक्शन (Theme Detection)
  • परिपोजिसन (prepositions)
  • अक्षर विन्यास परीक्षा (Spelling Test)
  • सेंटेंस जुड़ना (Joining Sentences)
  • परिवर्तन (Transformation)
  • त्रुटि सुधार (बोल्ड में वाक्यांश) (Error Correction (Phrase in Bold)
  • पैसेज पूरा करना (Passage Completion)
  • रिक्त स्थान भरें (Fill in the blanks)
  • आंकड़ा निर्वचन (Data Interpretation)
  • परा पूर्णता (Para Completion)
  • वाक्य सुधार (Sentence Improvement)
  • स्पेलिंग टेस्ट (Spelling Test)
  • वाक्य पूरा करना (Sentence Completion)
  • डायरेक्ट – इनडायरेक्ट (Direct and Indirect speech)
  • त्रुटि को सुधारे (Error Correction (Underlined Part)
  • समानार्थक शब्द (synonyms)
  • शब्द को सही रूप में बनाना (Word Formation)
  • एक्टिव और पैसिव (Active and Passive Voice)
  • वाक्य सुधारना (Sentence Arrangement), इत्यादि।

Bihar BTET Syllabus– Mathematics

  • संख्या प्रणाली (Number System)
  • आंकड़ा निर्धारण (Data Interpretation)
  • दशमलव भिन्न (Decimal & Fractions)
  • साधारण ब्याज (Simple Interest)
  • समय और दूरी (Time and Distance
  • सरलीकरण (Simplifications)
  • मिश्रण और एलिगेशन (Mixtures & Allegations)
  • ल0स0 और म0स0 (LCM & HCF)
  • उम्र की समस्या (Problems on Ages)
  • समय और काम (Time and Work)
  • औसत (Averages)
  • चक्रवृद्धि ब्याज (Compound Interest)
  • अनुपात और अनुपात (Ratio and Proportions)
  • लाभ और हानि (Profit and Loss)
  • प्रतिशत (Percentages)
  • ज्यामिति।
  • आकृतियाँ और स्थानिक मान की समझ।
  • जोड़ और घटाव।
  • गुणा।
  • भागा।
  • माप तोल-वजन, समय, आयतन, आदि।

सामाजिक अध्ययन / सामाजिक विज्ञान: इतिहास

  • देश में कब कहां और कैसे।
  • समाज के बारे में जानकारी।
  • पहला किसान और चरवाहा।
  • पहला शहर।
  • प्रारंभिक राज्य।
  • नए विचार।
  • पहला साम्राज्य।
  • दूर देश।
  • राजनीतिक विकास।
  • संस्कृति और विज्ञान।
  • नए राजा और राज्यों के साथ संपर्क।
  • दिल्ली के सुल्तान।
  • वास्तुकला।
  • एक साम्राज्य का निर्माण।
  • सामाजिक परिवर्तन।
  • क्षेत्रीय संस्कृति।
  • कंपनी पावर ग्रामीण जीवन और समाज की स्थापना।
  • उपनिवेशवाद और आदिवासी समाज।
  • 1857-58 का विद्रोह।
  • जाति व्यवस्था।
  • राष्ट्रवादी आंदोलन।
  • आजादी के बाद भारत आदि।

भूगोल

  • भूगोल एक सामाजिक अध्ययन और एक विज्ञान के रूप में।
  • ग्रह: सौर मंडल में पृथ्वी।
  • पर्यावरण
  • प्रकृति और मानव पर्यावरण।
  • वायु।
  • जल।
  • मानव पर्यावरण।
  • परिवहन और संचार।
  • संसाधन: प्राकृतिक और मानव।
  • कृषि।
  • सामाजिक और राजनीतिक जीवन –
  • विविधता।
  • सरकार।
  • स्थानीय सरकार।
  • लोकतंत्र।
  • राज्य सरकार।
  • मीडिया के कार्य।
  • संविधान।
  • संसदीय सरकार।
  • न्यायपालिका।
  • सामाजिक न्याय और सीमांत राज्य आदि।

शैक्षणिक मुद्दे

  • सामाजिक विज्ञान / सामाजिक अध्ययन की अवधारणा और प्रकृति।
  • गतिविधियाँ और प्रवचन।
  • गंभीर सोच विकसित करना।
  • पूछताछ / अनुभवजन्य साक्ष्य।
  • सामाजिक विज्ञान / सामाजिक अध्ययन सिखाने की समस्याएँ।
  • स्रोत – प्राथमिक और माध्यमिक परियोजनाएँ, कार्य, मूल्यांकन आदि।

BIHAR TET SYLLABUS PDF DOWNLOAD HINDI : क्लिक करें

यदि आपको बिहार के टीईटी परीक्षा का सिलेबस डाउनलोड करना है तो आप उसके आधिकारिक वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं।

उम्मीदवारों को प्रवेश परीक्षा में अच्छे अंक लाने के लिए दिए गए बिहार टीईटी सिलेबस 2021 से तैयारी करनी चाहिए। इसके अलावा, आप अधिक अपडेट के लिए SARKARIALERT.NET के इस पेज को बुकमार्क कर सकते हैं।

Bihar TET Syllabus 2021 – कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न

क्या बिहार टीईटी एग्जाम में नेगेटिव मार्किंग का प्रावधान है?

नहीं, बिहार टीईटी एग्जाम में कोई नकारात्मक अंकन का प्रावधान नहीं है। इसका अर्थ है कि परीक्षा में गलत उत्तर के लिए उम्मीदवारों को शून्य अंक दिए जाते हैं।

बिहार BTET शिक्षक पात्रता परीक्षा में किस प्रकार के प्रश्न पूछे जाएंगे?

इस परीक्षा में बहुविकल्पीय प्रकार के प्रश्न पूछे जाएंगे।

Bihar Teacher Exam BTET के परीक्षा में कितना समय दिया जाता है?

इस परीक्षा में कुल 2 घण्टे 30 मिनट का समय दिया जाता है, कुल 150 मिनट समय दिया जाता है।


शेयर करें :